• Home
  • Rajasthan News
  • Kushalgarh News
  • टिमेड़ा बड़ा अस्पताल में मिली अवधि पार दवाइयां, रामगढ़ में पूरा स्टाफ ही गैरहाजिर
--Advertisement--

टिमेड़ा बड़ा अस्पताल में मिली अवधि पार दवाइयां, रामगढ़ में पूरा स्टाफ ही गैरहाजिर

सरकार द्वारा पीपीपी मोड पर सरकारी अस्पतालों को देने के बावजूद ग्रामीणों को चिकित्सा सुविधाएं देने के दावे खोखले...

Danik Bhaskar | Jul 08, 2018, 05:00 AM IST
सरकार द्वारा पीपीपी मोड पर सरकारी अस्पतालों को देने के बावजूद ग्रामीणों को चिकित्सा सुविधाएं देने के दावे खोखले साबित हो रहे हैं। कहीं दवाइयां नहीं मिलती तो कहीं स्टाफ ही समय पर नहीं आता।

ऐसा ही मामला शनिवार को कुशलगढ़ उपखंड के रामगढ़ और टिमेड़ा बड़ा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में सामने आया। दोनों अस्पतालों का आकस्मिक निरीक्षण करने पहुंचे एसडीएम जयवीरसिंह कालेर को अवधि पार दवाइयां और इंजेक्शन मिले। निरीक्षण के दौरान रामगढ़ पीएचसी में जीएनएम तरन्नुम सिंधी, एएनएम सुनीता कटारा, पुनीत पंचाल, एलएचवी राजेंद्र पाटीदार, एमपीडब्ल्यू दिलीपसिंह गैर हाजिर पाए गए। वहीं फार्मासिस्ट आशुतोष के 4 से 6 जुलाई तक टिमेड़ा पीएचसी में सेवाएं देने का बताया गया। वहीं टिमेड़ा बड़ा पीएचसी के निरीक्षण में शनिवार शाम 6.30 बजे डॉ. भरत त्रिवेदी, एलएचवी आशा मेरावत, एएनएम एलिस पटेल, एमपीडब्ल्यू ईश्वर अनुपस्थित पाए गए, लेकिन उपस्थिति रजिस्टर में सभी के हस्ताक्षर थे। एलटी किशोर खज्जा 1 जुलाई से लगातार अनुपस्थित होकर मेल नर्स रमेश भगोरा, फिमेल जीएनएम पूजा चावड़ा व चतुर्थ कर्मचारी उपस्थित मिले। पीएचसी में एक्सपायरी डेट की दवाइयां और इंजेक्शन मिले। इसे एसडीएम ने गंभीरता से लेते हुए दोनों पीएचसी के गैरहाजिर कार्मिकों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने के लिए बीसीएमओ को निर्देश दिए। एसडीएम ने बताया कि दोनों पीएचसी पीपीपी मोड पर संचालित की जा रही है। पीएचसी पर बच्चों को लगने वाले इंजेक्शन अवधि पार मिले। इस पर एसडीएम ने बीसीएमओ और जिला कलेक्टर को लिखित में जानकारी देकर कठोर कार्रवाई की अनुशंसा की है।

कुशलगढ़. रामगढ़ पीएचसी का निरीक्षण करते एसडीएम जयवीर सिंह कालेर।

कुशलगढ़ के टिमेड़ा बड़ा पीएचसी में मिले अवधि पार इंजेक्शन।