• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Kotputli News
  • बीडीएम अस्पताल में चिकित्साकर्मियों ने काली पट्टी बांधकर किया कार्य
--Advertisement--

बीडीएम अस्पताल में चिकित्साकर्मियों ने काली पट्टी बांधकर किया कार्य

कार्यालय संवाददाता| कोटपूतली कस्बा स्थित जिला स्तरीय राजकीय बीडीएम अस्पताल में विगत 4 अप्रैल की शाम को इलाज के...

Dainik Bhaskar

Apr 08, 2018, 02:40 AM IST
कार्यालय संवाददाता| कोटपूतली

कस्बा स्थित जिला स्तरीय राजकीय बीडीएम अस्पताल में विगत 4 अप्रैल की शाम को इलाज के दौरान हुई एक वृद्धा की मौत का मामला शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। घटना के विरोध में अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सक संघ व नर्सिंग एसोसिएशन के बैनर तले डॉक्टरों व नर्सिंगकर्मियों ने शनिवार से हाथों पर काली पट्टी बांधकर कार्य किया। मामले को लेकर 5 अप्रेल को चिकित्सक संघ के डॉ.चैतन्य रावत, डॉ.नरेश छीपी, नर्सिंग एसोसिएशन के पूरणसिंह शेखावत, गजराज यादव सहित संघ ने चिकित्सक व नर्सिंगकर्मियों के साथ मारपीट करने वाले आरोपियों को 24 घंटे में गिरफ्तार करने की पुलिस को चेतावनी दी थी। इसके बाद भी आरोपी गिरफ्तार नहीं होने से नाराज चिकित्सक व नर्सिंगकर्मियों ने प्रतिदिन एक घंटे का कार्य बहिष्कार कर काली पट्टी बांधकर कार्य शुरू किया। संघ द्वारा सोमवार तक विरोध किया जाएगा। संघ के पदाधिकारियों ने बताया कि आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार नहीं किया गया तो धरना प्रदर्शन किया जाएगा। गौरतलब है कि मामले को लेकर मृतका मुन्नी देवी (60) के पति रमेश कुमार दर्जी द्वारा स्थानीय थाने में इलाज में लापरवाही का नामजद मामला चिकित्सक व नर्सिंगकर्मी के खिलाफ दर्ज करवाया गया है। जिसकी पुलिस द्वारा जांच की जा रही है। वहीं दूसरी ओर अस्पताल के चिकित्सक डॉ.बृजबाला गुप्ता व नर्सिंगकर्मी श्रीराम सराधना ने भी स्थानीय थाने में मृतका के पति रमेश कुमार दर्जी व उसके पुत्र राजेश कुमार सहित अन्य लोगों के खिलाफ मारपीट, दुर्व्यवहार, गाली-गलौच व राजकाज में बाधा का नामजद मामला दर्ज करवाया है। इधर श्री नामदेव टांक क्षत्रिय समाज के अध्यक्ष कैलाशचंद सहित समिति सदस्यों ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे व चिकित्सा मंत्री कालीचरण सर्राफ को ज्ञापन भेजकर आरोपी चिकित्सक व कम्पाउंडर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। ज्ञापन में बताया कि उपचार के लिए भर्ती कराने का डेढ़ घण्टा बीत जाने तक वृद्धा को कोई उपचार नहीं दिया गया। डेढ़ घंटे बाद एक इंजेक्शन लगाया। जिससे मरीज की मौत हो गई।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..