• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Kuchaman News
  • भाजपा के सत्ता में आने से लोगों में बढ़ी दहशत राजनीतिक वैचारिक चेतना बढ़ाने की जरूरत
--Advertisement--

भाजपा के सत्ता में आने से लोगों में बढ़ी दहशत राजनीतिक वैचारिक चेतना बढ़ाने की जरूरत

भास्कर संवाददाता| कुचामन सिटी शहर के हौद का दरवाजा स्थित छीपा जमातखाना में रविवार को दलित-अल्पसंख्यक चेतना मंच...

Dainik Bhaskar

Aug 13, 2018, 05:36 AM IST
भाजपा के सत्ता में आने से लोगों में बढ़ी दहशत राजनीतिक वैचारिक चेतना बढ़ाने की जरूरत
भास्कर संवाददाता| कुचामन सिटी

शहर के हौद का दरवाजा स्थित छीपा जमातखाना में रविवार को दलित-अल्पसंख्यक चेतना मंच की बैठक हुई। इस बैठक के माध्यम से माकपा ने विधानसभा चुनाव को लेकर शंखनाद कर दिया। बैठक में माकपा नेता अमराराम ने कहा कि जब से भाजपा सत्ता में आई है, इस देश का दलित और अल्पसंख्यक दहशत में है। उन्होंने आरोप लगाए कि प्रायोजित तरीके से इन समाजों पर हमले बढ़ाए हैं। माकपा नेता किशन पारीक ने कहा कि देश में जब से भाजपा की सरकार सत्ता में आई है, तब से खासतौर से भाजपा शासित प्रदेशों में मुस्लिम व दलितों पर निश्चित तौर से अत्याचार बढ़े हैं। इन्हीं अत्याचारों से निपटने के लिए राजनीतिक-वैचारिक चेतना बढ़ाना आज की जरूरत है। धोद के पूर्व प्रधान उस्मान खान, अब्दुल मजीद कुरैशी, हुडील सरपंच कानाराम बिजारणिया, खींवकरण डबरिया आदि नेताओं ने भी बैठक में विचार व्यक्त किए। मंच संचालन अब्बास खान ने किया। इस दौरान नारायणराम दहिया, मुंशी शाह, बदरुदीन कारीगर, मलकुदीन कारीगर, मजीद कारीगर, अब्दुल रज्जाक, अजीज खान फौजी, इकराम भाटी, मुनीर शेख, गोपी मेघवाल, विजय कांसोटिया आदि उपस्थित थे।

कुचामन सिटी. दलित-अल्पसंख्यक चेतना मंच की बैठक में मौजूद नेता।

भास्कर संवाददाता| कुचामन सिटी

शहर के हौद का दरवाजा स्थित छीपा जमातखाना में रविवार को दलित-अल्पसंख्यक चेतना मंच की बैठक हुई। इस बैठक के माध्यम से माकपा ने विधानसभा चुनाव को लेकर शंखनाद कर दिया। बैठक में माकपा नेता अमराराम ने कहा कि जब से भाजपा सत्ता में आई है, इस देश का दलित और अल्पसंख्यक दहशत में है। उन्होंने आरोप लगाए कि प्रायोजित तरीके से इन समाजों पर हमले बढ़ाए हैं। माकपा नेता किशन पारीक ने कहा कि देश में जब से भाजपा की सरकार सत्ता में आई है, तब से खासतौर से भाजपा शासित प्रदेशों में मुस्लिम व दलितों पर निश्चित तौर से अत्याचार बढ़े हैं। इन्हीं अत्याचारों से निपटने के लिए राजनीतिक-वैचारिक चेतना बढ़ाना आज की जरूरत है। धोद के पूर्व प्रधान उस्मान खान, अब्दुल मजीद कुरैशी, हुडील सरपंच कानाराम बिजारणिया, खींवकरण डबरिया आदि नेताओं ने भी बैठक में विचार व्यक्त किए। मंच संचालन अब्बास खान ने किया। इस दौरान नारायणराम दहिया, मुंशी शाह, बदरुदीन कारीगर, मलकुदीन कारीगर, मजीद कारीगर, अब्दुल रज्जाक, अजीज खान फौजी, इकराम भाटी, मुनीर शेख, गोपी मेघवाल, विजय कांसोटिया आदि उपस्थित थे।

X
भाजपा के सत्ता में आने से लोगों में बढ़ी दहशत राजनीतिक वैचारिक चेतना बढ़ाने की जरूरत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..