• Home
  • Rajasthan News
  • Kotputli News
  • Kotputali - जूनियर एडिटर की प्रतियां मिलते ही बालकों के चेहरे खिल उठे
--Advertisement--

जूनियर एडिटर की प्रतियां मिलते ही बालकों के चेहरे खिल उठे

आंधी| भामाशाह गंगासहाय मीणा ने मंगलवार को राजकीय सीनियर माध्यमिक विद्यालय वीरासणा में विद्यार्थियों को दैनिक...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 03:06 AM IST
आंधी| भामाशाह गंगासहाय मीणा ने मंगलवार को राजकीय सीनियर माध्यमिक विद्यालय वीरासणा में विद्यार्थियों को दैनिक भास्कर की जूनियर एडिटर की प्रतियां वितरित की। प्रतियां मिलते ही विद्यार्थियों के चेहरे खिल उठे। भामाशाह की ओर से प्रतियां बांटे जाने की सूचना पर वहां लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। ग्रामीणों ने भामाशाह का राजस्थानी परम्परा के अनुसार साफा व माला पहनाकर स्वागत किया। समारोह में मुख्य अतिथि मीणा ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में समय-समय पर भास्कर की ओर से आयोजित कराई जाने वाली प्रतियोगिता से प्रतिभाओं को निखरने का अवसर मिलता है। जूनियर एडिटर से बालकों के शैक्षिक व बौद्धिक स्तर की परख होगी। साथ ही बालकों को लिखने व सीखने का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि निजी स्कूलों के मुकाबले सरकारी स्कूलों की प्रतिभाओं को प्रतिस्पर्द्धा में लाने के लिए मैंने संकल्प लिया है। इसी के तहत जूनियर एडिटर की प्रतियां खरीदकर बांट रहा हूं। विशिष्ट अतिथि प्रधानाचार्य चौथमल मीणा ने कहा कि निजी स्कूलों में तो स्कूल संचालक अपने खर्चे से या अभिभावकों से फीस वसूल कर बालकों को प्रतियोगिता में सम्मिलित करवा देते हैं। उन्होंने भामाशाह की पहल को सराहनीय कदम बताया। प्रधानाचार्य ने बताया कि गंगासहाय मीणा सरकारी स्कूल में अध्यनरत करीब 200 गरीब बच्चों का पूरा खर्च उठाकर उन्हें शिक्षा दिला रहे हैं। भामाशाह ने पालावास में खेड़ापति हनुमान मंदिर निर्माण के लिए 27 लाख रु व गोवर्धन मंदिर को 51 लाख रु दिए हैं। दौसा जिले के सरकारी स्कूलों में उन्होंने इसी वर्ष 35 लाख रु की जर्सियां वितरित कराई हैं। इसी तरह 40 लाख रु की लागत से स्कूलों में बालकों को बैठने के लिए कमरों का निर्माण करा रहे हैं। समारोह को व्याख्याता रामकिशन मीणा ने भी संबोधित किया।

जूनियर एडिटर बच्चों में रचनात्मक परख पैदा करने में सहायक

कोटपूतली| गोनेड़ा स्थित इलीट ग्लोबल स्कूल में मंगलवार को जूनियर एडिटर प्रतियोगिता हुई जिसमें बच्चों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। स्कूल निदेशक राजेंद्र प्रसाद हिन्दू ने कहा कि दैनिक भास्कर की जूनियर एडिटर प्रतियोगिता बालकों में रचनात्मक कौशल विकसित करने की दृष्टि से तथा सामाजिक दृष्टि से उनकी समझ विकसित करने में सहायक सिद्ध होगी। उन्होंने कहा कि इस प्रतियोगिता से निश्चित ही विद्यार्थियों को एक ऐसा मंच मिलेगा, जिससे वे अपने विचारों को आकार दे पाएंगे। इस अभियान के माध्यम से दैनिक भास्कर पत्रकारिता के सामाजिक दायित्व के भाव को भी जीवंत कर रहा है। इसके माध्यम से पाठक वर्ग का सबसे बड़ा हिस्सा जो विद्यार्थियों के रूप में है, उसको इस प्रकार का मंच देकर उनके सर्वांगीण विकास के लिए एक उपयोगी पहल की है। इसका विद्यार्थियों को बहुत फायदा मिलेगा। प्रधानाचार्य भागीरथ सिंह ने कहा कि जूनियर एडिटर प्रतियोगिता से बच्चों के मानसिक विकास में पहले से ज्यादा वृद्धि होगी। स्कूल प्रभारी धर्मेंद्र कुमार शर्मा, गौरव गर्ग, बाला रावत,अंबिका वशिष्ठ, दीपक यादव, ईश्वर सिंह विक्कल आदि ने कहा कि दैनिक भास्कर की यह पहल बच्चों में रचनात्मक कार्यों के साथ उनके जीवन को बेहतर बनाने में उपयोगी साबित होगी।