• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Kushalgarh News
  • जन बाहर, संवाद अंदर क्योंकि नेताओं ने भीड़ बुला ली, जबकि चुनिंदा से मिलना था
--Advertisement--

जन बाहर, संवाद अंदर क्योंकि नेताओं ने भीड़ बुला ली, जबकि चुनिंदा से मिलना था

भास्कर संवाददाता|बांसवाड़ा/कुशलगढ़ कुशलगढ़ में हुए मुख्यमंत्री के जनसंवाद कार्यक्रम में प्रशासन और स्थानीय...

Dainik Bhaskar

May 29, 2018, 05:15 AM IST
जन बाहर, संवाद अंदर क्योंकि नेताओं ने भीड़ बुला ली, जबकि चुनिंदा से मिलना था
भास्कर संवाददाता|बांसवाड़ा/कुशलगढ़

कुशलगढ़ में हुए मुख्यमंत्री के जनसंवाद कार्यक्रम में प्रशासन और स्थानीय भाजपा नेताओं की ओर से की गई व्यवस्थाओं ने लोगों को काफी निराश किया। इस कार्यक्रम को जनसंवाद नाम दिया लेकिन आम जनता को इससे दूर रखा गया। महज पार्टी कार्यकर्ता और कुशलगढ़ कस्बे के कुछ चुनिंदा नागरिक ही मुख्यमंत्री से मिल सके। जिन्होंने अपनी ओर अपने क्षेत्र की समस्या रखी और समाधान मांगा। बाहर लोग सुबह से धूप में खड़े रहे। मुख्यमंत्री अपने तय से एक घंटा देरी से कुशलगढ़ पहुंची, लेकिन स्थानीय सरपंचों और पार्टी पदाधिकारियों के कहने पर लोग सुबह 7 बजे से ही जनसंवाद केंद्र पहुंचना शुरू हो गए। लेकिन उन्हें नही पता था कि अंदर जाने की इजाजत महज पार्टी कार्यकर्ता और कस्बे के प्रमुख लोगों को ही थी। ऐसे में स्थानीय सहित दूर दराज के गांवों से लोग 45 डिग्री तापमान में भी बाहर खड़े रहे। घंटों इंतजार के बाद लोगों को उम्मीद थी कि कम से कम खाना तो मिलेगा, लेकिन वहां पहुंचे तो यह कहकर निकाल दिया कि उनके पास कार्ड नही है।

सरकार की गिनाई उपलब्धियां

मुख्यमंत्री ने ज्यादातर समय सरकार की उपलब्धियां ही गिनाई। उन्होंने कहा कि राजस्थान देश का पहला ऐसा राज्य है जहां हम एक साथ पांच मेडिकल कॉलेज शुरू करने जा रहे हैं। डूंगरपुर में खुलने वाले मेडिकल कॉलेज का फायदा बांसवाड़ा और प्रतापगढ़ को भी मिलेगा। राजे ने जोगणिया माता धाम में पूजा-अर्चना करने के बाद मंदिर के विकास के लिए 10 लाख देने की घोषणा की। जोगणिया माता मंदिर में पंडित दीपेश भट्ट एवं गजेन्द्र त्रिवेदी ने विधिवत मंत्रोच्चार के साथ पूजा सम्पन्न करवाई। 75 संतों के पांव छूकर आशीर्वाद लिया।

पानी, राशन की समस्या लेकर आए




कुशलगढ़ में शहीद भगतसिंह बस स्टैंड पर पूर्व महाराजा हरेंद्र सिंह की मूर्ति के अनावरण के मौके पर सीएम का स्वागत करते लोग।

कुशलगढ़ में शहीद भगतसिंह बस स्टैंड पर पूर्व महाराजा हरेंद्र सिंह की मूर्ति के अनावरण के मौके पर सीएम का स्वागत करते लोग।

