कोटपूतली

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Kotputli News
  • नारेहड़ा में एईएन और रामसिंहपुरा व पानेड़ा में जेईएन का पद सृजित होगा
--Advertisement--

नारेहड़ा में एईएन और रामसिंहपुरा व पानेड़ा में जेईएन का पद सृजित होगा

कार्यालय संवाददाता | कोटपूतली क्षेत्र में आने वाले समय में भीषण गर्मी के मौसम को देखते हुए एवं पूर्व में चली आ...

Dainik Bhaskar

Apr 18, 2018, 02:45 AM IST
कार्यालय संवाददाता | कोटपूतली

क्षेत्र में आने वाले समय में भीषण गर्मी के मौसम को देखते हुए एवं पूर्व में चली आ रही बिजली कटौती व छीजत से क्षेत्रवासियों को राहत दिलवाने के लिए क्षेत्रिय विधायक राजेन्द्र सिंह यादव ने राज्य सरकार के ऊर्जा एवं बिजली निगम को पानेड़ा व रामसिंहपुरा में कनिष्ठ अभियंता एवं नारेहड़ा में सहायक अभियंता के पद स्वीकृत किए जाने के प्रस्ताव भिजवाए है। साथ ही अतिरिक्त बिजली सप्लाई का भार झेलने के लिए नारेहड़ा के आस पास 132 केवी का नया जीएसएस बनवाए जाने की भी मांग की जिसकी बिजली निगम की और से सैद्धान्तिक स्वीकृति भी जारी कर दी गई। अगर सब कुछ ठीक रहा तो एक सप्ताह के भीतर -2 उपरोक्त नए पद सृजित कर दिए जाएंगे। इस बाबत जयपुर जिले के जेवीवीएनएल अधिक्षण अभियंता बी.एल. जाट ने एक सप्ताह में प्रस्तावों का अनुमोदन करते हुए उपरोक्त पदों पर नियुक्ति किए जाने की सहमति दी।

उल्लेखनीय है कि वर्तमान में कोटपूतली सहायक अभियंता कार्यालय के अधीन लगभग 40 हजार उपभोक्ता आते है। ऐसे में अगर नारेहड़ा में अतिरिक्त सहायक अभियंता कार्यालय खोला जाता है तो लगभग आधे उपभोक्ताओं का भार कम हो जाएगा जिससे सुचारु बिजली सप्लाई में सहायता मिलेगी एवं नए कनेक्शनों को लगाने के साथ उपभोक्ताओं की समस्या के निस्तारण में तेजी आ सकेगी। नारेहड़ा में 132 केवी के जीएसएस निर्माण के लिए चोटिया के आस पास विभाग द्वारा जमीन चिह्नित किए जाने के प्रयास किए जा रहे है। विधायक ने पूर्व में विधानसभा में प्रश्न उठाते हुए क्षेत्र में बिजली विभाग के रिक्त चल रहे लाइनमैन, कनिष्ठ अभियंता, सहायक अभिंयता के स्वीकृत पदों पर शीघ्र ही नियुक्ति किए जाने की मांग की थी। निगम द्वारा दिए गए उत्तर के अनुसार उपरोक्त पदों को भरे जाने के प्रस्ताव भिजवाए गए है। यादव ने बताया कि कोटपूतली विधानसभा क्षेत्र में उपभोक्ताओं की भारी संख्या होने के कारण जहां निगम के उपर अतिरिक्त दबाव है वही गर्मी के मौसम में विशेषकर ग्रामीणों को भारी बिजली कटौती का सामना करना पड़ता है। ऐसे में जल्द उक्त पदों को भर दिया जाये तो क्षेत्रवासियों को बिजली की कटौती से निजात मिल सकती है।

X
Click to listen..