स्कूल - स्किल -स्टार्टअप शिक्षा का 3S विजन

Kota News - बजट में स्कूल से लेकर हायर व टेक्निकल एजुकेशन तक कई उपयोगी घोषणाएं हुई मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का शिक्षा को...

Feb 21, 2020, 09:55 AM IST
बजट में स्कूल से लेकर हायर व टेक्निकल एजुकेशन तक कई उपयोगी घोषणाएं हुई

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का शिक्षा को लेकर विजन 3एस पर केंद्रित रहा। उन्होंने स्कूल्स के साथ ही युवाओं के लिए स्किल्स और स्टार्टअप से जुड़ी कई घोषणाएं की। बजट में शिक्षा के सभी विभागों के लिए 39 हजार 524 करोड़ 27 लाख रुपए का प्रावधान किया गया है। पुरानी घोषणाओं को आगे बढ़ाने के साथ नई भर्तियों और तकनीकी शिक्षा से जुड़े महत्वपूर्ण एलान किए गए। अब सरकारी स्कूलों में पढ़ाई के लिए फाइव डे वीक होगा। इसके लिए हर शनिवार को स्कूलों में नो बैग डे मनाने का एलान किया गया है। यानि इस दिन बच्चों को स्कूल में बस्ते का बोझ नहीं उठाना पड़ेगा। छात्रों की रुचि के अनुसार सांस्कृतिक गतिविधियां व खेलकूद प्रतिस्पर्धाओं का आयोजन होगा। टेक्निकल एजुकेशन में अब आरटीयू व बीटीयू के बाद सरकार जोधपुर के एमबीएम इंजीनियरिंग काॅलेज में भी विश्वविद्यालय स्तर की सुविधाएं देगी।

स्टार्टअप प्लेटफॉर्म आई स्टार्ट आंत्रप्रेन्योरशिप को बढ़ाने के लिए 75 संस्थानों के साथ टाई अप करेगा। इसकी मदद से नए स्टार्टअप्स आईआईटी जाेधपुर, बिट्स पिलानी, एमएनआईटी जयपुर व एम्स जोधपुर का सपोर्ट ले पाएंगे। राजस्थान स्टार्ट अप्स की सफलता के लिहाज से देश में श्रेष्ठ बन सकता है।

आरटीई नियमों के तहत निर्धारित मापदंडों के अनुसार नए स्कूल खोले जाएंगे। आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस लैब की स्थापना होगी।

अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी तैयार करने के लिए संविदा पर विभिन्न खेलों के 500 कोच लगाए जाएंगे। इस पर करीब 10 करोड़ खर्च होंगे।


प्रदेश के 229 सरकारी आईटीआई कॉलेजों में ई क्लास रूम की स्थापना की जाएगी। फिजिकल टू डिजिटल सिस्टम की ओर ले जाया जाएगा।


कॉलेज छात्रों को आॅफलाइन, ऑनलाइन वीडियो लेक्चर की सुविधा देने के लिए राजीव गांधी ई कंटेंट बैंक की स्थापना होगी।

11वीं के विद्यार्थियों की प्रतिभा और रुचि के अनुसार स्किल डेवलपमेंट के लिए मुख्यमंत्री कौशल मार्गदर्शन योजना शुरू होगी। 200 सीनियर सेकंडरी स्कूलों में अतिरिक्त संकाय और 300 स्कूलों में आवश्यकतानुसार अतिरिक्त विषय शुरू होंगे। इस पर 25 करोड़ खर्च होंगे। इसके लिए स्कूलों से प्रस्ताव मांगे जाएंगे।

आरएसएलडीसी व स्किल यूनिवर्सिटी की ओर से करीब 40 सेक्टर्स में दस हजार स्टूडेंट्स की स्किल्स को निखारा जाएगा। इसके लिए स्किल एन्हेसमेंट एंड एम्प्लॉयबल ट्रेनिंग (सीईईटी) शुरू किया जाएगा। 30 स्टूडेंट्स का एक बैच रहेगा। सभी काेर्सेज स्किल यूनिवर्सिटी की ओर से मान्यता प्राप्त होंगे।

3

स्टार्टअप

2

स्किल

1

स्कूल

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना