• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kushalgarh
  • थड़ी पर चाय पी और बोला- अब जीकर क्या करूंगा, जयसमंद झील में कूदा, मौत
--Advertisement--

थड़ी पर चाय पी और बोला- अब जीकर क्या करूंगा, जयसमंद झील में कूदा, मौत

कुशलगढ़। कस्बे के एक युवक ने सेामवार को जयसमंद झील में कूदकर खुदकुशी कर ली। युवक 3 तीन से लापता था। परिजनों को बिना...

Dainik Bhaskar

Jul 11, 2018, 05:25 AM IST
थड़ी पर चाय पी और बोला- अब जीकर क्या करूंगा, जयसमंद झील में कूदा, मौत
कुशलगढ़। कस्बे के एक युवक ने सेामवार को जयसमंद झील में कूदकर खुदकुशी कर ली। युवक 3 तीन से लापता था। परिजनों को बिना बताए बाइक लेकर निकल गया था। छलांग लगाने से पहले युवक ने एक थड़ी पर चाय पी और चाय वाले से यह बोला कि अब वह जीकर क्या करेगा। इसके बाद झील में कूद गया। खुदकुशी की वजह तो साफ नहीं है लेकिन बताया जा रहा है कि युवक ने कुछ दिन पहले ही एक भोजनालय खोला था और करीब 15 दिनों से तनाव में था। दोपहर करीब डेढ़ बजे शव निकाला जा सका।

मृतक 30 वर्षीय लोकेंद्रसिंह पुत्र महेंद्र राणावत 3 दिन पहले बाइक लेकर घर से निकला था। जससमंद में ही उसकी मौसी भी रहती है। सोमवार दोपहर 11 बजे झील के पास एक थड़ी वाले से चाय पी। बाद में यह बोलाकर कि अब वह जीकर क्या करेगा, झील में छलांग लगा दी। इत्तला पर सराड़ा थानाधिकारी रतनसिंह, जयसमंद चौकी प्रभारी राजेंद्र मीणा दल के साथ मौके पर पहुंचे और स्थानीय गोताखोरों से शव तलाशने की कोशिश की लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। मंगलवार को एसडीआरएफ की टीम पहुंची और दोपहर करीब 1:30 बजे शव को बाहर निकाला जा सका। परिजनों ने बताया कि लोकेंद्रसिंह के पिता का सालों पहले देहांत हो गया। वह मंझला है। उसका एक बड़ा भाई है और छोटी बहन है। मां थाने के सामने अपने ही मकान में चाय की थड़ी लगाकर परिवार का गुजर बसर करती है।

X
थड़ी पर चाय पी और बोला- अब जीकर क्या करूंगा, जयसमंद झील में कूदा, मौत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..