• Home
  • Rajasthan News
  • Lalsot News
  • Lalsot - मांगों के लिए ग्राम विकास अधिकारी आज से सामूहिक अवकाश पर
--Advertisement--

मांगों के लिए ग्राम विकास अधिकारी आज से सामूहिक अवकाश पर

विकास अधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा भास्कर न्यूज | सिकराय राजस्थान ग्राम विकास अधिकारी संघ...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 03:11 AM IST
विकास अधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा

भास्कर न्यूज | सिकराय

राजस्थान ग्राम विकास अधिकारी संघ उपशाखा सिकराय के समस्त कर्मचारियों ने वेतन विसंगति सहित अन्य मांगों को लेकर बुधवार से सामूहिक अवकाश पर जाने का निर्णय लिया है। उन्होंने बीडीओ को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।

संघ के उपशाखा अध्यक्ष पुरुषोत्तम पाराशर के नेतृत्व में बीडीओ विजयसिंह चौहान को मुख्यमंत्री एवं पंचायतराज मंत्री के नाम दिए ज्ञापन में बताया कि कर्मचारियों द्वारा पूर्व में हड़ताल के दौरान सरकार से विभिन्न मांगों को लेकर समझौता हुआ था, लेकिन सरकार ने अभी तक लागू नहीं किया। जिससे ग्राम विकास अधिकारियों में रोष व्याप्त हो रहा है।

उन्होंने बताया कि मांगों को लेकर प्रदेश भर के ग्राम विकास अधिकारी मंगलवार से सामूहिक अवकाश पर रहकर सरकार एवं पंचायतीराज विभाग की समस्त योजनाओं का बहिष्कार करेंगे। अध्यक्ष पाराशर ने बताया कि जल्द मांगों पर कार्रवाई नहीं होने पर आंदोलन की रणनीति बनाई जाएगी। इस दौरान संघ मंत्री रामजीलाल सैनी, रामावतार गुर्जर, पप्पू लाल सांवरिया, अशोक मीना, मेघराम मीना, नरेंद्र मीना, ओमप्रकाश मीना, अजय चौधरी, त्रिलोकचंद शर्मा, ललतेश शर्मा सहित अन्य मौजूद थे। इधर बीडीओ चौहान ने बताया कि मांगों को लेकर बुधवार से समस्त विकास अधिकारी, पंचायत प्रसार अधिकारी एवं ग्राम विकास अधिकारी सामूहिक अवकाश पर रहेंगे तथा जिला स्तरीय स्वच्छ भारत मिशन कार्यशाला का भी बहिष्कार करेंगे।

लालसोट में भी अनिश्चितकालीन असहयोग आंदोलन में भाग लेंगे

लालसोट | उपखंड मुख्यालय पर राजस्थान पंचायती राज सेवा परिषद के आह्वान पर ग्राम विकास अधिकारियों द्वारा विकास अधिकारी रामोतार मीणा को ज्ञापन सौंपकर सामूहिक अवकाश पर रहने में अनिश्चितकालीन असहयोग आंदोलन भाग लेने की जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि सभी ग्राम विकास अधिकारी 12 सितंबर को आप सामूहिक अवकाश पर रहकर असहयोग आंदोलन में भाग लेंगे। इस अवसर पर अध्यक्ष बृजमोहन मीणा बाबूलाल शर्मा लटूरचंद मीणा गोपाल सिंह सत्यनारायण शर्मा सहित अन्य लोग मौजूद थे।