आप घबराएं नहीं, मेहरबानी करके घर पर रहें, पूरी सरकार आपकी खातिर अलर्ट मोड पर हैं : रघु शर्मा

Kota News - जयपुर | कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रदेश का चिकित्सा महकमा इन दिनों दिन-रात जुटा है। पल-पल की मॉनिटरिंग की जा रही...

Mar 27, 2020, 08:42 AM IST
Kota News - rajasthan news you should not panic please stay at home the whole government is on alert mode for you raghu sharma
जयपुर | कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रदेश का चिकित्सा महकमा इन दिनों दिन-रात जुटा है। पल-पल की मॉनिटरिंग की जा रही है। युद्धस्तर पर स्क्रीनिंग का काम चल रहा है। जहां से भी सूचनाएं आती हैं कि चिकित्सा विभाग के अधिकारी, कर्मचारी, डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ लैब टेक्निशियन, संविदा पर काम कर रहे लोग इन दिनों लोगों के बचाव में जुटे हैं। ऐसी ही विकट परिस्थितियों में कोरोना को लेकर लोगों के मन में कई तरह के सवाल उठ रहे होंगे। ऐसे ही सवालों के जवाब देने के लिए चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा दैनिक भास्कर कार्यालय आए। उन्होंने एक घंटे तक इम्तिनान से लोगों के सवालों को सुना, उनके जवाब दिए।


आपके सवालमंत्रीजी के जवाब

जवाब: हम इसको टूटने नहीं देंगे। जहां से भी ऐसी शिकायत आएगी, वहां राशन पहुंचे इसका पुख्ता इंतजाम कर रहे हैं।

नोखा से अंकित : हम संविदा कर्मी हैं और सरकार के साथ काम कर रहे हैं। अगर हमें कोई दिक्कत आ जाए तो सरकार क्या करेगी।

जवाब: सरकार आपके साथ है। कुछ हुआ तो सरकार विशेष ध्यान देगी और पैकेज की व्यवस्था करेगी।

पाली से नरेंद्र : हम संविदा पर काम कर रहे हैं। सरकार हमारे नियमित करने को लेकर क्या कर रही है?

जवाब: इसके लिए एक कमेटी गठित की जा चुकी है। यह कमेटी ही इस पर निर्णय करेगी।

झुंझुनूं से विनीत : 2016 एएनएम का रिजल्ट नहीं आया है। हम चाहते हैं कि जल्दी हमारी भर्ती हो ताकि हम भी सेवा कर सकें।

जवाब: इस पर सरकार काम कर रही है। जल्दी ही निर्णय ले लिया जाएगा।

जयपुर से रीमा : हम सुबह दूध लाते हैं। डर बना रहता है कि कहीं इस थैली से कोरोना वायरस आ गया तो क्या होगा?

जवाब: इससे डरने की जरूरत नहीं है। आप दूध की थैली लाकर उसको गर्म पानी से कुछ देर धो लें।

जालौर से कमलेश : जिन गरीबों के पास अकाउंट नहीं है उनको पैसे कैसे देगी

जवाब: सरकार ने पेंशन के लिए 310 करोड रुपए जारी किए हैं। जो सीधे अकाउंट में डाले जा रहे हैं। जिनके अकाउंट नहीं है। सरकार उनको नकद भुगतान करेगी।

अजमेर लाखणा से बिजेंद्र : अजमेर सिटी में लोगों के खाने का क्या प्रबंध हैं। भूखे लोगों के लिए खाना नहीं मिल रहा?

जवाब: अभी लोक डाउन किए दो-तीन दिन ही हुए हैं। सारी व्यवस्थाएं करवा रहे हैं। थोड़ा धीरज रखो। पुलिस को फोन करो-कुछ इंतजाम हो जाएगा।

मेहंदीपुरा बालाजी से कालूराम : छिड़काव केवल नगर पालिका में हो रहा है। गांवों में नहीं।

जवाब: नगरपालिकाओं को नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवालजी ने सार्वजनिक स्थानों को सेनेटाइज करने का निर्देश दिया है। मास्क की भी कोई कमी नहीं है।

जोधपुर से रमन कुमार : प्रदेश में डॉक्टरों की कमी दूर करने को सरकार क्या कर रही है?

जवाब: 735 नए डॉक्टरों को फिल्ड में लगा दिया है। तमाम डॉक्टरों को कोरोना से बचाव में ही लगाया गया है। इनको फिलहाल सीएमएचओ के अंडर में दिया गया है।

नसीराबाद से जयकुमार : नसीराबाद में फूड पैकेट सप्लाई नहीं हो रहे?

जवाब: नसीराबाद के एसडीएम की ड्यूटी लगाई है। पर्याप्त फूड पैकेट बांटे जाएंगे। पंचायतों के अंदर गरीब आदमी है। उनको प्रतिव्यक्ति 5 किलो अनाज देगी। दो महीने की पेंशन अकाउंट में दे दी है।

विजयबाड़ी से प्रदीप : अगर दूध और सब्जी के ठेले वालों को गलियों में जाने की छूट दे तो भीड़ कम हो सकती है?

