Home | Rajasthan | Kuchaman | यहां ‘शैवाल से जब होता है शृंगार’

यहां ‘शैवाल से जब होता है शृंगार’

कुचामन सिटी | यह तस्वीर है सांभर झील के एक हिस्से की। जहां नमक बनाने की प्रक्रिया के दौरान क्यारियों में जमा हुए...

Bhaskar News Network| Last Modified - Jun 04, 2018, 04:55 AM IST

1 of
यहां ‘शैवाल से जब होता है शृंगार’
कुचामन सिटी | यह तस्वीर है सांभर झील के एक हिस्से की। जहां नमक बनाने की प्रक्रिया के दौरान क्यारियों में जमा हुए अतिरिक्त पानी और अपशिष्ट को निकाला जाता है। जिसे यहां बीटन कहा जाता है। वेस्ट यानी उपयोगिता नहीं होने के बावजूद अपशिष्ट और लाल रंग के इस पानी से ऐसा रंगीन और मनोरम दृश्य बन रहा है। इससे सांभर झील का यह हिस्सा सहसा ही कोलंबिया में बहने वाली विश्व की सबसे सुंदरतम नदी केनो क्रिस्टल की जैसी रंगीन नजर आती है। कंटेंट : विनोदकुमार गौड़/ फोटो: लक्ष्मण कुमावत।

विश्व की सबसे सुंदर कोलंबिया के केनो क्रिस्टल नदी जैसी रंगीन दिखती है हमारी ‘सांभर झील’

कैसे बनता है यह नजारा

सांभर झील में सांभर साल्ट्स लि. की नमक इकाई में नमक निर्माण के दौरान क्यारियों में बचे पानी और अपशिष्ट का रंग रासायनिक क्रिया के चलते रंगीन हो जाता है। इसे नमक निर्माण के लिए हटाना जरूरी होता है। जिसे बीटन कहा जाता है। अंग्रेजों के जमाने के वॉल्व सिस्टम से इस अपशिष्ट को क्यारियों से बाहर निकालकर झील में एक्जिट कर दिया जाता है। इस दौरान यहां रंगीन पानी, ऊपर तैरते शैवाल-नमक के झाग और धरती-आसमान के रंग मिलकर यह मनोरम नजारा बनाते हैं।

दुनिया की सबसे खूबसूरत नदी है केनो क्रिस्टल: ये है दुनिया की सबसे खूबसूरत नदी केनो क्रिस्टल है। कोलंबिया की इस नदी को ‘रिवर ऑफ फाइव कलर्स ’ अथवा रेनबो रिवर के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि अलग-अलग हिस्सों में ये लाल, पीले, हरे, नीले और काले रंग में नजर आती है। बताया जाता है कि रंगों का ये जादू उन फूलों की वजह से नजर आता है, जो नदी के अंदर गर्मी से लेकर बारिश तक पानी में खिलते हैं। जो पानी में और इसके उपर पाए जाते हैं।

यहां ‘शैवाल से जब होता है शृंगार’
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now