सीएम आज आनंदपुरी में-मालवीया को यहीं से लीड मिली थी

मुख्यमंत्री दोपहर 11 बजे बागीदौरा विधानसभा क्षेत्र के आनंदपुरी में जनसंवाद कार्यक्रम में पार्टी पदाधिकारी और संभ्रात नागरिकों से बात करेंगी। आनंदपुरी को जनसंवाद के लिए चुनने के पीछे कई कारण हो सकते हैं लेकिन एक कारण यह भी हो सकता है कि यह पूर्व मंत्री और विधायक महेन्द्रजीतसिंह मालवीया की गृह पंचायत हैं। इतना ही नहीं पिछले विधानसभा चुनाव में मोदी लहर के बाद भी न केवल मालवीया जीते बल्कि आनंदपुरी से ही सबसे अधिक लीड करीब 15000 वोट की ली थी। उस समय मुख्यमंत्री और गुलाबचंद कटारिया ने यहां पर जनसभा कर मालवीया पर तगड़े प्रहार भी किए थे। बागीदौरा में उनको कम वोट मिले थे। यहां पर भाजपा आगे रही थी। राजनीतिक हल्कों में इस कार्यक्रम को एक बार फिर मालवीया की घेराबंदी की शुरुआत माना जा रहा है। भाजपा में दावेदार को लेकर संशय बना हुआ है।

किसानों को मिलेगी पूरी बिजली, सरपंचों से फोन पर जानी राय

जनसंवाद के दौरान कुछ आदिवासी किसानों ने बिजली आपूर्ति में ट्रिपिंग की शिकायत की। इस पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को सरपंचों की लिस्ट थमाई और कहा कि वे सरपंचों से मोबाइल पर बात कर इस क्षेत्र में हो रही विद्युत आपूर्ति का फीडबैक लें। इस पर झीकली, वसूनी, रोहानिया तथा नवागांव के सरपंचों से फोन कर पूछा गया कि उन्हें कितनी बिजली मिल रही है। सरपंचों ने बताया कि उनके क्षेत्र में 6 घंटे तक थ्री-फेज तथा 20 से 22 घंटे तक सिंगल फेज बिजली मिल रही है। इस अवसर पर राज्यमंत्री धनसिंह रावत, संसदीय सचिव भीमा भाई, सांसद मानशंकर निनामा, अनुसूचित जनजाति आयोग की अध्यक्ष प्रकृति खराड़ी, संभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा, आईजी आनंद श्रीवास्तव, कलेक्टर भगवती प्रसाद व एसपी कालूराम रावत आदि मौजूद थे।

भास्कर ने बताया, ऐसे बनेंगे हमारे टापू, सीएम ने सराहा

मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन और सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा जिले में राज्य सरकार के कार्यकाल की उपलब्धियों पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन किया। बांसवाड़ा के टापुओं के विकास के लिए मुख्यमंत्री ने 10 करोड़ रुपए का बजट दिया है। इस पर भास्कर ने सबसे पहले बताया था कि काम होने के बाद टापू कैसे नजर आएगा। यह फोटो भी प्रदर्शनी में लगा। मुख्यमंत्री ने इसे देखा और सराहा। कलेक्टर भगवतीप्रसाद ने विकास की योजना बताई।

जन बाहर, संवाद अंदर क्योंकि नेताओं ने भीड़ बुला ली, जबकि चुनिंदा से मिलना था
जन बाहर, संवाद अंदर क्योंकि नेताओं ने भीड़ बुला ली, जबकि चुनिंदा से मिलना था
X
जन बाहर, संवाद अंदर क्योंकि नेताओं ने भीड़ बुला ली, जबकि चुनिंदा से मिलना था
जन बाहर, संवाद अंदर क्योंकि नेताओं ने भीड़ बुला ली, जबकि चुनिंदा से मिलना था
जन बाहर, संवाद अंदर क्योंकि नेताओं ने भीड़ बुला ली, जबकि चुनिंदा से मिलना था
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..