जवाब: दूध वालों को और ठेले वालों को कह दिया गया है कि वे घर घर जाकर दे। ताकि कोई बाजार में नहीं आए। इसकी हम रोज मॉनिटरिंग कर रहे हैं। जो परेशानी आती है। उसके हिसाब से समाधान खोज लिया जाता है।

राजसमंद से पवन : राजसमंद में डॉक्टरों की कमी कब पूरी होगी?

जवाब: राजसमंद में कल ही नए डॉक्टरों की भर्ती की है। दो हजार डाक्टरों की और भर्ती करेंगे। डॉक्टरों की कोई कमी नहीं है।

उदयपुर से रामकिशोर : गुजरात से बड़ी संख्या में लोग आ रहे हैं। सरकार क्या कर रही है?

जवाब: यह बड़ी समस्या है। गुजरात में जो लोग प्राइवेट नौकरी करते थे। वे पैदल आ रही है। गुजरात सरकार उनको ट्रांसपोर्टेशन भी नहीं दे रही। हम इनकी स्क्रीनिंग कर रहे हैं और भोजन दे रहे हैं। हमने ट्रांसपोर्टेशन की सुविधा उपलब्ध कराई है। ताकि लोग अपने गांव जा सके।

शाहपुरा जयपुर से प्रमोद : गांवों में इन दिनों बाहर से लोग आ रहे हैं। इनकी पहचान कैसे होगी?

जवाब: एसडीएम स्तर पर कंट्रोल रूम बनाया गया है। सरपंच, वार्ड पंच और वहां के लोकल मीडिया कर्मियों को कहा गया है कि वे गांवों में नए आने वाले व्यक्तियों की पहचान करें और कंट्रोल रूम को सूचित करें।

बीकानेर से अजय : सर मैं आपको कोरोना से बचाव की एक दवाई बताना चाहता हूं?

जवाब: मेडिकल साइंस के एक्सपर्ट के मुताबिक अभी इसकी कोई दवा नहीं है। डब्ल्यूएचओ के पास भी कोई दवा नहीं है। इसलिए मेरा आपसे हाथ जोड़कर मेरा निवेदन है कि दवा बताने का जो हमारे देश का कल्चर बन गया है। इसको रोक दो।

मुरलीपुरा से भंवर : सर प्रदेश में फूड चेन सप्लाई टूट रही है। आगे क्या होगा?

जवाब: फूड चैन सप्लाई बाधित नहीं होगी। पुलिस और रसद विभाग के अधिकारियों को इसके निर्देश दे दिए गए हैं।

झुंझुनूं से संजय : मुझे खांसी जुकाम है तो क्या कोरोना हो सकता है?

जवाब: कोरोना के कुछ सिम्पटम्स है जैसे सूखी खांसी, तेज बुखार। वह नजर आए तभी डॉक्टर को दिखाओ। सामान्य खांसी जुकाम कोरोना नहीं है।

जोधपुर से वीसी सिंह : सरकार इस महीने रिटायर होने वाले डॉक्टरों को एक्सटेंशन देकर डाक्टरों की कमी होने से बचाया जा सकता है?

जवाब: हां इस पर विचार कर रहे हैं कि रिटायर होने वाले डॉक्टर और अन्य कर्मियों को पे माइन पेंशन पर रख लिया जाए।

जयपुर से धर्मेंद्र : एन-95 मास्क की कब जरूरत पड़ती है। इसकी क्या कमी चल रही है।

जवाब: मेडिकल कॉलेज से जुडे़ अस्पताल या जिला अस्पताल है। वहां एन-95 मास्क की जरूरत पड़ती है। मास्क की कोई कमी नहीं है। सीएमएचओ मास्क पहुंचा देंगे।

भरतपुर से राजेश : आइसोलेशन की हमें कितनी जरूरत है?

जवाब: आइसोलेशन को लेकर डॉक्टर निर्णय कर लेंगे। पूरा महकमा अलर्ट मोड पर है। आप मेहरबानी करके घर पर रहे। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री ने जो फैसला किया है। उसका पालन करे। हम हमारा कर्त्तव्य पूरा कर रहे हैं।

अजमेर से मदनलाल : सरकार कोरोना से जागरूकता के लिए क्या कर रही है?

जवाब: जागरूकता सरकार अपने स्तर पर खूब कर रही है। जागरुकता हर व्यक्ति में आनी चाहिए। अगर लोग जागरुक नहीं होंगे तो कैसे बचेंगे। पंचायत के सरपंच, वार्ड पंच और नगरपालिकाओं के पार्षद, पार्टियों के प्रतिनिधियों को जागरुकता के लिए हमारा एंबेसेडर बनना चाहिए।

चित्तौड़गढ़ से प्रतीक वैष्णव : चित्तौडगढ़ में ना आइसोलेशन वार्ड है और ना ही पर्याप्त डॉक्टर?

