• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kushalgarh
  • पेयजल टंकी की पाइप लाइन टूटी रोजाना बह रहा लाखों लीटर पानी

पेयजल टंकी की पाइप लाइन टूटी रोजाना बह रहा लाखों लीटर पानी / पेयजल टंकी की पाइप लाइन टूटी रोजाना बह रहा लाखों लीटर पानी

Bhaskar News Network

May 30, 2018, 04:55 AM IST

Kushalgarh News - कुशलगढ़| गर्मी के इस मौसम में पेयजल समस्या लगातार गहरा रही है। जो पानी मिल रहा है, उसमें भी कम प्रेशर ने और समस्या...

पेयजल टंकी की पाइप लाइन टूटी रोजाना बह रहा लाखों लीटर पानी
कुशलगढ़| गर्मी के इस मौसम में पेयजल समस्या लगातार गहरा रही है। जो पानी मिल रहा है, उसमें भी कम प्रेशर ने और समस्या बढ़ा दी है। घंटों इंतजार के बाद कहीं एक मटकी पानी भर पाता है। इस समस्या का मुख्य कारण है पानी का लीकेज। ऐसा ही एक मामला है कुशलगढ़ क्षेत्र में पानी की सप्लाई के लिए बनाई गई पेयजल की टंकियों से निकलने वाली पाइप लाइन का। जिसके टूटने से लाखों लीटर पानी रोजाना बह रहा है। यह पाइप लाइन सीमेंट से बनी हुई है। दरअसल कुशलगढ़ कस्बे में कलिंजरा डेम से पेयजल की सप्लाई होती है। जहां से कुशलगढ़ के मगरी माता परिसर में जलदाय विभाग के मार्फत बनी चार टंकियों में पानी जमा होकर रतलाम रोड स्थित जलदाय विभाग परिसर स्टोरेज फिल्टर प्लांट से पूरे कस्बे में सुबह शाम के शेड्यूल में पेयजल सप्लाई होती है। ऐसे में मगरी माता परिसर में बनी टंकी नंबर 2 में लंबे समय से टंकी के नीचे लगे पाइप से रोजाना हजारों लीटर पानी व्यर्थ बह रहा है। कुशलगढ़ क्षेत्र में वैसे भी गर्मी में पेयजल संकट गहराने से ग्रामीण लंबी दूरी तय कर पेयजल व्यवस्था करने को मजबूर हैं। यह फोटो और जानकारी भास्कर जल मित्र नितिन झाकरोद ने दी। इधर महात्मा गांधी अस्पताल में पिछले सात दिनों से हुए लीकेज की खबर छपने के बाद उसे सही कर दिया गया।

मगरी माता क्षेत्र में बनी टंकी से लंबे समय से व्यर्थ बहता पानी।

कुशलगढ़| गर्मी के इस मौसम में पेयजल समस्या लगातार गहरा रही है। जो पानी मिल रहा है, उसमें भी कम प्रेशर ने और समस्या बढ़ा दी है। घंटों इंतजार के बाद कहीं एक मटकी पानी भर पाता है। इस समस्या का मुख्य कारण है पानी का लीकेज। ऐसा ही एक मामला है कुशलगढ़ क्षेत्र में पानी की सप्लाई के लिए बनाई गई पेयजल की टंकियों से निकलने वाली पाइप लाइन का। जिसके टूटने से लाखों लीटर पानी रोजाना बह रहा है। यह पाइप लाइन सीमेंट से बनी हुई है। दरअसल कुशलगढ़ कस्बे में कलिंजरा डेम से पेयजल की सप्लाई होती है। जहां से कुशलगढ़ के मगरी माता परिसर में जलदाय विभाग के मार्फत बनी चार टंकियों में पानी जमा होकर रतलाम रोड स्थित जलदाय विभाग परिसर स्टोरेज फिल्टर प्लांट से पूरे कस्बे में सुबह शाम के शेड्यूल में पेयजल सप्लाई होती है। ऐसे में मगरी माता परिसर में बनी टंकी नंबर 2 में लंबे समय से टंकी के नीचे लगे पाइप से रोजाना हजारों लीटर पानी व्यर्थ बह रहा है। कुशलगढ़ क्षेत्र में वैसे भी गर्मी में पेयजल संकट गहराने से ग्रामीण लंबी दूरी तय कर पेयजल व्यवस्था करने को मजबूर हैं। यह फोटो और जानकारी भास्कर जल मित्र नितिन झाकरोद ने दी। इधर महात्मा गांधी अस्पताल में पिछले सात दिनों से हुए लीकेज की खबर छपने के बाद उसे सही कर दिया गया।

टंकी नंबर 2 का पाइप टूटा

पाइप के टूट जाने से व्यर्थ बह रहा पानी।

X
पेयजल टंकी की पाइप लाइन टूटी रोजाना बह रहा लाखों लीटर पानी
COMMENT