• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Laxmangarh News
  • 1600 मीटर दौड़ में सफलता के लिए शुरुआती दो चक्कर में पूरी ताकत न लगाएं, पूरे पैर के बजाय पंजों पर भागें
--Advertisement--

1600 मीटर दौड़ में सफलता के लिए शुरुआती दो चक्कर में पूरी ताकत न लगाएं, पूरे पैर के बजाय पंजों पर भागें

सेना भर्ती शुक्रवार से शुरू होगी। पहले दिन लक्ष्मणगढ़ और रामगढ़-शेखावाटी के अभ्यर्थी दौड़ लगाएंगे। इसमें 4884...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 05:45 AM IST
सेना भर्ती शुक्रवार से शुरू होगी। पहले दिन लक्ष्मणगढ़ और रामगढ़-शेखावाटी के अभ्यर्थी दौड़ लगाएंगे। इसमें 4884 अभ्यर्थी भाग लेंगे। भर्ती 14 फरवरी तक चलेगी। इस बार नौ तहसीलों के 33 अभ्यर्थियों ने सेना भर्ती के लिए आवेदन किए हैं। जबकि दौड़ की प्रक्रिया 7 फरवरी को पूरी होगी। इसके बाद 8 से 12 नवंबर दस्तावेज और मेडिकल चैकअप होगा। इसके बाद लिखित परीक्षा होगी।

भर्ती निदेशक विक्रमसिंह पठानिया ने बताया कि सीकर में सेना को लेकर युवाओ में जोश अच्छा है। उन्होंने युवाओं से अपील की है कि वे दलालों से दूर रहे और खुद की काबलियत पर भरोसा करें। उन्होंने कहा कि सेना भर्ती रैली के प्रवेश पत्रों में तहसील के नाम त्रुटिपूर्ण दर्ज होने से जुड़े प्रकरणों में अभ्यर्थियों को उसी तिथि को भर्ती के लिए उपस्थित होने के लिए कहा गया है जो उनके प्रवेश पत्र में अंकित है। ऐसे त्रुटिपूर्ण प्रवेश पत्रों के प्रकरणों में अभ्यर्थियों द्वारा तहसील को नजर अंदाज कर दिया जाए तथा प्रवेश पत्रों पर अंकित तिथि को ही अभ्यर्थी भर्ती के लिए उपस्थित हो, भले ही उस दिन किसी अन्य तहसील की भर्ती हो।

रात 2 से लेकर 6.30 बजे तक मिलेगा प्रवेश, गड़बड़ी रोकने के लिए सीसीटीवी कैमरे | पहले दिन लक्ष्मणगढ़ और रामगढ़-शेखावाटी के अभ्यर्थियों की भर्ती होगी। रात 2 बजे से तोदी नगर की तरफ से युवाओं को स्टेडियम में प्रवेश दिया जाएगा। 6.30 बजे गेट बंद कर दिया जाएगा। इसके बाद आने वाले अभ्यर्थी स्टेडियम में प्रवेश नहीं कर सकेंगे। स्टेडियम में घुसते ही युवाओं की उपस्थिति का बायोमेट्रिक सत्यापन होगा। इसके बाद दौड़ के लिए अलग-अलग बैच बनाएंगे। बारी-बारी से ट्रैक पर पहुंचाया जाएगा। दौड़ में सफल होने वाले अभ्यर्थी के शारीरिक दक्षता परीक्षा होगी। सेना भर्ती में गड़बड़ी न रहे इसलिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इसका कंट्रोल रूम में भर्ती निदेशक का ऑफिस रखा गया है। स्टेडियम में घुसते ही अभ्यर्थी सीसीटीवी कैमरों की नजर में आ जाएंगे।

स्टेडियम में भर्ती की तैयारी करते कर्मचारी।

भास्कर नॉलेज : दौड़ में गलती नहीं करें, क्योंकि-एक हजार में सिर्फ 90 ही सफल होते हैं

दैनिक भास्कर ने सेना के एक्सपर्ट्स से बात की है ताकि युवा यह समझ सके कि दौड़ में क्या-क्या ध्यान रखने की जरूरत है। क्योंकि-अक्सर छोटी-छोटी गलतियों की वजह से युवा भर्ती में पीछे रह जाते हैं। भर्ती निदेशक कहते हैं शेखावाटी के युवाओं का फिजिकल अच्छा है। सेना में ऐसे ही लंबी चौड़ी कद-काठी के युवाओ की जरूरत होती है।

दौड़ | 1600 मीटर की दौड़ लगानी होगी। पिछली भर्तियों के आंकड़े बताते हैं कि एक हजार में सिर्फ 90 युवा ही पास हो पाते हैं। युवा हर दिन पांच से आठ किमी दौड़ की प्रैक्टिस तो करते हैं, लेकिन भीड़ में वे भटक जाते हैं। इसलिए जरूरी है कि वे जोश और जुनून के साथ दौड़े। ट्रेनरों के मुताबिक, अभ्यर्थी सुबह दौड़ने से पहले खाली पेट नहीं रहें। ट्रैक पर पहुंचने तक शरीर को गर्म रखें। पहले दो चक्कर आराम से पूरे करें। कभी भी पूरे पैर पर नहीं भागें। पंजों के बल भागने से अपने आप ऊर्जा मिलती है। अंतिम दो चक्करों में पूरा जोर लगा दें।

भर्ती की योग्यताएं

पद ऊंचाई वजन सीना उम्र

सैनिक सामान्य
170 50 77/ 82 17.6 से 21 वर्ष

सैनिक तकनीकी 170 50 77/ 82 17.6 से 23 वर्ष

सैनिक नसिर्सिंग 170 50 77/ 82 17.6 से 23 वर्ष

सैनिक लिपिक/स्टोर कीपर 162 50 77/ 82 17.6 से 23 वर्ष

सैनिक ट्रेडमैन 170 50 77/ 82 17.6 से 23 वर्ष

फिजिकल | दौड़ में सफल होने वाले अभ्यर्थी का लंबी कूद और बीम निकलवाई जाती है। लंबी कूद में कम की युवा असफल रहते हैं। इस टेस्ट से पहले घबराएं नहीं। ध्यान रखें कि बीम बिल्कुल सीधे हाथ से निकालें और ठुडी को पाइप से टच करें। कई बच्चे बीच में कोहनी मोड़कर प्रैक्टिस करते हैं जो बाहर हो जाते हैं। बीम के अलावा कोई भी फिजिकल ज्यादा मुश्किल नहीं है।

पुशअप | ज्यादातर युवा सीने के टेस्ट में फेल हो जाते हैं, इसलिए जिन युवाओं का जिनका सीना कम है, वे रोज दौड़ पूरी करने के बाद पुशअप जरूर निकालें। पुशअप ही सीना बढ़ाने का एकमात्र तरीका है। सीना फुलाने के लिए युवा लंबी सांस लेनी की प्रैक्टिस करें।

इंटेलीजेंस की टीम की दलालों पर नजर | सेना भर्ती में युवाओं को झांसे में लेकर ठगी करने वाले दलालों पर शिकंजा कसने के लिए इंटेलीजेंस टीम को तैनात कर दिया है। भर्ती निदेशक कर्नल विक्रमसिंह पठानिया ने बताया कि युवा दलालों के झांसे में नहीं आएं। कोई भी दलाल अनफीट को सेना में भर्ती नहीं करा सकता।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..