• Hindi News
  • Rajasthan
  • Ladnu
  • लाडनूं की कच्ची बस्ती; यहां पानी आने से पहले लग जाती हैं कतारें, 300 घरों में कनेक्शन नहीं, सार्वजनिक नल ही सहारा
--Advertisement--

लाडनूं की कच्ची बस्ती; यहां पानी आने से पहले लग जाती हैं कतारें, 300 घरों में कनेक्शन नहीं, सार्वजनिक नल ही सहारा

Dainik Bhaskar

Jun 02, 2018, 05:05 AM IST

Ladnu News - शहर के बीच में से निकलने वाले एनएच 65 पर स्थित गणगौर होटल के पीछे स्थित करीब 350 घरों की कच्ची बस्ती में पानी की बड़ी...

लाडनूं की कच्ची बस्ती; यहां पानी आने से पहले लग जाती हैं कतारें, 300 घरों में कनेक्शन नहीं, सार्वजनिक नल ही सहारा
शहर के बीच में से निकलने वाले एनएच 65 पर स्थित गणगौर होटल के पीछे स्थित करीब 350 घरों की कच्ची बस्ती में पानी की बड़ी समस्या है। यहां करीब 300 घरों में नल का कनेक्शन नहीं होने से इस क्षेत्र की अधिकांश आबादी सार्वजनिक नल पर ही निर्भर है। क्षेत्र में कुल 4 पीएसपी लगी हुई है। जिनमें 4-5 दिनों के अंतराल से पानी आता है और पानी आने से पहले ही वहां लोगों की लाइनें लग जाती है।

इस क्षेत्र के लोगों का कहना है कि पानी की कनेक्शन लेने के लिए उन्हें नगरपालिका अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) नहीं देती है। कहा जाता है कि वे सब अवैध रूप से बसे हुए हैं। इस कालोनी में अधिकांश लोगों के पास अपने घरों के पट्टे बने हुए नहीं है। इसी कारण जलदाय विभाग उन्हें पानी के कनेक्शन नहीं देता है। इस क्षेत्र में नगरपालिका ने गाड़िया लुहारों को बसाया था। जिन्हें पट्टे भी नगरपालिका द्वारा जारी किए गए थे, लेकिन उनके अलावा भी काफी गाड़िया लुहार व अन्य जातियों के लोग वहां बिना पट्टे के ही बसे हुए हैं। इस क्षेत्र में आधारभूत सुविधाएं जुटाना नगरपालिका व सरकार का काम है। लेकिन इन लोगों की कोई सुनवाई नहीं की जा रही है। चंपा, बुधी, काली, लाली, कविता, सुखी, पालकी आदि इस क्षेत्र के लोगों का कहना है कि या तो उनके घरों में पानी के कनेक्शन दिए जाए अथवा इस क्षेत्र में पानी के सार्वजनिक नलों की संख्या बढ़ाकर पर्याप्त की जाए। जिससे पानी को लेकर होने वाले अापसी लड़ाई-झगड़े बंद हो और पानी भरने में उन्हें आसानी रहे।

बस्ती में लगी पीएसपी में चार-पांच दिन के अंतराल से होती है पानी की सप्लाई

लाडनूं. कच्ची बस्ती में सार्वजनिक नल पर पानी भरने के लिए लगी महिलाओं की कतारें।

अधिकारी सुनते नहीं: पार्षद

इस क्षेत्र के पार्षद शिवकरण रैगर ने सार्वजनिक नल कनेक्शन की संख्या बढ़ाने की मांग की और यहां की समस्या को संबंधित प्रशासनिक अधिकारियों तक पहुंचाया। लेकिन किसी ने इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया। समस्या जस की तस बनी हुई है। पार्षद शिवकरण का कहना हैं कि इन कच्ची बस्ती के लोगों पर किसी का कोई ध्यान नहीं है।

X
लाडनूं की कच्ची बस्ती; यहां पानी आने से पहले लग जाती हैं कतारें, 300 घरों में कनेक्शन नहीं, सार्वजनिक नल ही सहारा
Astrology

Recommended

Click to listen..