Hindi News »Rajasthan »Kushalgarh» पुलिस कर्मियों के हाथों में लट्‌ठ देख मकान और दुकान में मौजूद सटोरिए टॉयलेट और सीढ़ियों के नीचे छिपे, 17 पकडे़

पुलिस कर्मियों के हाथों में लट्‌ठ देख मकान और दुकान में मौजूद सटोरिए टॉयलेट और सीढ़ियों के नीचे छिपे, 17 पकडे़

भास्कर संवाददाता | बांसवाड़ा शहर की रिहायशी कॉलोनी सुभाष नगर में बुधवार दोपहर पुलिस ने एक घर और उसके सामने स्थित...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 17, 2018, 06:20 AM IST

  • पुलिस कर्मियों के हाथों में लट्‌ठ देख मकान और दुकान में मौजूद सटोरिए टॉयलेट और सीढ़ियों के नीचे छिपे, 17 पकडे़
    +1और स्लाइड देखें
    भास्कर संवाददाता | बांसवाड़ा

    शहर की रिहायशी कॉलोनी सुभाष नगर में बुधवार दोपहर पुलिस ने एक घर और उसके सामने स्थित दुकान पर दबिश देकर 17 सट्टेबाजों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने दाव पर लगाए 20 हजार कैश और 15 मोबाइल भी जब्त किए है। हैरानी की बात यह है कि आबादी वाले इलाके के बीच 3 कमरे वाले मकान को सट्टा क्लब बना रखा था। पुलिस ने जिस अलमारी को खोला उसमें से सट्टे की पर्चियां निकली। कुछ दिन पहले भी पुलिस इसी जगह कार्रवाई कर चुकी थी लेकिन थोड़े ही दिनों में दोबारा सट्टा शुरू हो गया। जहां यह सट्टा क्लब चल रहा था वहां से राजतालाब पुलिस चाैकी महज कुछ ही दूरी पर है। ऐसे में चौकी पुलिस की भी मिलीभगत की आशंका है।

    दोपहर बजे कोतवाल शैतानसिंह हाथों में लट्‌ठ लिए पुलिस दल के साथ सुभाष नगर स्थित बड़ के पेड़ के पास पहुंचे। सभी पुलिस कर्मी सादे कपड़ों में थे। पुलिस ने पहले एक मकान की घेराबंदी की। जैसे ही पुलिस दल ने घर के भीतर दबिश दी तो दाव लगा रहे सट्टेबाज इधर-उधर भागने लगे। 3 सट्टेबाज टॉयलेट में जा छिपे तो 2 ने खुद को सीढिय़ों के नीचे छिपा लिया। लेकिन पुलिस ने ताबड़तोड़ सभी को पकड़ एक कमरे में बिठा दिया। हालांकि कुछ बदमाश पुलिस को भी चकमा देकर भाग निकले। इसी दौरान सामने से एक दुकान का शटर खोला तो उसमें भी सट्टे की पर्चियां काटने वाले बदमाश मिले। हाथों में लट्ठ लेकर पुलिस के सट्टेबाजों के पीछे भागते देख मौके पर अफरा-तफरी मच गई। सुभाष नगर निवासी रवि हरिजन, पवन यादव, इंदिरा कॉलोनी का गफ्फर खान, होली चौक निवासी विक्रम चौहान, सुंदनपुर गांव निवासी देवचंद मईड़ा, तेलीवाड़ा पृथ्वीगंज निवासी बाबर खान, वाडिया कॉलोनी निवासी नानूराम गवारिया, रवि बंजारा, मोतीराम गोस्वामी, विनोद टॉकीज के समीप रहने वाला बंसीलाल यादव, महावीर कॉलोनी निवासी राजू हरिजन, हुसैनी चौक निवासी मोहम्मद अली, खांदू कॉलोनी निवासी रणजीतसिंह, डागला निवासी प्रभु डोडियार, अंबा छवि कॉलोनी के पीछे रहने वाला मोहनसिंह राजपूत और बाबा बस्ती के सोनू हरिजन को गिरफ्तार किया।

    बांसवाड़ा. कार्रवाई के दौरान सादी वर्दी में लट्‌ठ लेकर खड़े पुलिसकर्मी।

    कुशलगढ़ में ऑनलाइन सट्‌टा, मकान मालिक हिरासत में

    कुशलगढ़| नगर के वार्ड नम्बर दो टिमेडा बस स्टेण्ड डबगर वाली गली में पुलिस ने एक घर पर छापा मार कर आॅनलाइन सटटा पकड़ा। हालांकि पुलिस के आने से पहले ही स्टोरिए भाग गए। बुधवार रात को कुशलगढ निवासी किर्ती पिता भगवती सोनी के मकान में मध्यप्रदेश के रतलाम के लोगों की ओर से सट‌टा लगाए जाने की जानकारी मिली थी।

    पुलिस को विभिन्न कम्पनियों के 8 मोबाईल,11 केल्युलेटर,6 डायरी आदि मिली। पुलिस ने कीर्ति सोनी को हिरासत में ले लिया। कुशलगढ थाना द्विीतय अधिकारी कीरेन्द्रसिंह ने बताया कि आईपीएल मैच पर सट्टा लगाया जा रहा था। सटोरियों के भागने से पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठे हैं।

    कुछ दिन पहले ही थी कार्रवाई, फिर जमे सट्टेबाज

    पुलिस ने कुछ दिन पहले इसी जगह एक केबिन की तलाशी ली थी। जिसमें से बड़ी मात्रा में सट्टे की पर्चियां मिली थी। पुलिस ने 2 सट्टेबाज भी धरे थे। कोतवाल ने बताया कि इस सट्टा क्लब काे नानूराम गवारिया चला रहा था। इसके खिलाफ पहले भी पुलिस कार्रवाई कर चुकी है। इनमें से कुछ सट्टा खेल रहे थे तो कुछ दुकान पर पर्चियां काट रहे थे। मकान में काउंटर बना रखा था और उधार नहीं मांगने के लेबल लगा रखे थे। सट्टे का टाइम-टेबल भी लिखा था। मतलब, एक क्लब की तरह बड़े स्तर पर सट्टा ऑपरेट किया जा रहा था। वहीं चौकी के पास इतना बड़ा सट्टाघर चलने से पुलिस की मिलीभगत की आशंका भी गहरा गई है।

    बरामद किए गए मोबाइल, कैलकुलेटर और अन्य सामग्री ।

  • पुलिस कर्मियों के हाथों में लट्‌ठ देख मकान और दुकान में मौजूद सटोरिए टॉयलेट और सीढ़ियों के नीचे छिपे, 17 पकडे़
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kushalgarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×