• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kotari
  • यूपी से मंगवाई 16 ट्रक सिरकी घास से 29241 वर्गफीट में यज्ञशाला का निर्माण किया, ताकि गर्मी और हवनकुंड की आग में भी रहे ठंडी
--Advertisement--

यूपी से मंगवाई 16 ट्रक सिरकी घास से 29241 वर्गफीट में यज्ञशाला का निर्माण किया, ताकि गर्मी और हवनकुंड की आग में भी रहे ठंडी

Dainik Bhaskar

May 07, 2018, 04:55 AM IST

Kotari News - भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा कोटड़ी के चारभुजानाथ मंदिर परिसर में नौ दिवसीय विष्णु महायज्ञ के लिए विशाल...

यूपी से मंगवाई 16 ट्रक सिरकी घास से 29241 वर्गफीट में यज्ञशाला का निर्माण किया, ताकि गर्मी और हवनकुंड की आग में भी रहे ठंडी
भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा

कोटड़ी के चारभुजानाथ मंदिर परिसर में नौ दिवसीय विष्णु महायज्ञ के लिए विशाल यज्ञशाला का निर्माण किया गया है। नौ मंजिला यज्ञ शाला के निर्माण में उत्तरप्रदेश के मथुरा व बांदा जिले से मंगवाई गई सिरकी घास का उपयोग किया गया है। पौराणिक महत्व की इस घास के बने आश्रम-गुरुकुलों में ही ऋषि मुनि रहा करते थे। बताते हैं कि यह घास मौसम के अनुकूल यानि गर्मी में ठंडी और सर्दी के दिनों में गर्म रहती है।

आयोजन कमेटी के कोषाध्यक्ष छोगालाल गुर्जर ने बताया कि 171 गुणा 171 फीट यानि कुल 29241 वर्गफीट में यज्ञशाला बनवाई गई है। इसमें प्रधान कुंड सहित 108 वेदियां हैं। यज्ञशाला के चारों द्वार वेदों का जबकि प्रधान कुंड के चारों स्तंभ प्रमुख देवताओं के सूचक हैं। यज्ञशाला के निर्माण में 4 हजार बांस का उपयोग हुआ है। सिरकी-सरकंडा घास के व्यापारी एवं डेकोरेटर जगदीशचंद्र ने बताया कि एक ट्रक सूत व सन की रस्सियां मंगवाई गईं थीं। सिरकी घास उत्तरप्रदेश के मथुरा, बांदा जिलों से मंगवाई गई थी। बांस और घास के ही करीब 25 ट्रक आए थे।

कोटड़ी. चारभुजानाथ मंदिर परिसर में बनाया यज्ञ मंडप।

X
यूपी से मंगवाई 16 ट्रक सिरकी घास से 29241 वर्गफीट में यज्ञशाला का निर्माण किया, ताकि गर्मी और हवनकुंड की आग में भी रहे ठंडी
Astrology

Recommended

Click to listen..