• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kotputli
  • संस्कार व सीखी हुई कला को व्यावहारिक जीवन में अपनाएं
--Advertisement--

संस्कार व सीखी हुई कला को व्यावहारिक जीवन में अपनाएं

Kotputli News - कार्यालय संवाददाता | कोटपूतली राजस्थान राज्य भारत स्काउट व गाइड स्थानीय संघ कोटपूतली द्वारा कस्बे के बसंत...

Dainik Bhaskar

May 30, 2018, 04:55 AM IST
संस्कार व सीखी हुई कला को व्यावहारिक जीवन में अपनाएं
कार्यालय संवाददाता | कोटपूतली

राजस्थान राज्य भारत स्काउट व गाइड स्थानीय संघ कोटपूतली द्वारा कस्बे के बसंत प्रभु राष्ट्रीय आदर्श विधा मन्दिर में संचालित अभिरुचि व कौशल विकास शिविर में मुख्य अतिथि महेश कुमार गोयल थे। कहा कि पारिवारिक संस्कारवान एवं विभिन्न अभिरुचियों के माध्यम से अर्जित कला के ज्ञान को व्यावहारिक जीवन में अपनाना चाहिए। विशिष्ट अतिथि रमाकान्त शर्मा ने पुस्तकीय ज्ञान के साथ-साथ महापुरुषों के जीवन से प्रेरणा लेने की बात कही। मुख्य वक्ता पूर्व जिला शिक्षाधिकारी उमराव लाल वर्मा ने शिविर का सघन निरीक्षण कर संचालन मण्डल को अनेक उपयोगी सुझाव दिए। शिविरार्थियों को कहानियों के माध्यम से उपयोगी बातें बताई। सह निदेशक ओमप्रकाश भार्गव ने शिविर की दैनिक गतिविधियों से परिचित करवाया। मंच संचालन कमलेश कुम्हार ने किया। रामबीर यादव, बाबूलाल सैनी, गोपाल शर्मा, अतुल, सीताराम गुप्ता, महावीर यादव, बीना सोनी, सम्पत कंवर सहित प्रशिक्षक उपस्थित थे।

X
संस्कार व सीखी हुई कला को व्यावहारिक जीवन में अपनाएं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..