जवाब: आइसोलेशन के पर्याप्त वार्ड हैं। कल ही 735 डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई है। उनको सीएमएचओ के अंडर में रखा है। चित्तौडगढ़ में भी लगाए हैं। उनके पास पूरी लिस्ट है।

दौसा से कोमल शर्मा- दिहाड़ी मजदूर, श्रमिक भूखे हैं, उनको भोजन के लिए सरकार क्या इंतजाम कर रही है?

जवाब: कई ट्रस्ट खाने के इंतजाम कर रहे हैं। जनता भी अपने पास कोई ऐसा हो तो खाने का इंतजाम कर सकती है। सरकार ने एक दिन पहले ही सभी मजदूरों के खातों में पैसे डाल दिए हैं। जिनके पास खाते नहीं है। उन्हें कलेक्टराें काे नगद रकम देने के लिए अादेश दिया गया है।

सरदारशहर से मधु : हमारे कस्बे में कोलकाता से कुछ लोग कल ही आए हैं। उनके संक्रमण का खतरा है, खुलेआम बाहर घूम रहे हैं? किसको कहें?

जवाब: मैं अभी सरदारशहर एसडीएम और सीएमएचओ को फोन करता हूं। बाहर घूम नहीं सकते। घर पर ही रहने नियम है। ऐसे लोगों की जांच करवाते हैं। आप भी कोई ऐसा हो तो एसडीएम या स्थानीय पुलिस को फोन कर सकते हैं।

जयपुर से दिनेश सिंघल : मुझे मास्क की कब जरूरत पड़ती है। अगर मैं नहीं लगाऊं तो क्या होगा?

जवाब: मैं आपको एक बात स्पष्ट कर दूं। यह वायरस सरफेस के माध्यम से फैलता है। छींकने से जो लिक्विड निकलता है। उसके जरिए फैलता है। इससे बचने के लिए मास्क लगाने की जरूरत है। वर्तमान में बार बार हाथ धोना और एक मीटर की दूरी बनाना बहुत जरुरी है।

जहाजपुर भीलवाड़ा से पवन पंचौली : हमारे यहां डाक्टर ही नहीं है। कोरोना का इलाज कौन करेगा?

जवाब: हमने आपके वहां कल ही 30 डाक्टर भेज दिए हैं। आप चिंता मत करो। जल्द और डाक्टर नियुक्त करेंगे। भीलवाड़ा में हालात काबू में हैं।

भीलवाड़ा से कैलाश: भीलवाड़ा के बांगड़ अस्पताल के डाक्टर ने ओपीडी चालू रखी और लोग संक्रमित होते गए। आपने क्या कार्रवाई की?

जवाब: हमने सब पता करवा लिया। जिसने गलती की है, उसके खिलाफ जरूर कार्रवाई होगी। कोरोना नियंत्रण में रहे, इसके लिए युद्ध स्तर पर काम कर रहे हैं।

बिलाड़ा से दिनेश : एन-95 मास्क और पीपीई किट ही नहीं है। आप कैसे कोरोना पर काबू पाओगे। जोधपुर में इतना संक्रमण फैल रहा है?

जवाब: तुरंत पीआरओ को कहा- जोधपुर सीएमएचओ को बोलो बिलाड़ा और जहां जहां मास्क नहीं है। वहां सप्लाई करें। इसके साथ ही सवाल कर्ता को कहा कि आपकी मांग की पूर्ति आज ही कर दी जाएगी।

बारां से राकेश : अगर कोई संक्रमित लगे तो हम कहां सूचित करें?

जवाब: राज्य सरकार ने कंट्रोल रूम 104 और 108 बना रखा है। यहां बता दो कि कोई संक्रमित है क्या। यह अस्पताल तय करता है कि किसको आइसोलेटेड किया गया है। हर खांसी जुकाम वाला आदमी संक्रमित नहीं है।

भीलवाड़ा से कृष्ण कुमार : 108 सेवा में किट उपलब्ध नहीं है। इससे परेशानियां आ रही हैं?

जवाब: संबंधित अफसरों को निर्देश दिए हैं। 108 सहित प्रदेश के सभी इलाकों में कोरोना किट उपलब्ध कराए जाएंगे।

कोटा से अंकुश : हॉस्टल में खाना नहीं मिल रहा, जबकि कलेक्टर ने इनको बंद नहीं करने को कहा है।

जवाब: आप वहां के कंट्रोल रूप में फोन करे। सरकार सभी को खाना उपलब्ध कराएगी। किसी को भूखे नहीं सोने देगी।

अजमेर से एपी माथुर : खाने की सप्लाई की चेन टूट रही है। क्या सरकार मोबाइल वैन चलाएगी।

जवाब: हम इसको टूटने नहीं देंगे। जहां से भी ऐसी शिकायत आएगी, वहां राशन पहुंचे इसका पुख्ता इंतजाम कर रहे हैं।

चिकित्सा मंत्री
रघु शर्मा


कोरोना से जुड़े सवाल... भास्कर कार्यालय में चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने दिए जवाब

X
Kota News - rajasthan news you should not panic please stay at home the whole government is on alert mode for you raghu sharma

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना