• Home
  • Rajasthan News
  • Kuchaman News
  • पारदी गैंग : लंगोट में आए 3 चोर, आहट सुन मौके पर पहुंचे तो 2 भागे, 1 काे पकड़ा, वह भी भाग छूटा
--Advertisement--

पारदी गैंग : लंगोट में आए 3 चोर, आहट सुन मौके पर पहुंचे तो 2 भागे, 1 काे पकड़ा, वह भी भाग छूटा

भास्कर संवाददाता | कुचामन सिटी शहर के डीडवाना रोड स्थित मिर्धा नगर कॉलोनी में बीती रात अज्ञात कच्छा गैंग ने 2...

Danik Bhaskar | Jun 13, 2018, 05:00 AM IST
भास्कर संवाददाता | कुचामन सिटी

शहर के डीडवाना रोड स्थित मिर्धा नगर कॉलोनी में बीती रात अज्ञात कच्छा गैंग ने 2 घरों में सेंधमारी का प्रयास किया। उन्होंने दोनों ही घरों में छत के रास्ते घर में प्रवेश करने का प्रयास किया। लेकिन जाग होने से मंसूबे कामयाब नहीं हो पाए। घटना रात करीब ढाई बजे की है। चोरों ने यहां रहने वाले बनवारीलाल महला के घर को सबसे पहले निशाना बनाने का प्रयास किया।

महला ने बताया कि नंगे पांव बिल्कुल काले 3 व्यक्ति उनके घर में घुसने का प्रयास करते हुए खिड़की तोड़ रहे थे। इसी दौरान घर में जाग हुई और बाहर की आहट सुनकर पहुंचे। तब तक 2 छत से कूद गए। लेकिन तीसरे व्यक्ति के पैर को पकड़ लिया। हालांकि पूरे शरीर पर चिकनाई युक्त कोई काला पदार्थ होने के कारण वह भी हाथ से फिसल गया। इसके बाद उन्होंने पास ही वकील जगदीश नेहरा के घर में घुसने का प्रयास करते हुए छत का गेट तोड़ने लगे। यहां भी जाग हुई तो तीनों मौके से भाग छूटे। पुलिस को मंगलवार शाम इस आशय की शिकायत भी दी। गौरतलब है कि सेंधमारी के प्रयास के बाद स्थानीय लोगों ने देर रात पुलिस कंट्रोल रूम में कॉल किए लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। बल्कि पुलिस गश्त की भी पोल खुलकर सामने आ गई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सेंधमारी का प्रयास करने वाले अज्ञात चोर पारदी गैंग अथवा कच्छाधारी गिरोह से संबंधित हो सकते हैं। हैड कांस्टेबल दौलतसिंह ने बताया कि पारदी गैंग मध्यप्रदेश की गैंग है।

शातिर

कुचामन सिटी. सेंधमारी के प्रयास में तोड़ी गई खिड़कियां।

पति-प|ी ने मजदूरी कर जोड़ी रकम, दिनदहाड़े चोर घर से जेवर व Rs.65 हजार ले गए

मकराना | शहर के पलाड़ा रोड पर मुस्कान मैरिज गार्डन के पास मंगलवार को दिनदहाड़े एक सूने मकान के ताले तोड़कर अज्ञात चोर जेवर व नकदी पर चुरा ले गए। घर मालिक फूलाराम मेघवाल व उसकी प|ी बायला देवी दोनों ही मार्बल घड़ाई के कारखाने में मजदूरी कर अपना पेट भरते हैं। फूलाराम मार्बल पर घड़ाई करता है। जबकि बायला मार्बल की घिसाई करती है। उन्होंने मेहनत मजदूरी कर पाई-पाई जोड़कर गहने बनवाए थे। वहीं 65 हजार की नकदी जमा कर बक्से में रखी थी। मंगलवार सुबह दोनों ही घर के ताला लगाकर मजदूरी पर चले गए। पीछे से घर सूना ही था। करीब 11 बजे अज्ञात चोरों ने घर में घुसकर कमरे के ताले तोड़े एवं भीतर रखी अलमारी व बक्से को सरिए व प्लास की सहायता से तोड़ दिया। आरोपियों ने बक्से में रखी 6 सोने की अंगूठियां, 5 चांदी के लूंग, 1 सोने की कंठी, 1 सोने का मादलिया, 1 चांदी की कनकती, 1 चांदी का डोरा, 65 हजार रुपए की नकदी सहित अन्य कीमती सामान चुरा लिया। दोपहर में दोनों पति प|ी खाना खाने घर पर आए तो उन्हें ताले टूटे हुए मिले। जबकि घर का सामान बिखरा हुआ था। बक्से व अलमारी में से नकदी व कीमती सामान गायब देखकर बायला व फूलाराम के होश उड़ गए। घर पर सामान गायब देखकर बायला देवी सदमे से बेहोश हो गई। सूचना मिलने पर मोहल्ले के ही समाजसेवी गंगाराम मेघवाल मौके पर पहुंचे एवं पुलिस को सूचना की। इस पर सब इंस्पेक्टर महेंद्र सिंह मौके पर पहुंचे एवं घटना का जायजा लिया। पड़ोसियाें ने पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया। परंतु उनका रो-रोकर बुरा हाल था। गंगाराम व अन्य ने उन्हें ढांढस बंधाया। जबकि पुलिस ने इस मामले में अज्ञात चोरों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।

पहले बाहरी दरवाजों को किया बंद, जूते-चप्पल छुपाए

मकराना. चोरी की घटना के बाद पीड़ित परिवार के बयान लेते पुलिस अधिकारी।

मिर्धा नगर के वाशिंदों ने बताया कि अज्ञात चोर 3 जने थे और पूरे शरीर पर कपड़ों के नाम पर केवल एक लंगोट पहन रखी थी। जबकि पूरा शरीर काले तेल में चुपड़ा हुआ था। किसी ने भी पैरों में भी जूते-चप्पल नहीं पहन रखे थे। बताया जा रहा है कि उनके पास सरिए और नुकीले हथियार थे और वे उसके बल पर लूट करने के इरादे से आए थे। स्थानीय लोगों ने आस-पास मुख्य सड़क पर स्थित दुकानों में सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले। लेकिन संभावना जताई जा रही है कि वे रोशनी वाले मार्गों को छोड़कर अंधेरी गलियों से होकर भाग गए। स्थानीय निवासी डॉ. प्रदीप चौधरी ने बताया कि चोरों ने पहले घर के नीचे के बाहरी दरवाजों को बाहर से बंद किए। घर के लोगों के जूते-चप्पल छुपाए और छज्जे के रास्ते छत पर चढ़े। ताकि जाग होने पर पकड़े न जा सके।