• Home
  • Rajasthan News
  • Lalsot News
  • बिजली लाइन शिफ्टिंग में ठेकेदार पर भेदभाव का आरोप, ग्रामीणों की नारेबाजी
--Advertisement--

बिजली लाइन शिफ्टिंग में ठेकेदार पर भेदभाव का आरोप, ग्रामीणों की नारेबाजी

भास्कर न्यूज | दौसा ग्रामीण शनिवार को फोरलेन निर्माण के दौरान बिजली लाइन शिफ्टिंग में ठेकेदार द्वारा बरती जा...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 05:10 AM IST
भास्कर न्यूज | दौसा ग्रामीण

शनिवार को फोरलेन निर्माण के दौरान बिजली लाइन शिफ्टिंग में ठेकेदार द्वारा बरती जा रही अनियमितता के खिलाफ दौसा-लालसोट मार्ग पर जोशी की कोठी पर लोगों ने नारेबाजी कर विरोध जताया।

रामवतार, रामनाथ आदि ने बताया कि फोरलेन निर्माण कम्पनी की और से सड़क निर्माण के लिए अधिग्रहण की गई भूमि पर सड़क निर्माण के बाद 20.50 मीटर पर पानी निकासी के लिए नालों का निर्माण कराया जाना साइड प्लान में प्रस्तावित है। उसके बाद 22.50.23 मीटर पर बिजली के पोल गाडकर लाइन शिफ्टिंग के लिए ठेकेदार के साथ कम्पनी ने करार किया गया है। लेकिन ठेकेदार ने नियम विरुद्ध व बिना साइड प्लान के पैसा लेकर कहीं 21 मीटर पर तो दूसरी और 24 मीटर पर खातेदारी भूमि में खंभे गाड़ दिए। इसका विरोध करने पर ठेकेदार सहित पीएनसी के अधिकारी ग्रामीणों को उनके खिलाफ पुलिस कार्रवाई की धमकी दे रहे है।

हां, लोगों के कहने पर गाड़े पोल, प्लानानुसार गलत : ठेकेदार

दौसा (ग्रामीण). पीएनपी ठेकेदार द्वारा खींची गई बिजली लाइन।

ऐसे करना था कार्य : सड़क निर्माण के लिए 46 मीटर भूमि अधिग्रहण की गई है। प्लान नुसार 20.50 मीटर के बाद 22/23 मीटर पर बिजली के पोल गाडकर लाइन शिफ्टिंग प्लान में दर्शा रखा है। लेकिन कृष्णा होटल के बराबर ठेकेदार द्वारा 24 मीटर पर खातेदारी भूमि में पोल गाडकर लाइन खींच दी। वहीं उसके सामने ठेकेदार ने पैसा लेकर नियम विरुद्ध व बिना साइड प्लान के 22 मीटर की जगह 21 मीटर पर ही पोल गाडकर पूरी लाइन के खंभों को घुमा दिए। ग्रामीणों ने बताया कि ठेकेदार ने 33 केवी लाइन पर बिजली निगम की बिना अनुमति बिना नियम विरुद्ध घरेलू बिजली लाइन के तार खींच दिए। बिजली निगम के जेईएन का कहना है कि नियमों के विपरीत यदि ठेकेदार ने लाइन खींची है तो गलत है। अभी निगम ने लाइन हैंडओवर नहीं की है। यदि लाइन साइड प्लान के अनुसार नहीं है तो विभाग ठेकेदार को एनओसी नहीं देगा। पीएनसी कम्पनी के अधिकारी ने बताया कि प्लान के अनुसार लाइन नहीं खीचीं गई है तो ठेकेदार का भुगतान रोक दिया जाएगा।

ठेकेदार अजीत सिंह का कहना है कि हां मैने कुछ लोगो के कहने पर आठ दस पोल 24 मीटर पर गाडकर लाइन खींच है । वहीं कृष्णा होटल के सामने 21 मीटर पर पोल गाड़े है। जो प्लान नुसार गलत है। लोगों को शिकायत है तो मैं सभी पोलो को हटाकर प्लान के अनुसार गड़वा दूंगा। मेरे ऊपर पैसा लेन देन के लगाए जा रहे आरोप गलत है।