• Home
  • Rajasthan News
  • Ladnu News
  • लाडनूं के 2 घरों में फेंका तेजाब, 4 झुलसे, तीन कांस्टेबलों के कपड़े भी जले, एएसआई दूर थे बच गए, एक गिरफ्तार
--Advertisement--

लाडनूं के 2 घरों में फेंका तेजाब, 4 झुलसे, तीन कांस्टेबलों के कपड़े भी जले, एएसआई दूर थे बच गए, एक गिरफ्तार

शहर के मालियों के मोहल्ले में शुक्रवार रात को पुरानी रंजिश के चलते चार हमलावरों ने दो मकानों में रहने वाले लोगों...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 05:10 AM IST
शहर के मालियों के मोहल्ले में शुक्रवार रात को पुरानी रंजिश के चलते चार हमलावरों ने दो मकानों में रहने वाले लोगों पर तेजाब फेंक जानलेवा हमला किया। हमले में दो महिलाओं समेत दो पुरुष घायल हो गए। चौंकाने वाली बात यह रही कि पुलिस की मौजूदगी में हमलावरों ने एसिड फेंका,इस दौरान तीन पुलिसकर्मियों की वर्दी भी कई जगह से जल गई।

घायल गोगराज सांखला ने रिपोर्ट दी कि शुक्रवार रात 10 बजे उसके घर पर रामनिवास तंवर, महेश, भवानी शंकर व कुलदीप तंवर कार व बाइक लेकर आए। हाथों में चाकू व तेजाब की बोतलें थी। परिजनों के साथ मारपीट कर आरोपियों ने पिता जगदीश सांखला (75) पर तेजाब फेंका। बचाने आए तो गोगराज पर भी तेजाब फेंका। पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस की मौजूदगी में भी आरोपियों ने तेजाब फेंका। कांस्टेबल शकील व 2 अन्य पुलिसकर्मियों के शर्ट व पेंट भी जल गए। हमलावर वहां से भागे व मालियों का बास में सोहनलाल माली व अनोपचंद माली के घर में घुस वहां भी तेजाब से हमला किया, जिससे केशर देवी व मंजू देवी घायल हो गई। देर रात आरोपियों की गिरफ्तारी बताई।



पुलिस: दिनभर मना किया, रात को थानेदार बोले- हां तीन कांस्टेबलों की वर्दी जली

हालात: बुजुर्ग को भी नहीं बख्शा

लाडनूं. हमले में तेजाब से जले 75 साल के जगदीश।

वजह: सख्ती नहीं की, इसलिए हिम्मत बढ़ती गई

भवानी व गोगराज के परिवारों में 5 दिन से विवाद चल रहा था। भवानी ने रिपोर्ट में इसका उल्लेख भी किया। रिपोर्ट में कहा कि रामनिवास के साथ गुरुवार को भी मारपीट हुई थी। बावजूद इसके पुलिस ने दोनों पक्षों को पाबंद नहीं किया। उधर इस मामले में मोहल्ले के काफी लोगों ने रामनिवास तंवर व उसके भाई के खिलाफ पुलिस को तीन दिन पहले रिपोर्ट देकर परेशान करने का आरोप लगाया था। इससे पहले आरोपी रामनिवास को कंडक्टर के साथ विवाद करने पर एसडीएम ने छह माह के लिए पाबंद भी किया था। इसके बावजूद उसकी हिम्मत बढ़ी। घटनास्थल पर भी पुलिसकर्मियों की मौजूदगी के बावजूद आरोपियों ने तेजाब छिड़कना जारी रखा।

शुक्रवार रात को जैसे ही घटना की सूचना मिली। जाब्ता भेजा। तीन पुलिसकर्मियों के कपड़ों पर तेजाब के छींटे पड़े। एएसआई भी झुलस जाते मगर दूर थे, रात को दोनों पिता-पुत्र को शांतिभंग में पकड़ा था अब पिता रामनिवास को गिरफ्तार किया है।

-भजनलाल, थानाधिकारी लाडनूं

आक्रोश: अस्पताल में बयान देते लोग

लोगों ने कहा, पहले एक्शन लेते तो घटना नहीं होती।

दूसरे पक्ष की रिपोर्ट भी ली

लाडनूं थाने में भवानीशंकर तंवर की तरफ से भी रिपोर्ट ली गई है। रिपोर्ट में भवानी ने बताया कि केसरी, मुकेश सांखला व रतनलाल सांखला ने कमल चौक में उस पर हमला किया। साथ में जगदीश, केसर, मंजू, गोगाराम, गजराज व अन्य लोग शामिल थे। रिपोर्ट में बताया कि वह दो बार बेहोश हुआ। हालांकि देर शाम को पुलिस ने कहा कि इस मामले में जांच की जा रही है। थानाधिकारी भजनलाल ने कहा कि रामनिवास को पहले शांति भंग में अब एसिड अटैक के आरोप में पकड़ा है। उधर दोनों घायलों मंजू देवी व जगदीश की हालत चिंताजनक बनी हुई है। दोनों का बीकानेर में इलाज चल रहा है। इस घटना के बाद लोगों ने अस्पताल में भी पुलिस के समक्ष नाराजगी जताई।

दो गंभीर बीकानेर रेफर

एसिड अटैक में बुजुर्ग जगदीश व मंजू देवी गंभीर घायल हुए हैं। दोनों को बीकानेर रेफर किया गया है। पुलिस ने घटना स्थल से ही रामनिवास व उसके भाई को पकड़ा था। पुलिस ने मौके से चाकू व तेजाब की बोतलें जब्त की थी। शनिवार को दिनभर यह कहा गया कि कोई पुलिसकर्मी जख्मी नहीं हुआ। मामला बढ़ा तो रात को थानेदार भजनलाल ने कहा कि तीन कांस्टेबल व एक एएसआई झुलसने से बच गए थे।