• Home
  • Rajasthan News
  • Kuchaman News
  • 16 दिन पहले पटवारियों ने तहसीलदार को सौंपे थे बस्ते, अब 10 पटवार घर पर लटक रहे हैं ताले
--Advertisement--

16 दिन पहले पटवारियों ने तहसीलदार को सौंपे थे बस्ते, अब 10 पटवार घर पर लटक रहे हैं ताले

भास्कर संवाददाता | कुचामन ग्रामीण पटवारियों द्वारा अतिरिक्त पटवार मंडलो के कार्य का बहिष्कार करने के 15 दिन बाद...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 01:50 PM IST
भास्कर संवाददाता | कुचामन ग्रामीण

पटवारियों द्वारा अतिरिक्त पटवार मंडलो के कार्य का बहिष्कार करने के 15 दिन बाद भी राजस्व विभाग ने वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की है। इससे 15 पटवार मंडलो के ग्रामीणों को राजस्व सहित विभिन्न कार्योंं के लिए परेशानी हो रही है।

जानकारी के अनुसार सरकार ने जून 2017 में राजस्व कार्यो के सामूहिक कार्य बहिष्कार के समय राजस्थान पटवार संघ के साथ वार्ता की थी। इसमें पटवारियों की मांगों को मानकर शीघ्र ही निस्तारण की बात कही थी। लेकिन अभी तक मांगें नहीं मानी जाने पर राजस्थान पटवार संघ के आह्वान पर 16 जनवरी को तहसील क्षेत्र के पटवारियों ने 10 पटवार मंडलों के अतिरिक्त कार्य भार के बस्ते तहसीलदार महावीर प्रसाद शर्मा को सुपुर्द कर दिए थे। इसके बाद से 10 मंडलो के पटवार घर पर ताले लटक रहे हैं। इससे किसानों व ग्रामीणों को बड़ी समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

संघ अध्यक्ष बोले- मांगें जायज हैं, माननी चाहिए


जैसे ही सरकार से निर्देश मिलेंगे, व्यवस्था कर देंगे


नकलें नहीं मिल रहीं, सीमा ज्ञान-प्रमाण पत्र के काम अटके

कुचामन तहसील क्षेत्र के 10 पटवार मंडलों के बस्ते जमा कराने से ग्रामीण क्षेत्रों में राजस्व संबंधित कार्य प्रभावित हो रहे हैं। साथ ही राजस्व विभाग के डीआईएलएमटी कार्य पर भी असर पड़ रहा है। पटवारियों से ग्रामीण क्षेत्रों में नक्शे सहित आवश्यक जानकारियां नहीं मिलने से ऑनलाइन कार्य भी प्रभावित हो रहा है। इसके अलावा जमीन की नकले बनाने, विभिन्न प्रकार के प्रमाण पत्र बनाने, जमीन की गिरदावरी, नामांतरण, सीमा ज्ञान सहित राजस्व विभाग के कार्य प्रभावित हो रहे हैं। कुचामन शहर समेत ग्राम पंचायत रूपपुरा, पांचवा, चावण्डिया, अडक़सर, परेवड़ी, आनन्दपुरा, चारणवास, नारायणपुरा, सरगोठ आदि पटवार मण्डलों पर ताले लगे होने से किसानों को परेशानी हो रही है।