--Advertisement--

3 लाख रुपए मौताणा तय होने के बाद नीम हकीम के दवाखाने से शव उठाया

मोहकमपुरा| कस्बे की नीम हकीम की दुकान पर इलाज कराने के दौरान मंगलवार को भरतपुरा के बुजुर्ग की मौत हो गई थी। मृतक के...

Dainik Bhaskar

Jun 21, 2018, 05:00 AM IST
मोहकमपुरा| कस्बे की नीम हकीम की दुकान पर इलाज कराने के दौरान मंगलवार को भरतपुरा के बुजुर्ग की मौत हो गई थी। मृतक के परिजनों ने नीम हकीम पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया था। इसके बाद पूरी रातभर चले भांगजड़े के बाद 3 लाख रुपए मौताणा तय होने के बाद शव को उठाया गया। उसके पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम की कार्रवाई करने के बाद परिजनों को सौंपा।

गौरतलब है कि मोहकमपुरा में नीम हकीम की दुकान पर इलाज कराने के दौरान भरतपुरा के नागु की मौत हो गई थी। इस दौरान फर्जी चिकित्सक शव को दुकान में छोड़कर भाग गया था। बुधवार को मृतक के परिजनों ने मौताणे की मांग को लेकर हंगामा कर दिया। मंगलवार को पाटन पुलिस ने समझाइश कर देर शाम शव कुशलगढ़ सीएचसी में रखवाया था। बुधवार सुबह मृतक के परिजनों ने 7 लाख रुपए मांगे, जिस पर नीम हकीम मध्यप्रदेश के थांदला के उदयपुरिया गांव के नीम हकीम दीपक के परिजन पहुंचे और 3 लाख रुपए मौताणा देना तय हुआ। साथ ही 20 हजार रुपए तत्काल देकर लिखित समझौता हुआ। हालांकि मृतक के भतीजे सुरेश निनामा ने मंगलवार को रिपोर्ट दर्ज कराई है। पाटन एसएचओ रूपलाल मीणा ने बताया कि पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है। दोनों पक्षों में क्या समझौता हुआ, इसकी जानकारी हमें नहीं है। घटना के बाद से आरोपी चिकित्सक फरार है।

एमजी अस्पताल में मदर मिल्क दुग्धदान शिविर 7 जुलाई को

बांसवाड़ा| दुग्धदान महादान अभियान के अंतर्गत मदर मिल्क दुग्धदान शिविर 7 जुलाई को एमजी अस्पताल के मदर मिल्क बैंक में आयोजित किया जाएगा। शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. कांति लाल मईड़ा ने बताया कि इसमें बच्चों को दुध पिलाने वाली सभी माताएं शिविर में दुग्धदान कर सकती है। जो शारीरिक व मानसिक रुप से सक्षम हो। इस शिविर का मुख्य उदेश्य महिलाओं में दुग्धदान करने के प्रति जागरुकता लाना है। जिससे ज्यादा से ज्यादा शिशुओं को दुध उपलब्ध हाे सके।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..