• Home
  • Rajasthan News
  • Ladnu News
  • लाडनूं में व्याख्यान, वक्ता बोले - देश में शोध का स्तर गिरना चिंताजनक, पूर्व तैयारी जरूरी
--Advertisement--

लाडनूं में व्याख्यान, वक्ता बोले - देश में शोध का स्तर गिरना चिंताजनक, पूर्व तैयारी जरूरी

जैन विश्व भारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में शोध-अध्येताओं के लिए कोर्स वर्क एंड रिसर्च मैथडोलॉजी पर...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 05:05 AM IST
जैन विश्व भारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में शोध-अध्येताओं के लिए कोर्स वर्क एंड रिसर्च मैथडोलॉजी पर व्याख्यान का आयोजन किया गया। संस्थान के शोध निदेशक प्रो. अनिल धर की अध्यक्षता में आयोजित इस कार्यक्रम में जोधपुर के जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय के समाज शास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. केएन व्यास ने व्याख्यान प्रस्तुत किया। उन्होंने शोध में पुनरावृति नहीं होने देने को जरूरी बताते हुए कहा कि रिसर्च में कॉपी एंड पेस्ट की आदत भी ठीक नहीं है। प्लेगेरिज्म का होना एक अपराध है, इसलिए इससे बचना चाहिए तथा जो उद्धरण लिया जा रहा है, उसका रेफरेंस अवश्य उल्लेख करना चाहिए।

प्रो. व्यास ने देश में शोध के गिरते स्तर पर चिंता व्यक्त की। शोध के स्तर को उच्च बनाने के लिए उन्होंने शोधार्थियों के लिए पूर्व तैयारी को आवश्यक बताया। उन्होंने शोध का अर्थ बताते हुए कहा कि इसमें नए तथ्यों की खोज, पुराने तथ्यों का पुनर्परीक्षण और कार्य-कारण के अन्तर्सम्बंधों का पता लगाना समाहित है। शोध के लिए विषय की खोज में जरूरी है कि विषय नया, रूचिकर और उत्तरदाताओं से सीधा संबंधित हो। उपकल्पना उपलब्ध प्रविधियों, साधनों के अनुकूल हो, जिसमें टूल एंड टेक्निक का उपयोग हो सके तथा वह वैज्ञानिक सिद्धांत के अनुकूल भी हो। इस अवसर पर डाॅ. रविन्द्र सिंह, डाॅ. जसबीर सिंह एवं शोधार्थी मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन डाॅ. जुगल किशोर ने किया।

लाडनूं. जैविभा विश्वविद्यालय में शोध अध्येताओं के लिए व्याख्यान में मौजूद अतिथि।