• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Kushalgarh News
  • मुंह बोले साले को छोड़ने गए जीजा की मौत, गुस्साए परिजनों ने पुलिस को पत्थर दिखा शव उठाने से रोका
--Advertisement--

मुंह बोले साले को छोड़ने गए जीजा की मौत, गुस्साए परिजनों ने पुलिस को पत्थर दिखा शव उठाने से रोका

कस्बे के छोटी पंचायत क्षेत्र के टिमेड़ा छोटा गांव में शनिवार रात एक युवक ससुराल में ही संदिग्ध हाल में मृत मिला।...

Dainik Bhaskar

Jul 09, 2018, 04:45 AM IST
मुंह बोले साले को छोड़ने गए जीजा की मौत, गुस्साए परिजनों ने पुलिस को पत्थर दिखा शव उठाने से रोका
कस्बे के छोटी पंचायत क्षेत्र के टिमेड़ा छोटा गांव में शनिवार रात एक युवक ससुराल में ही संदिग्ध हाल में मृत मिला। इससे गुस्साए परिजनों ने सालों पर ही संदेह जताते हुए केस दर्ज करने की मांग की। परिजन इतने आक्रोशित हो गए कि शव ले जाने आई पुलिस को भी पत्थर दिखाकर पहले केस दर्ज करने की मांग पर अड़ गए। हंगामे की वजह से रविवार को भी पोस्टमार्टम नहीं हो पाया। मामला दर्ज होने के बाद रविवार देर शाम परिजन शांत हुए लेकिन तब तक अंधेरा हो जाने से शव मोर्चरी में रखवाना पड़ा। बोरखेड़ी निवासी 25 वर्षीय रिंकू पुत्र देवचंद गरासिया गुजरात में बेलदारी का काम करता था और शनिवार सुबह ही लौटा था। वह गांव से लोगों को गुजरात मजदूरी के लिए ले जाता था। शनिवार को भी उसने मजदूरों का डेढ़ लाख का भुगतान किया था। बाद में ससुराल कटारा फला के लोगों को पेमेंट करने गया। जहां रिश्तेदारी में मुंह बाेले साले कैलाश पुत्र कडवा कटारा साथ हो गया। कैलाश के वापस घर लौटने की जिद पर रिंकू छोड़ने गया। थोड़ी देर बाद उसकी मौत की खबर मिली। रिंकू कैलाश के घर के समीप एक घर में संदिग्ध हालत में मृत मिला। परिजनों ने रिंकू के ससुराल पक्ष से कैलाश कटारा, ताेलिया कटारा और उनके बेटे कालु कटारा के खिलाफ हत्या कर शव दूसरे मकान में रखने का संदेह जताते हुए हंगामा खड़ा कर दिया।

हत्या का संदेह इसलिए भी हो रहा है क्योंकि रिंकू साले कैलाश को बोरखेड़ी से टिमेडा वापस छोड़ने के लिए निकला था। रात 8 बजे उसके मरने की खबर मिली । जहां मौका हाल से रिंकू की गर्दन मरोड़ देना और गुप्तांग पर चोट लगने का संदेह जताया जा रहा है। युवक के पास मोबाइल और कुछ रुपए भी थे जो नहीं मिले। बताया जा रहा है कि कैलाश के घर पर पहले खाने-पीने की पार्टी भी हुई थी। परिजनों को शक है कि वहां पार्टी में हत्या के बाद शव दूसरे घर में रख दिया गया।

निगेटिव न्यूज

सिर्फ वही नकारात्मक खबर, जो अापको जानना जरूरी हैं।

मृतक रिंकू

कुशलगढ़़. पुलिस के सामने आक्रोश जताते मृतक के परिजन।

तीन आरोपियों से पूछताछ

शव मिलने की इत्तला पर कुशलगढ़ सीआई रामेश्वरलाल दल के साथ पहुंचे लेकिन रिंकू के भाई, ताऊ और ग्रामीणों ने पुलिस को पत्थर दिखाकर खड़े हो गए। पुलिस ने भी सख्ती दिखाते हुए मामला शांत किया। देररात तक पुलिस भी भांजगड़े पर जोर देती रही। अगले दिन रविवार को डीएसपी ब्रजराजसिंह चारण भी पहुंचे और मौका हाल देखा। डीएसपी ने बताया कि रिंकू के शव का पोस्टमार्टम नहीं हुआ है ऐसे में यह कहना मुश्किल है कि उसकी स्वाभाविक मौत हुई है या हत्या हुई है। पिता की रिपोर्ट पर तीन मुंह बोले सालों को निगरानी में लेकर पूछताछ की जा रही है।

मुंह बोले साले को छोड़ने गए जीजा की मौत, गुस्साए परिजनों ने पुलिस को पत्थर दिखा शव उठाने से रोका
X
मुंह बोले साले को छोड़ने गए जीजा की मौत, गुस्साए परिजनों ने पुलिस को पत्थर दिखा शव उठाने से रोका
मुंह बोले साले को छोड़ने गए जीजा की मौत, गुस्साए परिजनों ने पुलिस को पत्थर दिखा शव उठाने से रोका
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..