--Advertisement--

गौशालाओं को अनुदान के लिए 5 फरवरी तक दे सकेंगे आवेदन

भास्कर संवाददाता | कुचामन सिटी प्रदेश में गौ संरक्षण एवं संवर्धन निधि नियम के तहत सहायता राशि प्राप्त करने के...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:50 PM IST
भास्कर संवाददाता | कुचामन सिटी

प्रदेश में गौ संरक्षण एवं संवर्धन निधि नियम के तहत सहायता राशि प्राप्त करने के लिए गौशालाओं से आवेदन पत्र आमंत्रित किए जा रहे हैं। नियमानुसार 200 से ज्यादा गौ वंश वाली पात्र गौशाला के प्रबंधक 5 फरवरी तक आवेदन जमा करवा सकते हैं।

पशुपालन विभाग कुचामन के उपनिदेशक डॉ. छाजूराम मेहरडा ने बताया कि गौशाला में 3 वर्ष या उससे अधिक आयु के गौ वंश के लिए 32 रुपए और इससे कम आयु के गौ वंश के लिए 16 रुपए प्रतिदिन का अनुदान अथवा सहायता राशि 90 दिनों के लिए दी जाएगी। इस सहायता राशि का उपयोग गौ वंश के चारा-पानी और पशु आहार के लिए किया जा सकेगा। पशु आहार राजफैड अथवा आरसीडएफ के वितरण केन्द्र से खरीदना अनिवार्य होगा। पात्र गौशालाओं के प्रबन्धक प्रपत्र 1 में 5 फरवरी तक अनुदान के लिए आवेदन कर सकते हैं। गौरतलब है कि गोपालन विभाग ने गत दिनों गौशालाओं को सहायता राशि देने के लिए निर्णय करते हुए प्रक्रिया शुरू करवाई थी। जिसमें प्रदेश भर में 20 जनवरी तक सर्वे करवाकर पात्र गौशालाओं की सूची तैयार की गई है। अब उन पात्र गौशालाओं से 5 फरवरी तक आवेदन मांगे गए हैं।

पंजीयन प्रमाण पत्र और अन्य दस्तावेज भी जरूरी

पशुपालन विभाग के गोपालसिंह नाथावत ने बताया कि आवेदन पत्र के साथ गौशाला का सोसायटी अधिनियम में पंजीयन का प्रमाण पत्र अथवा गौशाला अधिनियम में पंजीयन का प्रमाणपत्र, बैंक खाते की पास बुक के प्रथम पृष्ठ जिसमें आईएफएससी कोड अंकित हो की प्रतिलिपि, गौ वंश उपस्थिति रजिस्टर की माह जनवरी और फरवरी के पृष्ठ की गौशाला प्रतिनिधि के हस्ताक्षरित प्रतिलिपि, प्रपत्र 2 में सभी कॉलम की पूर्ति के साथ गौशाला सचिव अथवा अध्यक्ष द्वारा शपथ पत्र,पिछले 2 वित्तीय वर्षों की गौशाला की प्रमाणित ऑडिट रिपोर्ट, टैग रजिस्टर के प्रत्येक पृष्ठ की गौशाला प्रतिनिधि के हस्ताक्षर एवं मुहर के साथ प्रतिलिपि एवं एमएस एक्सल की सॉफ्ट कॉपी, गौशाला के स्वामित्व व क्षेत्राधिकार में अचल सम्पत्ति व भूमि-भवन के प्रमाणित दस्तावेज, प्रपत्र 7 में पूर्व में प्राप्त सहायता राशि की उपयोगिता प्रमाणपत्र संलग्न करने होंगे। संस्था द्वारा यह भी प्रमाणपत्र दिया जाना है कि सभी स्रोतों से आय और व्यय का विवरण प्रवेश द्वार पर सूचना पट्ट पर प्रदर्शित किया गया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..