--Advertisement--

दिवाली के दिन 3 सगे भाइयों की दर्दनाक मौत, नहर में नहाने उतरा बड़ा भाई डूबने लगा तो उसे बचाने कूद गए दोनों भाई लेकिन कोई जिंदा न बचा

बचाने के लिए कूदे दोनों भाई, तीनों डूबे।

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 02:11 PM IST

कोटा (राजस्थान)। दिवाली पर हुए हादसे में तीन सगे भाइयों की नहर में डूबने से मौत हो गई। हादसा बालिता कैनाल रोड से गुजर रही बाईं मुख्य नहर पर हुआ। गोताखोरों ने सर्च ऑपरेशन चलाकर कई घंटे बाद दो भाइयों के शव निकाले। तीसरे भाई का शव गुरुवार को मिला। जानकारी के मुताबिक बापू नगर के गोरी आश्रम के पास रहने वाले सगे भाइयों त्रिलोक, गोविंद और युवराज ने कुछ समय पहले एक गाड़ी खरीदी थी। तीनों बुधवार को गाड़ी धोने के लिए बाईं नहर पर गए थे। इसी दौरान बड़ा भाई त्रिलोक नहर में नहाने लगा। तेज बहाव के चलते वह डूबने लगा।

बचाने के लिए कूदे दोनों भाई, तीनों डूबे


भाई त्रिलोक को डूबते देख गोविंद और युवराज उसे बचाने के लिए पानी में कूद गए। पानी का बहाव तेज होने के कारण तीनों पानी में डूब गए। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार- उन्होंने तैरने की काफी कोशिश की, लेकिन पानी के तेज बहाव के चलते वह किनारे तक नहीं आ सके। सूचना पर नगर-निगम का रेस्क्यू दल मौके पर पहुंचा और तीनों की तलाश शुरू की। हालांकि तीनों के शव ही मिले।


बहाव क्षेत्र में घाट बना रखे हैं, जो कि मौत को खुला निमंत्रण दे रहे हैं कि आओ नहाओ और बह जाओ?


नहरें सीमेंटेड हो गई हैं जिससे कोई अच्छा तैराक भी नहीं निकल सकता। यहां तक कि हमारे गोताखोर भी इन नहरों में रस्सी की सहायता से निकल पाते हैं। किसी भी जगह चेतावनी बोर्ड नहीं लगे हैं। नहरें बिना बैरिकेडिंग के खुले में बह रही हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended