Hindi News »Rajasthan »Kushalgarh» तहसीलदार-थानेदार को एक दिन पहले पता था, फिर भी विवादित जमीन पर दफनाया शव

तहसीलदार-थानेदार को एक दिन पहले पता था, फिर भी विवादित जमीन पर दफनाया शव

सज्जनगढ़. शव का दफनाने के बाद तहसीलदार से चर्चा करते मृतक के परिजन। बाद में चेते तो नकल निकलवाई, अब केस वागजी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 23, 2018, 05:10 AM IST

तहसीलदार-थानेदार को एक दिन पहले पता था, फिर भी विवादित जमीन पर दफनाया शव
सज्जनगढ़. शव का दफनाने के बाद तहसीलदार से चर्चा करते मृतक के परिजन।

बाद में चेते तो नकल निकलवाई, अब केस

वागजी के शव को दफन कर देने के बाद पुलिस और प्रशासन हरकत में आया और विवादित जमीन की नकल निकलवाई गई। जिस पर सामने आया कि मौजूदा विवादित जमीन चतुरी प|ी जोरजी कटारा के खाते में है। इसके बाद अपने बचाव में औपचारिकता के लिए पुलिस ने जमीन में अनाधिकृत प्रवेश के आरोप में 12 जनों के खिलाफ केस दर्ज किया। थानाधिकारी रामेश्वरलाल ने बताया कि विवादित जमीन पहले वागजी की थी। दोनों पक्षों में जमीन को लेकर विवाद है।

रिकॉर्ड में जमीन की मालिक चतुरी है

जहां पर मृतक का शव दफनाया गया वह मौजूदा राजस्व रिकॉर्ड अनुसार चतुरी प|ी जोरजी कटारा के नाम से पंजीकृत है। लेकिन मृतक के परिवारजनों का कहना है कि उन्होंने जमीन चतुरी को बेची नहीं है। - पूंजीलाल, पटवारी, हल्का मगरदा डामरासाथ

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kushalgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×