• Home
  • Rajasthan News
  • Kotputli News
  • लाइनमैन से मारपीट के विरोध में धरना, तीन दिन में कार्रवाई नहीं हुई तो सप्लाई करेंगे ठप
--Advertisement--

लाइनमैन से मारपीट के विरोध में धरना, तीन दिन में कार्रवाई नहीं हुई तो सप्लाई करेंगे ठप

कार्यालय संवाददाता| कोटपूतली ग्राम चेची का नांगल फिडर पर तैनात लाइनमैन गुर्जर के साथ हुई मारपीट के मामले को...

Danik Bhaskar | Apr 13, 2018, 04:50 AM IST
कार्यालय संवाददाता| कोटपूतली

ग्राम चेची का नांगल फिडर पर तैनात लाइनमैन गुर्जर के साथ हुई मारपीट के मामले को लेकर गुरुवार को निगम के अधिकारी व कर्मचारी शहर के पावर हाऊस में काम बंद कर धरने पर बैठ गए। कर्मचारियों ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर तीन दिन में आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो क्षेत्र की बिजली सप्लाई ठप कर दी जाएगी।

लाइनमैन लीलाराम के साथ बुधवार को कुछ लोगों ने चेची का नांगल गांव में तीन दिन से बिजली नहीं आने, लाइन में फॉल्ट आने के कारण हुई मवेशी की मौत, गेहूं की फसल जलने एवं ग्राम बींजाहेडा में 11 हजार केवी की हाइटेंशन लाइन के टूटने से 8 वर्षीय बालक के झुलस जाने की घटना से गुस्साकर मारपीट कर दी थी।

ग्रामीणों का कहना था कि लाइनमैन के पास शिकायत के लिए पहुंचे थे जहां पर गाली-गलौच किए जाने के बाद मारपीट हो गई। इसके बाद पनियाला जेईएन संदीप सिहाग ने थाने में मारपीट के आरोपियों के खिलाफ नामजद मामला दर्ज करवाया था। इसी घटना के विरोध में गुरुवार को एईएन गजेन्द्र यादव, जेईएन संदीप सिहाग, जेईएन पंकज मीणा की अगुवाई में विभाग के अन्य अधिकारी व कर्मचारी शहर के पॉवर हाउस में ही कार्य रोककर धरने पर बैठ गए।

इस दौरान शिकायत के लिए आए चेची का नांगल के ग्रामीणों से एक बार उनकी फिर से तनातनी हो गई। गुस्साए कार्मिकों ने एक्सईएन बीएल मीणा पर भी मारपीट की घटना के बावजूद भी साथ नहीं देने का आरोप लगाते हुए उच्चाधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी भी की। जेईएन संदीप सिहाग ने बताया कि घटनाक्रम में लाईनमैन लीलाराम गुर्जर के साथ लाठी व सरियों से मारपीट की गई है। जिससे उसके हाथ व पैरों में गंभीर चोंट आई है। कार्मिकों ने आरोपियों की शीघ्र्र गिरफ्तारी करने व फील्ड कर्मचारियों को सुरक्षा उपलब्ध करवाये जाने की मांग की। कर्मचारी का गुस्सा इस बात का भी था कि नामजद मामला दर्ज होने के बावजुद भी अभी तक आरोपियान की गिरफ्तारी नहीं की गई है। बाद में एक्सईएन बीएल मीणा ने धरना स्थल पर पहुंचकर तीन दिन में उचित कार्रवाई का आश्वासन दिलवाया।

कार्मिकों ने कहा कि अगर उनकी मांगे शीघ्र ही नहीं मानी गई तो शहर व आसपास के क्षेत्र में बिजली व्यवस्था को ठप कर दिया जाएगा। बाद में एक्सईएन मीणा के नेतृत्व में कार्मिक स्थानीय थाने में भी पहुंचे। जहां आरोपियाें की तीन दिन में गिरफ्तारी के आश्वासन पर धरना समाप्त हुआ।

कोटपूतली. शहर के सहायक अभियंता कार्यालय में धरने पर बैठे बिजली कर्मचारी।