दिवाली के दिन 3 सगे भाइयों की दर्दनाक मौत, गाड़ी धोने के लिए गए थे तभी हो गया ये खौपनाक हादसा, तीनों पिता अच्छे से सभांल रहे थे कारोबार / दिवाली के दिन 3 सगे भाइयों की दर्दनाक मौत, गाड़ी धोने के लिए गए थे तभी हो गया ये खौपनाक हादसा, तीनों पिता अच्छे से सभांल रहे थे कारोबार

रेस्क्यू टीम एक सदस्य ने अफसरों और राजनेताओं के लिए लिखा एक खुला पत्र-मुझे 101 डिग्री बुखार और 170 बीपी, लेकिन में मदद क

Bhaskar News

Nov 10, 2018, 09:18 AM IST
three brothers drowned to death in jawla of kota in rajasthan

कोटा (राजस्थान)। दिवाली पर हुए हादसे में तीन सगे भाइयों की नहर में डूबने से मौत हो गई। हादसा बालिता कैनाल रोड से गुजर रही बाईं मुख्य नहर पर हुआ। गोताखोरों ने सर्च ऑपरेशन चलाकर कई घंटे बाद दो भाइयों के शव निकाले। तीसरे भाई का शव गुरुवार को मिला। जानकारी के मुताबिक बापू नगर के गोरी आश्रम के पास रहने वाले सगे भाइयों त्रिलोक, गोविंद और युवराज ने कुछ समय पहले एक गाड़ी खरीदी थी। तीनों बुधवार को गाड़ी धोने के लिए बाईं नहर पर गए थे। इसी दौरान बड़ा भाई त्रिलोक नहर में नहाने लगा। तेज बहाव के चलते वह डूबने लगा।

बचाने के लिए कूदे दोनों भाई, तीनों डूबे


भाई त्रिलोक को डूबते देख गोविंद और युवराज उसे बचाने के लिए पानी में कूद गए। पानी का बहाव तेज होने के कारण तीनों पानी में डूब गए। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार- उन्होंने तैरने की काफी कोशिश की, लेकिन पानी के तेज बहाव के चलते वह किनारे तक नहीं आ सके। सूचना पर नगर-निगम का रेस्क्यू दल मौके पर पहुंचा और तीनों की तलाश शुरू की। हालांकि तीनों के शव ही मिले।


बहाव क्षेत्र में घाट बना रखे हैं, जो कि मौत को खुला निमंत्रण दे रहे हैं कि आओ नहाओ और बह जाओ?


नहरें सीमेंटेड हो गई हैं जिससे कोई अच्छा तैराक भी नहीं निकल सकता। यहां तक कि हमारे गोताखोर भी इन नहरों में रस्सी की सहायता से निकल पाते हैं। किसी भी जगह चेतावनी बोर्ड नहीं लगे हैं। नहरें बिना बैरिकेडिंग के खुले में बह रही हैं।

X
three brothers drowned to death in jawla of kota in rajasthan
COMMENT