• Home
  • Rajasthan News
  • Kotputli News
  • ओवरटेक, निजी बस ने मारी टक्कर, स्कूल बस पलटी, 17 बच्चे जख्मी
--Advertisement--

ओवरटेक, निजी बस ने मारी टक्कर, स्कूल बस पलटी, 17 बच्चे जख्मी

कार्यालय संवाददाता | कोटपूतली क्षेत्र की परिवहन व्यवस्था में एक बार फिर से बड़ी चूक व लापरवाही सोमवार को देखने को...

Danik Bhaskar | May 08, 2018, 05:35 AM IST
कार्यालय संवाददाता | कोटपूतली

क्षेत्र की परिवहन व्यवस्था में एक बार फिर से बड़ी चूक व लापरवाही सोमवार को देखने को मिली। जब सोमवार अलसुबह हूबहू हरियाणा रोडवेज जैसी दिखने वाली एक प्राइवेट बस के ड्राइवर ने ओवरटेक के चक्कर में सामने चल रही स्कूल बस को टक्कर मार दी। इससे स्कूल बस सवार 17 बच्चों समेत ड्राइवर व परिचालक घायल हो गए। चालक को गंभीर हालत होने पर जयपुर रेफर कर दिया। हादसे की सूचना मिलते ही बच्चों के अभिभावकों में हडकंप मच गया।

पुलिस के अनुसार कस्बे की अमाई कॉलोनी स्थित तोरावाटी पब्लिक स्कूल की बस सोमवार सुबह करीब 7 बजे कस्बे में विभिन्न स्थानों से बच्चों को एकत्र कर स्कूल की और जा रही थी। तभी स्कूल बस चालक ने दिल्ली- जयपुर एनएच-8 पर बड़े पॉवर हॉउस के पास बस की रफ्तार धीमी कर उसे राजमार्ग से सर्विस लेन पर उतार रहे थे तभी पीछे से आ रही हरियाणा रोडवेज जैसी दिखने वाली प्राइवेट बस के चालक ने तेज रफ्तार में लापरवाही पूर्वक ओवरटेक करने के चक्कर में स्कूल बस को टक्कर मार दी। इससे स्कूल बस सर्विस लेन की ओर पलट गई। बस पलटते ही मौके पर चीख पुकार मच गई। बस में फँसे बच्चों को आसपास के एकत्र हुए लोगों ने बाहर निकाला। टक्कर मारने वाला चालक बस छोड़कर भाग गया।

घायल बच्चों को चोट लगने से खून बह रहा था। घटना की सूचना पर एसआई राजेश शर्मा मय जाब्ता सहित मौके पर पहुंचे और सभी घायल बच्चों को अस्पताल पहुंचाया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद सभी को छुट्‌टी दे दी गई। हादसे में स्कूल बस के चालक जयप्रकाश शर्मा (50) व परिचालक राकेश मीणा (28) दोनों निवासी मोहल्ला बुचाहेड़ा घायल हो गए। चालक जय प्रकाश की हालत गंभीर होने पर जयपुर रेफर कर दिया गया।

कोटपूतली. सड़क दुर्घटना में क्षतिग्रस्त निजी बस व स्कूल बस।

कोटपूतली. अस्पताल में सड़क दुर्घटना में घायल बालकों का इलाज करते हुए।

परिवहन विभाग का लवाजमा, फिर भी कार्रवाई नहीं

राज्य सरकार का जिला स्तरीय परिवहन कार्यालय संचालित है। यहाँ एक डीटीओ, 5 इंस्पेक्टर सहित चार वाहन का भारी भरकम लवाजमा तैनात हैं। बावजूद इसके नतीजा सिफर है। सैकड़ों की संख्या में निजी ट्रांसपोर्टर बसों का संचालन बिना किसी परमिट धड़ल्ले से कर रहे है। ऐसी बसों पर ड्राइवर-परिचालक रखने के लिए कोई मानदंड भी तय नहीं किए गए हैं। ज्यादातर बसों पर तो अल्पवेतन का गैर प्रशिक्षित स्टॉफ रखा गया है। यहीं नहीं निजी बसों पर राजस्थान व हरियाणा रोडवेज एवं राजस्थान लोक परिवहन की बसों की तरह रंग करवा कर लोगों को भ्रमित व परिवहन विभाग के नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है।

स्कूल बसों के लिए कोई गाइडलाइन नहीं

एक और जहां निजी ट्रांसपोर्टरों की बसों पर कोई लगाम नहीं है वहीं स्थानीय प्रशासन ने निजी स्कूलों में बस संचालन को लेकर कोई गाइड लाइन तय नहीं की है। क्षेत्र की सैकड़ों स्कूलों में हजारों निजी बस चलाई जा रही हैं। इनमें अप्रशिक्षित ड्राइवर, परिचालक, नियमों का पालन नहीं होने की तमाम खामियां होने के बावजूद संबंधित विभाग बेपरवाह बने हुए है।

लापरवाही का केस

स्कूल प्रबंधक महेशसिंह पुत्र राजेन्द्रसिंह तंवर ने मामला दर्ज कराया कि तोरावाटी इन्टरनेशनल सीसे स्कूल की बस विभिन्न स्थानों से बालकों को लेकर पूतली पावर हाउस के सामने दिल्ली से जयपुर सर्विस रोड कट पर जा रही थी तभी पीछे से निजी बस चालक ने लापरवाही से टक्कर मार दी। इसमें 19 बच्चे, चालक व परिचालक गंभीर घायल हो गए। उधर, परिवहन विभाग भी इस मामले में निजी बस व स्कूल बस के मालिकों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कह रहा है।

ये हुए घायल

घटना में सोहन (13), पायल (10), आर्यन (8), महक (13), हिमांशु (12), चंचल (8), सौरव (4), रोहन (13), केशव(7), प्रिंस (9), हंस (6), पलक(6), नवदीप (10), गगन (5), भूमिका (8), नैंसी (5), जेसिका (6) सहित बस में सवारी के रूप में बैठा कर्मवीर (38) पुत्र दिलीप सिंह यादव भी जख्मी हो गया।