• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kuchaman
  • कलश स्थापना के साथ बालाजी की ढाणी में नानी बाई रो मायरा कथा शुरू
--Advertisement--

कलश स्थापना के साथ बालाजी की ढाणी में नानी बाई रो मायरा कथा शुरू

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2018, 05:25 AM IST

Kuchaman News - कुचामन सिटी | भांवता में बालाजी की ढाणी स्थित बालाजी महाराज के मंदिर में चल रहे प्रतिमा स्थापना व कलश स्थापना...

कलश स्थापना के साथ बालाजी की ढाणी में नानी बाई रो मायरा कथा शुरू
कुचामन सिटी | भांवता में बालाजी की ढाणी स्थित बालाजी महाराज के मंदिर में चल रहे प्रतिमा स्थापना व कलश स्थापना महोत्सव के तहत बुधवार से नानी बाई रो मायरा की कथा शुरू हुई। पं. रामदुलारे महाराज ने पूजा-अर्चना करवाई। कथावाचक संत रमतीराम महाराज ने भक्त नरसी के प्रसंग की कथा में बताया कि राम नाम लेवणों व राम नाम देवणो यानि उनके पास लेने और देने के लिए सिर्फ भगवान राम का नाम है। कथावाचक ने कहा कि असली भक्त तो वह है जिसके मुख पर सदैव भगवान राम का नाम होता है। उन्होंने कहा कि धन, पद और प्रतिष्ठा का त्याग कर भक्ति मार्ग अपनाना कठिन है। लेकिन अपनाने के बाद भगवान की अत्यधिक कृपा होती है। इसी प्रकार आनन्दपुरा गांव में चल रही गौ कृपा कथा महोत्सव का समापन कलश यात्रा के साथ हुआ। कार्यक्रम में सुबह सवा 10 बजे तक साध्वी आस्था गोपाल दीदी ने प्रवचन करते हुए कहा कि कथा वाचन से धर्म के प्रति आस्था बढ़ती है। उन्होंने कहा कि गौ माता के शरीर में सभी भगवान निवास करते है। गौ माता की पूजा करने से सभी भगवान की पूजा हो जाती है। कथा वाचन के पश्चात महाआरती का आयोजन किया गया। इसके बाद कथास्थल से कलश यात्रा निकाली गई। इस मौके पर गुमानाराम सोऊ, शिवभगवान शर्मा, भंवरलाल पटेल, घासीराम सिहोटा, लखाराम झाझड़ा, भगवानसिंह, बिरदाराम चौधरी, रामचन्द्र शर्मा, कणरसिंह, ज्ञानाराम कुमावत, छोटूराम मूंड, प्रेमलाल जांगिड़, किशनलाल, भूराराम कूदणा आदि मौजूद थे।

X
कलश स्थापना के साथ बालाजी की ढाणी में नानी बाई रो मायरा कथा शुरू
Astrology

Recommended

Click to listen..