कोटपूतली

--Advertisement--

नारेहड़ा में बिजली एईएन तैनात, अब त्वरित होगा समस्या समाधान

पिछले कई सालों से बिजली समस्याओं से परेशान उपभोक्ताओं के लिए खुशखबरी है। नारेहड़ा बिजली केंद्र पर सहायक अभियंता...

Dainik Bhaskar

Jun 08, 2018, 05:05 AM IST
पिछले कई सालों से बिजली समस्याओं से परेशान उपभोक्ताओं के लिए खुशखबरी है। नारेहड़ा बिजली केंद्र पर सहायक अभियंता का पद सृजित होने के बाद यहां के हजारों उपभोक्ताओं को बिजली संबंधी समस्याओं का निस्तारण के लिए कोटपूतली के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। इस केंद्र पर सहायक अभियंता के पद पर पहली बार टोंक से डी.के.राजोरिया को लगाया गया। करीब 40 वर्ष पहले बने इस केंद्र के नीचे पनियाला, नारेहडा, भूरीभड़ाज के जेईएन कार्यालय आएंगे। इन तीनों कार्यालयों के नीचे लगने वाले उपभोक्ताओं की संख्या करीब 23 हजार के करीब है। इनमें नारेहडा उपभोक्ताओं की संख्या 15 हजार, पनियाला के उपभोक्ताओं की संख्या 5 हजार व भूरीभड़ाज के उपभोक्ताओं की संख्या 3 हजार के आसपास है। इनमें नारेहड़ा जेईएन कार्यालय के नीचे लगने वाले गांवों में कल्याणपुरा कला, चिमनपुरा, बनेठी, देवता, बनार, खड़ब, शुक्लावास, कांसली, मोहनपुरा, सरुंड, पुरुषोत्तमपुरा, सहित सैकड़ों ढाणियां आएंगी। पनियाला जेईएन कार्यालय के नीचे लगने वाले गांवों में पनियाला, सांगटेडा, मलपुरा, गोनेड़ा, जयसिंहपुरा, रायकर्णपुरा,बिंजाहेड़ा आदी इसके अधीन आएंगे। इसके अलावा भूरिभड़ाज जेईएन कार्यालय के नीचे आने वाले गांवों में भूरीभड़ाज, पंडितपुरा, मंजूकोट, टोरडा गुजरान, दुदास, चांदोली, आसपुरा, भैसलाना, सुजातनगर, पवाना अहीर अादि ढाणियां आएंगी। दूसरी ओर कोटपूतली एईएन कार्यालय के नीचे कोटपूतली शहर, कोटपूतली ग्रामीण, पुतली व नांगल पंडितपुरा जेईएन कार्यालय के नीचे लगने वाले करीब 24 हजार उपभोक्ता आएंगे।

उपभोक्ताओं को कोटपूतली जाने की जरुरत नहीं

नारेहड़ा बिजली केंद्र पर एईएन कार्यालय खुलने से इसके नीचे लगने वाले करीब 50 गांवों के हजारों उपभोक्ताओं को बिजली की समस्याओं से निजात मिल सकेगी। अब से पहले यहां के उपभोक्ता बिजली के बिलों में संशोधन, नए कनेक्शन लेने, डीपी बदलवाने, बिजली के बिल जमा करवाने सहित अनेक कार्यों के लिए यहां के उपभोक्ताओं को कोटपूतली के चक्कर काटने पड़ते थे।

इन समस्याओं से भी मिलेगी निजात

इस केंद्र के नीचे लगने वाले करीब 50 गांवों के लगभग 15 हजार उपभोक्ता जुड़े हुए हैं। इनमें वर्तमान में करीब 100 से ज्यादा थ्री फेस कनेक्शन के उपभोक्ता है। इस केंद्र से वर्षों पहले करीब 40 किमी लंबी विद्युत लाइनें खींची गई थी जो अब जर्जर हालत में है। इन कारण आए दिन लाइनों में फाल्ट आता रहता है। यह केंद्र कोटपूतली से 15 किमी 33 केवी लाइन से सीधा जुड़ा हुआ है। नारेहड़ा में पहली बार बिजली एईएन कार्यालय खुलने पर शुक्लावास सरपंच संजू देवी मीणा, सरुण्ड सरपंच मुन्नी देवी विजयवर्गीय, चिमनपुरा सरपंच पुष्कर मल रावत, आदर्श ग्राम विकास समिति के अध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल, शिक्षाविद जगदीश गुरुजी, निजी शिक्षण संस्थान के अध्यक्ष रतनलाल सैनी ने राज्य सरकार का आभार जताया है।

X
Click to listen..