--Advertisement--

एक्सईएन कार्यालय में बनेगा कंट्रोल रूम

क्षेत्र में बिजली संबंधी शिकायत जल्द ही स्थानीय स्तर पर भी दर्ज करा सकेंगे। इसके लिए जयपुर डिस्कॉम द्वारा निगम के...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:40 AM IST
क्षेत्र में बिजली संबंधी शिकायत जल्द ही स्थानीय स्तर पर भी दर्ज करा सकेंगे। इसके लिए जयपुर डिस्कॉम द्वारा निगम के डिविजन स्तर पर कंट्रोल रूम बनाए जाएंगे। इन पर 24 घंटे कर्मचारी तैनात रहेंगे। स्थानीय स्तर पर बिजली की शिकायत होने के बाद जल्द निराकरण हा़े सकेगा। अभी उपभोक्ताओं को जयपुर टोल फ्री नंबर पर शिकायत दर्ज करानी पड़ती है। कंट्रोल रूम में अलग से टेलीफोन नंबर रहेगा। इसके लिए निगम ने एक कंपनी से अनुबंध किया है। कंपनी की और से कंट्रोल रूम पर 24 घंटे कर्मचारी तैनात किए जाएंगे। इसमें दिन में दो व रात को एक कर्मचारी रहेगा। कंट्रोल रूम पर बिजली की शिकायत आने पर संबंधित एईएन, जेईएन व एफ आरटी को सूचना दी जाएगी। इस पर एफ आरटी द्वारा तुरंत मौके पर पहुंचकर शिकायत का निराकरण किया जाएगा। अभी बिजली संबंधी शिकायत जयपुर में टोल फ्री नंबर पर दर्ज करानी पड़ रही है। इससे शिकायत के निराकरण में समय अधिक लगता है।

बिजली बंद रहने पर उपभोक्ता के मोबाइल पर आएगा मैसेज कि कितनी देर में दूर होगी समस्या

कितनी देर में होगा समाधान, मिलेगा मैसेज

बिजली सप्लाई में व्यवधान आने पर लोग कंट्रोल रूम में शिकायत दर्ज करा सकेंगे। इसके बाद कंट्रोल रूम से शिकायत करने वाले उपभोक्ता के पास मोबाइल पर मैसेज आएगा, जिसमे बिजली सप्लाई में व्यवधान का कारण तथा कितनी देर में समस्या का समाधान हो सकेगा। इसके बारे में जानकारी दी जाएगी। इससे लोगो को बार बार फोन नहीं करना पड़ेगा। अब तक बिजली बंद होने पर लोग बार बार फोन करते है।

अभी यह व्यवस्था : जयपुर में करनी पड़ती है शिकायत- अभी बिजली बंद रखने या अन्य शिकायत के लिए जयपुर में टोल फ्री नंबर पर शिकायत दर्ज करानी पड़ रही है। इसके बाद जयपुर से संबंधित एईएन कार्यालय की टीम के पास सूचना भेजी जाती है। इस पर टीम संबंधित कॉलोनी या क्षेत्र की जानकारी लेकर मौके पर पहुंचती है। कई बार पता सही नहीं मिलने पर टीम को पहुंचने मे समय लगता है। इससे समस्या का समाधान देरी से हो पाता है।

एफ आरटी को दी जाएगी सूचना : इस संबंध में बिजली निगम के एक्सईएन बीएल मीणा का कहना है कि स्थानीय स्तर पर कंट्रोल रूम स्थापित होने के बाद लोग बिजली संबंधी की शिकायत दर्ज करा सकेंगे। इससे संबंधित एफ आरटी को सूचना दी जा सकेगी। वहीं समस्या का निराकरण भी जल्द हो सकेगा। मोबाइल पर मैसेज आने से जानकारी भी मिल सकेगी।