Hindi News »Rajasthan »Kotputli» शाहपुरा में भारत बंद का मिलाजुला असर, हर जगह रैलियां

शाहपुरा में भारत बंद का मिलाजुला असर, हर जगह रैलियां

शाहपुरा | एससी/एसटी एक्ट में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा 21 मार्च को किए गए बदलाव के खिलाफ केन्द्र सरकार से पुनर्विचार...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 03, 2018, 02:50 AM IST

शाहपुरा | एससी/एसटी एक्ट में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा 21 मार्च को किए गए बदलाव के खिलाफ केन्द्र सरकार से पुनर्विचार याचिका दायर करवाने की मांग को लेकर सोमवार को शहर के चौपड़ बाजार से लेकर एसडीएम कार्यालय तक दलित समाज के लोगों ने डॉ.भीमराव अंबेडकर जयंती समारोह समिति के बैनर तले भारत बंद के तहत रैली निकाली। इसमें लोग जय भीम के नारे लगाते हुए चल रहे थे। हालांकि छिटपुट घटनाओं को छोड़कर भारतबंद शांतिपूर्वक रहा। जिधर से रैली गुजरी दुकानदारों ने एससी/एसटी वर्ग के लोगों के आग्रह पर अपनी दुकानों को बंद कर दिया। रैली में आसपास के गांवों से हजारों लोगों ने भाग लिया। शांति व्यवस्था को लेकर पुलिस चप्पे चप्पे पर तैनात रही। रैली से पहले चौपड़ बाजार में एससी/एसटी के लोग एकत्र हुए यहां से निर्धारित 9 बजे रवाना हुए। एसडीएम कार्यालय में पहुंचकर एसडीएम रवि विजय को राष्ट्रपति के नाम 40 पेज का ज्ञापन दिया। बिदारा मोड़ से भारत बंद रैली के समर्थन में अखिल अनुसूचित जाति समन्वय परिषद के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने हाइवे होते हुए मुख्य रैली तक वाहन व पैदल रैली निकाली। लोग जय भीम के नारे लगाते हुए चल रहे थे। वाहन रैली मुख्य रैली में मंडी तिराहे पर आकर सम्मलित हो गई।

दलित संगठनों ने बाजार कराए बंद

विराटनगर | कस्बे में गणेशजी रोड पर सभा हुई। इसके बाद रैली निकालते हुए राष्ट्रपति के नाम पर एसडीएम को ज्ञापन दिया। दलित संगठनों ने बाजार भी बंद कराए। वक्ताओं ने कहा कि किसी भी सूरत में आरक्षण से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कोर्ट के फैसले से दलित समाज में आक्रोश है। कोर्ट में एक्ट में संशोधन कर समाज के साथ अन्याय किया। सभा के बाद रैली के रूप में गणेशजी रोड होते हुए बस स्टैंड पहुंचे। व्यापारियों से दुकानें बंद करने का आह्रान किया।

विराटनगर. भारत बंद रैली के दौरान उमड़ी भीड़।

भाबरू . रैली को संबोधित करते हुए सेवानिवृत्त डीजीपी मीणा।

गठवाड़ी| कस्बे के जयपुर बस स्टैण्ड से सरपंच, रामधन बेनीवाल, हरिसिंह बागड़ी, रामकुमार मीणा, कैलाशचन्द मीना आदि ने बाजार बंद करवाने के दौरान शांति बनाए रखने की अपील की।

आंधी| शांतिपूर्वक रैली निकाली। थानाधिकारी अनिल सिंह शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए चौकस रहे। दो दर्जन गांवों के युवाओं ने रैली निकाली।

रायसर. कस्बे के बांकी माता दरवाजे से रैली निकाली गई। इस मुद्दे पर समाज ने जल्द बैठक करने का निर्णय किया। दुकानदारों ने बंद का समर्थन करते हुए अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। प्रहलाद खजोतियां, रामनारायण मीणा, जयराम मीणा, बद्री नारायण मीणा, रामकिशोर आदि मौजूद थे।

पावटा ग्रामीण/मैड़| दलित समाज ने बाजार बंद कराए और रैली निकाली। मैड़ में रैली प्रधान शिम्भूदयाल चांदोलिया की देखरेख में निकली। लोग नारे लगाते हुए चल रहे थे।

शाहपुरा में भारत बंद रैली निकालते एससी एसटी वर्ग के लोग

मनोहरपुर. कस्बे से जुलूस निकालते एस सी एसटी समाज के लोग।

भारत बंद के समर्थन में भीम आर्मी ने निकाली रैली

नारहेड़ा ग्रामीण . ग्राम चुरी व कायमपुरा बास में शिवसेना के तहसील संयोजक मनोज माण्डैया के नेतृत्व में भारत बंद के समर्थन में भीम आर्मी के सदस्यों ने रैली निकालते हुए कोटपूतली पहुंचे। सन्नी, योगेन्द्र, दीपु, किरोडी, अमित वर्मा, सतीश, ईश्वर, अक्षय, प्रमोद, प्रवीण, जयराम, जयसिंह, जितेन्द्र, नवरंग आदि मौजूद थे।

फालियावास| एक और जहां उपखण्ड क्षेत्र में एससी एसटी वर्ग के लोगों ने आक्रामक प्रदर्शन किया वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में इन सब से अनजान ग्रामीण किसानों ने खेती का काम निपटाया।

जमवारामगढ़| दलित संगठनों ने आक्रोशित रैली निकाली। उन्होंने पुलिस व प्रशासन की मौजूदगी में बल पूर्वक दुकानें बंद करवाई। दुकान मालिकों ने वापस दुकानें खोल ली। कुछ ने आंदोलनकारियों का विरोध भी किया। आंदोलनकारियों ने बस स्टैंड पर अशोक किराना स्टोर का सामान तक बाहर फेंकने का प्रयास किया। लगभग एक घंटे तक आंदोलनकारियों ने दुकान के सामने हंगामा किया। तहसीलदार ज्ञानचंद जैमन व पुलिस ने बड़ी मशक्कत के बाद आंदोलनकारियों को खदेड़ा। बार अध्यक्ष एडवोकेट रामकरण शर्मा के कार्यालय को बंद करवाने में आंदोलनकारियों से कहासुनी हुई। पंचायत समिति की दुकानों में सुरज्ञान गुर्जर व कजोड़ गुर्जर सहित कई दुकान मालिकों ने दुकान बंद करवाने का विरोध किया। आंदोलनकारियों ने राष्ट्रपति के नाम एसडीएम कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन दिया। थाना प्रभारी कैलाश शर्मा ने पूरी रैली की वीडियोग्राफी की। कस्बे में एसटी- एससी के अधिकांश दुकानदारों ने अपनी दुकानें पूरे दिन बंद रखी। एसटी- एससी वर्ग के अधिकांश सरकारी कर्मचारियों ने अवकाश पर रह कर आंदोलन में सहयोग किया। विकास अधिकारी राजेश मीना व एसडीएम नरेन्द्र मीना भी अवकाश पर रहे।

जमवारामगढ ग्रामीण| जमवारामगढ़ में भारत बंद शांतिपूर्वक सफल रहा। हजारों दलितों ने सड़क पर उतर कर पूरे क्षेत्र में रैली निकाली। आसपास के गांवों से भी दलितों ने इस आन्दोलन में भाग लिया। अपराह्न में सभी लोगों ने मिलकर एसडीएम जमवारामगढ़ को ज्ञापन देकर इस अधिनियम पर पुनःविचार करने की अपील की।

बस्सी चक। एकता मंच के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता रैली के रूप में एसडीएम कार्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन की प्रति तहसीलदार राजेश मीणा को सौंपी।

बस्सी में व्यापारियों को समझाते एसएचओ

अमरसर में नायब तहसीलदार को ज्ञापन

कानोता में बन्द कराते युवा

कानोता| कई दलित संगठनों के आह्वान पर प्रदर्शनकारियों ने बाजार को बन्द कराया। एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के लिए भारत बंद को कानोता के कुछ व्यापारियों ने तो अपने प्रतिष्ठान खुले रखे और कुछ ने दबाव में आकर प्रतिष्ठानों को दोपहर तक बंद रखा। नायला में अधिकतर सभी प्रतिष्ठान बंद रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kotputli

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×