• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Ladnu News
  • गनोड़ा में ठेके के सेल्समैन की गोली मार की थी हत्या, आनंदपाल के 2 भाइयों सहित 7 को उम्रकैद
--Advertisement--

गनोड़ा में ठेके के सेल्समैन की गोली मार की थी हत्या, आनंदपाल के 2 भाइयों सहित 7 को उम्रकैद

सात साल पहले गनोड़ा में शराब के ठेके पर सेल्समैन राकेश कुमार जाट की गोली मार हत्या के मामले में सात दोषियों को...

Dainik Bhaskar

Jun 08, 2018, 05:10 AM IST
गनोड़ा में ठेके के सेल्समैन की गोली मार की थी हत्या, आनंदपाल के 2 भाइयों सहित 7 को उम्रकैद
सात साल पहले गनोड़ा में शराब के ठेके पर सेल्समैन राकेश कुमार जाट की गोली मार हत्या के मामले में सात दोषियों को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। इनमें आनंदपाल के भाई रूपेंद्र पाल सिंह उर्फ विक्की और मंजीत सिंह भी शामिल हैं। हालांकि, कोर्ट के आदेश में यह लिखा है कि रूपेंद्र पाल के फरार होने के कारण इस मामले में उसकी विचारणा नहीं की गई है। जिन सात आरोपियों को सजा सुनाई है। उनमें रामसिंह पुत्र रिछपाल सिंह निवासी परावा (सुजानगढ़), मंजीत सिंह पुत्र हुकम सिंह रावणा राजपूत निवासी सांवराद (लाडनूं), मोंटी सिंह उर्फ महिपाल सिंह पुत्र किरणसिंह राजपूत निवासी बिचावा (डीडवाना), कैलाशदान उर्फ केडी चारण पुत्र सवाईदान निवासी लाडनूं, महावीर सिंह पुत्र जीवराज सिंह राजपूत निवासी परावा (बीदासर), प्रताप सिंह पुत्र टंवर सिंह उर्फ तंवर सिंह राजपूत निवासी पांडोराई (लाडनूं) और छोट सिंह पुत्र नारायण सिंह निवासी परावा शामिल हैं। अपर सेशन न्यायाधीश सुजानगढ़ रामपाल ने दोषियों पर 10-10 हजार अर्थदंड भी लगाया।

भास्कर संवाददाता | लाडनूं

सात साल पहले गनोड़ा में शराब के ठेके पर सेल्समैन राकेश कुमार जाट की गोली मार हत्या के मामले में सात दोषियों को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। इनमें आनंदपाल के भाई रूपेंद्र पाल सिंह उर्फ विक्की और मंजीत सिंह भी शामिल हैं। हालांकि, कोर्ट के आदेश में यह लिखा है कि रूपेंद्र पाल के फरार होने के कारण इस मामले में उसकी विचारणा नहीं की गई है। जिन सात आरोपियों को सजा सुनाई है। उनमें रामसिंह पुत्र रिछपाल सिंह निवासी परावा (सुजानगढ़), मंजीत सिंह पुत्र हुकम सिंह रावणा राजपूत निवासी सांवराद (लाडनूं), मोंटी सिंह उर्फ महिपाल सिंह पुत्र किरणसिंह राजपूत निवासी बिचावा (डीडवाना), कैलाशदान उर्फ केडी चारण पुत्र सवाईदान निवासी लाडनूं, महावीर सिंह पुत्र जीवराज सिंह राजपूत निवासी परावा (बीदासर), प्रताप सिंह पुत्र टंवर सिंह उर्फ तंवर सिंह राजपूत निवासी पांडोराई (लाडनूं) और छोट सिंह पुत्र नारायण सिंह निवासी परावा शामिल हैं। अपर सेशन न्यायाधीश सुजानगढ़ रामपाल ने दोषियों पर 10-10 हजार अर्थदंड भी लगाया।

चार दोषियों के जमानत मुचलके किए निरस्त

छोट सिंह, केडी चारण, महावीर सिंह और प्रताप सिंह जमानत पर रिहा हैं। कोर्ट ने उनके जमानत मुचलके निरस्त कर न्यायिक अभिरक्षा में लेने के आदेश दिए। मृतक राकेश के आश्रितों को पीड़ित प्रतिकर योजना के तहत प्रतिकर दिलवाए जाने की अनुशंसा करते हुए फैसले की प्रति जिला विधिक सेवा प्राधिकरण को भिजवाई है। अपर लोक अभियोजक कुम्भाराम आर्य ने बताया कि बहुचर्चित गनोड़ा हत्याकांड मामले में 2011 में आनंदपाल और उसके साथियों ने शराब ठेके के सेल्समैन राकेश की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उसके भाई रामनारायण ने मामला दर्ज करवाया था।

X
गनोड़ा में ठेके के सेल्समैन की गोली मार की थी हत्या, आनंदपाल के 2 भाइयों सहित 7 को उम्रकैद
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..