घर पर ही मिट्टी से शिव-पार्वती की मूर्तियां बनाकर करेंगे पूजा

Kota News - महिलाओं का सबसे प्रिय और पसंदीदा पर्व गणगौर अाज मनाया जाएगा। इस बार इसकी रौनक लॉकडाउन के चलते फीकी रहेगी। शायद...

Mar 27, 2020, 08:37 AM IST
Kota News - rajasthan news will worship shiva parvati idols from clay at home

महिलाओं का सबसे प्रिय और पसंदीदा पर्व गणगौर अाज मनाया जाएगा। इस बार इसकी रौनक लॉकडाउन के चलते फीकी रहेगी। शायद यह पहली बार होगा, जब महिलाएं बिना घेवर के सिंजारा मनाएंगी। लॉकडाउन के चलते शहर में सभी हलवाइयों की दुकानें बंद हैं।

जीनगर समाज ने शुक्रवार काे निकलने वाली शाेभायात्रा निरस्त कर दी है। यह शाेभायात्रा नयापुरा से लाडपुरा तक निकलती है। इसमंे समाज की महिलाएं गणगाैर काे सिर पर लेकर चलती हैं अाैर परंपारिक गीत गाती हैं। लेकिन समाज ने काेराेना के चलते इसे निरस्त कर दिया। समाज की अाेर से सबकाे हिदायत दी है कि वे गणगाैर की पूजा अपने ही घराें मंे करें।सिंजारा, िमठाइयां, गुने भी नहीं मिल रहे हैं। काेराेना के डर के मारे महिलाअाें ने घर पर भी गुने कम ही बनाए हैं। पिछले साल जहां हर चौराहे, माॅल, बाजारों पर मेहंदी लगवाने वाली महिलाओं, मेहंदी मांडने वाले डिजाइनरों से बाजार देर रात तक आबाद थे। वहीं, इस बार सूने रहेंगे।

महिलाएं घरों में ही मेहंदी लाएंगी। कोई नए कपड़े और शृंगार की सामग्री भी नहीं खरीद सकेंगी। कोरोना के डर के चलते घरों से भी रौनक गायब है। बाजाराें मंे भी पूरी तरह से सन्नाटा पसरा हुअा है ताे महिलाएं भी डरी हुई हैं। वे गणगाैर पर सजने की बजाय घराें पर ही रहकर सादगी से पूजा करेंगी। इस बार महिलाएं एक दूसरे के घर भी जाकर पूजा नहीं करेंगी। इस बार मंदिर भी बंद हाेने से वहां भी भीड़ नही लगेंगी। समाजाें ने भी अपने सारे कार्यक्रम निरस्त कर दिए हैं।

घरांे पर ही करें पूजा


पं. अमित जैन ने सलाह दी है कि यदि गणगौर की प्रतिमाएं न मिले तो घर में ही मिट्टी से स्वयं उन्हें बनाकर पूजा करें। मंदिरों में न जाएं क्याेंकि मंदिर भी बंद हैं अाैर वहां भी एक साथ एकत्रित हाेने से संक्रमण का खतरा रहेगा। गणगौर का विसर्जन तालाब के बजाय घर में ही गमले, पीपल के नीचे जल अर्पण करें। ज्वारों की विसर्जन यात्रा भी नहीं निकलेगी।

_photocaption_कपड़े, तार, लकड़ी का बुरादा, फेविकोल को मिलाकर इसे तैयार किया गया है।*photocaption*

X
Kota News - rajasthan news will worship shiva parvati idols from clay at home

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना