अवैध संबंधों की राह में रोड़ा बन गया था युवक, दाेस्तों ने स्मैक पिलाकर की थी हत्या

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बदमाश चाहे जितना चालक क्यों न हो अगर पुलिस ठान ले तो उसे सलाखों तक पहुंचाने से कोई नहीं रोक सकता। रेलवे कॉलोनी के ब्लाइंड मर्डर का पर्दाफाश करके कोटा पुलिस ने इसका बेहतरीन उदाहरण पेश किया है। गुना, मध्यप्रदेश के एक बदमाश ने दोस्त की प|ी से अवैध संबंधों के चलते दोस्त की हत्या कर दी। हत्या कोटा लाकर स्मैक पिलाकर की, चेहरा कुचला ताकि कोई उसकी पहचान नहीं कर सके। राज्य बदलकर वारदात की क्योंकि मध्यप्रदेश में उसे सब पहचान लेते। लेकिन, पुलिस ने ट्रेडिशनल पुलिसिंग और सोशल मीडिया की मदद से बदमाशों को बेन काब करके दो जनों को गिरफ्तार कर लिया।

एसपी दीपक भार्गव ने बताया कि 25 जून को रेलवे कॉलोनी में एक शव मिला, जिसकी पहचान करना चुनौती था। मामले में शव और हत्यारे दोनों ब्लाइंड थे। पेंट पर लगे गुना के टेलर के लेबल काे सबूत बनाकर पुलिस गुना पहुंच गई, लेकिन टेलर ने 3 साल पहले सिली हुई पेंट के मालिक को पहचानने से इनकार कर दिया। पुलिस ने सोश्यल मीडिया की मदद से मृतक के फोटो को गुना में वायरल करवाया, जिससे उसके परिजन खुद सामने आ गए। पहचान शहीद पुत्र रमजान के रूप में हुई। जिस पर करीब 9-10 मुकदमे दर्ज थे और वो कुछ समय पूर्व 10 माह जेल काटकर छूटा था। भार्गव ने बताया कि शहीद और उसका दोस्त रामसिंह उर्फ रामू दोनों स्मैक का धंधा करते थे। मृतक शहीद 10 माह जेल गया तो इसी दौरान उसकी प|ी से रामू के अवैध संबंध बन गए। लेकिन, जब से शहीद जेल से छूटा तो वो इसे खटकने लगा। रामू को दोस्त की प|ी से मिलने जुलने में परेशानी हुई तो उसने अपने साथी के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी।

गुना से कोटा लाए, गला घोंटा, चेहरा कुचला
रामू ने पूरी प्लानिंग से मर्डर किया। रामू अपने साथी राजा खान के साथ मिलकर शहीद को स्मैक पिलाने का लालच देकर कोटा लाया। 24 जून को शाम 7 बजे कोटा के प्लेटफॉर्म नम्बर 4 पर उतरे और पटरियों पर सुनसान जगह देखकर शहीद को स्मैक का भारी नशा करवाया और जब शहीद स्मैक पीने के बाद बेहोश सा हो गया तो दोनों ने मिलकर शहीद का गला दबाकर उसकी हत्या कर शव को पटरियों पर फेंक दिया। उसका चेहरा कुचला और पैर भी बांध दिए।

हत्या के आरोपी

खबरें और भी हैं...