Hindi News »Rajasthan »Kuchaman» 42 साल से चल रहा था जोत बंटवारे का मामला शिविर में अधिकारियों ने समझाइश से निपटाया

42 साल से चल रहा था जोत बंटवारे का मामला शिविर में अधिकारियों ने समझाइश से निपटाया

भास्कर संवाददाता | कुचामन सिटी मंडावरा के अटल सेवा केंद्र पर गुरुवार को राजस्व लोक अदालत के तहत न्याय आपके द्वार...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 15, 2018, 05:05 AM IST

42 साल से चल रहा था जोत बंटवारे का मामला शिविर में अधिकारियों ने समझाइश से निपटाया
भास्कर संवाददाता | कुचामन सिटी

मंडावरा के अटल सेवा केंद्र पर गुरुवार को राजस्व लोक अदालत के तहत न्याय आपके द्वार शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में विभिन्न सरकारी विभागों के अधिकारियों-कर्मचारियों ने ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। शिविर में 743 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। वहीं, 42 साल से चल रहे जोत बंटवारे के मामले का भी निस्तारण किया गया।

शिविर प्रभारी एसडीएम रामसुख गुर्जर ने ग्रामीणों को नशों से दूर रहने का संकल्प दिलाया और नशे से शरीर में होने वाले नुकसान के बारे में बताया। कई ग्रामीणों ने तंबाकू सेवन न करने का संकल्प लिया। मण्डावरा के खातेदार मोहनलाल, प्रेमाराम पिता धन्नाराम, लादी देवी, मीरा देवी पुत्रियां धन्नाराम जाति जाट निवासी मण्डावरा के खसरा नंबर 368 व 315 कुल रकबा 2.98 है. भूमि के सह खातेदार को शिविर प्रभारी ने समझाइश कर अलग-अलग जोत विभाजन के लिए सहमत कर प्रस्ताव तैयार करवाया। पटवारी पवन कुमार, आर आई बालाराम और तहसीलदार महावीरप्रसाद शर्मा ने खाता विभाजन के प्रस्ताव अनुसार राजस्थान काश्तकारी अधिनियम 1955 की धारा 53(3) के तहत तैयार कर शिविर प्रभारी के समक्ष प्रस्तुत किया। इसके बाद 42 साल से लंबित प्रकरण में जोत विभाजन स्वीकार कर राजस्व रिकॉर्ड में दर्ज किया गया।

कुचामन सिटी. मंडावरा में शिविर में ग्रामीणों की समस्याएं सुनते अधिकारी।

खारिया में निपटाए 613 मामले, 20 साल से दो पीढ़ियों में चल रहे विवाद का भी राजीनामे से किया निस्तारण, खरेश में भी न्याय आपके द्वार शिविर

कुचामन सिटी | खारिया के अटल सेवा केंद्र पर न्याय आपके द्वारा शिविर हुआ। ग्रामीणों की विभिन्न समस्याओं में से 613 प्रकरणों का मौके पर ही निस्तारण किया गया। शिविर प्रभारी ने ग्रामीणों को नशे का त्याग करने का संकल्प दिलाया। शिविर में ग्राम हरितपुरा के सगे भाइयों रामनिवास, किशनलाल, मूलचन्द कुमावत के खसरा नम्बर 964/254 व 965/254 रकबा 2.07 हैक्टेयर भूमि का जोत विभाजन कर 20 बरसों से दो पीढियों के मामले को निस्तारित कर खातेदारी के अधिकार के लिए समझाइश की। शिविर प्रभारी एसडीएम रामसुख गुर्जर के निर्देश पर पटवारी कविता ने राजस्थान काश्तकारी अधिनियम 1955 की धारा 53(3) के तहत जोत विभाजन के प्रस्ताव तैयार कर आरआई बालाराम ने तहसीलदार के माध्यम से प्रस्तुत किया। जांच के बाद जोत विभाजन का राजस्व रिकॉर्ड में दुरुस्तीकरण किया गया।

वहीं, ग्राम पंचायत खरेश में भी न्याय आपके द्वार अभियान के तहत शिविर का आयोजन हुआ। आधार कार्ड से भुगतान के लिए 22 मामले आए। 47 नए जॉब कार्ड बनाए गए। खाद्य सुरक्षा योजना के तहत 167 नए आवेदन आए। 30 लाख के निर्माण की स्वीकृति जारी की। नटवरलाल, उप सरपंच तख्ताराम, पूर्व सरपंच भागीरथ रुलानिया, आनंद सिंह आदि मौजूद थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Kuchaman News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 42 साल से चल रहा था जोत बंटवारे का मामला शिविर में अधिकारियों ने समझाइश से निपटाया
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Kuchaman

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×