Hindi News »Rajasthan »Kotputli» राजकीय बीडीएम अस्पताल में वृद्धा की मौत से खफा ग्रामीणों का थाने के समक्ष प्रदर्शन

राजकीय बीडीएम अस्पताल में वृद्धा की मौत से खफा ग्रामीणों का थाने के समक्ष प्रदर्शन

कार्यालय संवाददाता | कोटपूतली कस्बा स्थित राजकीय बीडीएम अस्पताल में विगत 4 अप्रैल को इलाज के दौरान हुई मोहल्ला...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 21, 2018, 02:35 AM IST

कार्यालय संवाददाता | कोटपूतली

कस्बा स्थित राजकीय बीडीएम अस्पताल में विगत 4 अप्रैल को इलाज के दौरान हुई मोहल्ला बडाबास निवासी वृद्धा मुन्नी देवी (60) प|ी रमेशचंद दर्जी की मौत के प्रकरण में शुक्रवार को बडी संख्या में लोगों ने उपखण्ड कार्यालय पर नारेबाजी कर मामले की न्यायिक जांच हेतु एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। उल्लेखनीय है कि घटनाक्रम में वृद्धा की मृत्यु के बाद आक्रोशित परिजनों ने चिकित्सक व कंपाउंडर पर लापरवाही के आरोप लगाते हुए स्थानीय थाने में नामजद मामला दर्ज करवाया था। वहीं कंपाउंडर श्रीराम गुर्जर व चिकित्सक डॉ.बृजबाला गुप्ता ने भी थाने में मारपीट, दुर्व्यवहार, गाली-गलौच व राजकाज में बाधा का नामजद मामला दर्ज करवाया था।

जिसके बाद चिकित्सक संघ के लगातार विरोध प्रदर्शन व गतिरोध को देखते हुए विगत मंगलवार को वृद्धा की तेरहवीं के दिन पुलिस ने मृतका के पुत्र समेत तीन जनों को गिरफ्तार कर लिया था। जिसके बाद से ही पुलिस कार्यवाही का विरोध सामने आ रहा है। इसी को लेकर बडी संख्या में कस्बावासी शुक्रवार शाम आजाद चौक स्थित राम मंच पर एकत्रित हो गये। जिसके बाद उपखण्ड कार्यालय पर पुलिस प्रशासन व बीडीएम स्टॉफ के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए एसडीएम सुरेश चौधरी को ज्ञापन सौंपा।

कोटपूतली. बीडीएम अस्पताल में वृद्धा की मौत के मामले में उखण्ड कार्यालय पर नारेबाजी करते प्रदर्शनकारी।

लापरवाही के चलते वृद्धा की मृत्य हुई

ज्ञापन में बताया है कि 4 अप्रैल को वृद्धा की तबीयत खराब होने पर परिजन राजकीय बीडीएम अस्पताल में उपचार के लिए लेकर गये थे। जहां डॉक्टर मौके पर मौजुद नहीं थी एवं उपस्थित कंपाउंडर ने परिजनों से बदतमीजी की एवं इलाज में लापरवाही के चलते वृद्धा की मृत्यु हो गई। जिसके बाद परिजनों द्वारा दोषी चिकित्सक व कंपाउंडर के खिलाफ पुलिस में मुकदमा दर्ज करवाया गया था। लेकिन पुलिस ने उनके द्वारा दर्ज करवाते हुए मुकदमे पर कार्यवाही करने की बजाय डॉक्टर व नर्सिंगकर्मी द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर पर एक तरफा़ कार्यवाही करते हुए मृतका मुन्नी देवी के पुत्र राजेश, भतीजे रवि व संतोष को तेरहवीं के दिन गिरफ्तार कर परिजनों को प्रताड़ित करने का कार्य किया है।

कोटपूतली. बीडीएम अस्पताल में वृद्धा की मौत के मामले में एसडीएम को ज्ञापन देते हुए।

पुलिस के खिलाफ विरोध

जबकि परिजनों द्वारा दर्ज एफआईआर पर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गई है। ज्ञापन में वृद्धा की मृत्यु के प्रकरण की न्यायिक जांच करवाने, दोषी चिकित्साकर्मियों के खिलाफ दर्ज करवाई गई एफआईआर में कार्यवाही करने, गिरफ्तार किये गये निर्दोष परिजनों को राहत प्रदान करने एवं अन्य बीडीएम अस्पताल के दोषी चिकित्सकों, नर्सिंग कर्मियों व संबंधित स्टॉफ के खिलाफ प्रशासनिक कार्यवाही करने की मांग की गई है। एसडीएम को ज्ञापन सौंपने के बाद प्रदर्शनकारी कस्बा थाने पर भी पहुंचकर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। बाद में थानाधिकारी रविन्द्र प्रताप सिंह के बाहर आने पर उनसे बातचीत किये बिना ही वापिस आ गये। इस दौरान भाजपा नेता मुकेश गोयल, मनोज नारायण शर्मा, रमेशचंद दर्जी, दिलीप यादव, सुरेन्द्र चौधरी, गोकुल टेलर, नंदलाल, टेकचंद, रविन्द्र टेलर, पवन कुमार, राव जीतू यादव, महेश सैनी, सुभाष घोघड़, दीपक ततारपुरिया, अशोक शर्मा, रवि शर्मा, राहुल बंसल, रजत जिंदल समेत बडी संख्या में प्रदर्शनकारी व महिलाएं मौजुद थी।

राजकीय बीडीएम अस्पताल में निष्पक्ष जांच कर दोनों पक्षों की रिपोर्ट पर परिजनों के कहे अनुसार मृतका का पोस्टमार्टम करवाया। इस संबंध में वायरल वीडियो पर आरोपियान की सुविधानुसार थाने पर बिना गिरफ्तार किये न्यायालय में चालान पेश किया है। जहां से न्यायालय ने आरोपियान को न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया। मामले की निष्पक्ष जांच की जा रहीं है। - रविन्द्र प्रताप सिंह, थानाधिकारी,कोटपूतली।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kotputli

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×