• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kotputli
  • 16 केंद्रों पर वॉटर हॉल पद्वति से वन्य जीवों की गणना शुरू
--Advertisement--

16 केंद्रों पर वॉटर हॉल पद्वति से वन्य जीवों की गणना शुरू

क्षेत्र में वन विभाग की ओर से बुध पूर्णिमा पर सोमवार सुबह 8 बजे से मंगलवार सवेरे 8 बजे तक पूर्णिमा की चांदनी में 24...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 05:15 AM IST
16 केंद्रों पर वॉटर हॉल पद्वति से वन्य जीवों की गणना शुरू
क्षेत्र में वन विभाग की ओर से बुध पूर्णिमा पर सोमवार सुबह 8 बजे से मंगलवार सवेरे 8 बजे तक पूर्णिमा की चांदनी में 24 घण्टों तक वन्य जीवों की गणना की जाएगी। उल्लेखनीय है कि कोटपूतली क्षेत्र में वन्य जीवों की संख्या में बीते सालों में तेजी से कमी आई है। खास तौर पर शेर व बाघ तो यहां ना के बराबर है।

अब देखना है कि कोटपूतली के जंगलों से सरकार के लिए अच्छी खबर आती है या नहीं। रेंजर विजय कुमार शर्मा द्वारा 16 पोइंट बनाकर वॉटर हॉल पद्धति से वन्य जीवों की गणना करवाई जा रही है। इसके लिए 24 से अधिक कार्मिकों की नियुक्ति की गई है। उन्होंने बताया कि वॉटर हॉल पद्धति से बाघ, बघेरा व अन्य वन्य जीवों की गणना का कार्य किया जा रहा है। इसके लिए क्षेत्र में विभिन्न पानी के स्त्रोतों पर वॉटर हॉल पोईन्ट बनाए गए है। इनमें क्रमश: पांछूडाला में रावता की ढाणी के पास बांध पर वन रक्षक सुरेश कुमार शर्मा, कांदयाली ढाणी के पास पांछूडाला में वन रक्षक रमजान खां, बनेठी में एनीकट टाईप पर चौकीदार रतिराम गुर्जर व महावीर सिंह, एनीकट टाईप दो पर वन रक्षक भारत भूषण, पुरूषोत्तमपुरा में लालनाथ मन्दिर के पास जोहड पर वनपाल रामनिवास यादव, कुहाडा में छाजूराम हरनारायण के कुएं के पास वनरक्षक प्रभुदयाल जाट, ग्राम दांतिल में बलाईयों की ढाणी में खेली के पास वनरक्षक ओमप्रकाश व हनुमान सहाय गुर्जर, ग्राम बुचारा में भैरू क्यारी के पास सहायक वनपाल नंदलाल शर्मा व बेलदार छाजूराम सैनी, भौनावास में बावडी के पास वन रक्षक किशनसिंह राठौड़ व परमानन्द शर्मा, फतेहपुरा खुर्द में भुतेश्वर मन्दिर के पास वन रक्षक बाबूलाल गुर्जर, बुचारा में टपकेश्वर महादेव मन्दिर के पास वन रक्षक विरेन्द्र कुमार जाटावत व चौकीदार रामस्वरूप गुर्जर, चांदोली में झरना की बावडी के पास वन रक्षक दिनेश कुमार व बिहारी लाल गुर्जर, चांदोली में बेरखा पर वनपाल हरदान सिंह गुर्जर व सुण्डाराम गुर्जर, टोरडा में जोहड पर ख्यालीराम यादव व बुचारा में सायर सिंह की खेली पर हेमराज मीणा व रामसिंह यादव एवं पुरुषोत्तमपुरा में एनिकट टाइप वन पर सहायक वनपाल सम्पतराम की तैनाती की गई है। सभी कार्मिक बुध पूर्णिमा की चांदनी में पानी पीने आने वाले वन्य जीवों की गणना करके अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगेे।

वॉटर हॉल पद्धति

इसके तहत पानी के केन्द्रों पर प्यास बुझाने आने वाले वन्य जीवों की गणना की जाती है। इसके लिए कार्मिकों को विशेष ट्रेनिंग भी दी गई है। गणना में जीवों की आवाज, बघेरे की दहाड़ व फुट मार्क के जरिए उनकी गणना की जाती है।

वार्षिक गणना

24 घण्टों तक धवल चांदनी में होगी गणना, पता चल सकेगा क्षेत्र के जंगलों मेें कितने है पशु-पक्षी

कोटपूतली. वन क्षेत्र में वन्य जीव गणना के लिए बनाए गए वाटर हॉल।

X
16 केंद्रों पर वॉटर हॉल पद्वति से वन्य जीवों की गणना शुरू
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..