• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Laxmangarh News
  • देश में परिवर्तन लाने का नारा लेकर यहां से जाना होगा : इंद्रेश कुमार
--Advertisement--

देश में परिवर्तन लाने का नारा लेकर यहां से जाना होगा : इंद्रेश कुमार

सीकर. अखिल भारतीय पूर्व सैनिक सेवा परिषद की बैठक के समापन समारोह में सम्मानित लोग। भारतीय पूर्व सैनिक सेवा...

Dainik Bhaskar

May 28, 2018, 04:50 AM IST
देश में परिवर्तन लाने का नारा लेकर यहां से जाना होगा : इंद्रेश कुमार
सीकर. अखिल भारतीय पूर्व सैनिक सेवा परिषद की बैठक के समापन समारोह में सम्मानित लोग।

भारतीय पूर्व सैनिक सेवा परिषद के प्रतिनिधि सभा की तीन दिवसीय बैठक का समापन समारोह, एक लाख से अधिक सदस्य बनाने का लक्ष्य बनाया

भास्कर संवाददाता | सीकर

अखिल भारतीय पूर्व सैनिक सेवा परिषद के प्रतिनिधि सभा की तीन दिवसीय बैठक भारतीय शिक्षा संकुल परिसर में हुई। उद्घाटन समारोह के मुख्य वक्ता आरएसएस के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य इंद्रेश कुमार ने कहा कि जिस प्रकार सुभाष चंद बोस ने नौ देशों के द्वारा स्वतंत्र भारत का प्रथम प्रेसिडेंट नियुक्त होने के बाद सिंगापुर व वर्मा से दिल्ली चलो का नारा दिया था, उसी प्रकार अब हमें भी देश में परिवर्तन लाना है का नारा लेकर यहां से जाना होगा। नए लोगों को संगठन से जोड़ते हुए सबको साथ लेकर विजय गाथा लिखनी है। आरएसएस के सह क्षेत्रिय प्रचारक निम्बाराम ने कहा कि हम अपने ज्ञान बदौलत ही विश्व गुरु थे। हमारा ज्ञान व शक्ति अभी हमारे पास है। लेकिन देश के ही कुछ लोग पश्चिम की ओर देख रहे हैं। अध्यक्षता कर रहे संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल वीएम पाटिल ने कहा कि संगठन के 204 सैनिक जिलों में और अधिक सदस्यता अभियान चलाने की जरूरत है। अभी 80 हजार सदस्य हैं। उसे एक साल में एक लाख से अधिक लेकर जाना है। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि यूटीआई चेयरमैन हरिराम रणवां ने कहा कि देश में शांति स्थापित करने के लिए सैनिकों का बड़ा योगदान है। इंद्रेश कुमार ने कार्यक्रम में नामांकन अभियान रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

शेखावाटी के वीरों को किया सम्मानित

समापन समारोह के दौरान शेखावाटी के वीर जवानों, शहीदों को सम्मानित किया गया। इस दौरान लक्ष्मणगढ़ के महावीर चक्र विजेता सूबेदार चूना राम के पुत्र रामरतन सिंह को सम्मानित किया गया। इसी प्रकार ऑपरेशन कारगिल में वीरचक्र विजेता डाखला (सीकर) के नायक जयराम सिंह, भारत पाक युद्ध 1971 में वीरचक्र विजेता गांव छोटी (सीकर) के कर्नल गोविंद सिंह, कीर्ति चक्र विजेता सूबेदार नेपाराम, वीरचक्र विजेता झिलमिल गांव के रिसालदार जेठू सिंह की बेटी भंवर कंवर, आसपुरा के सौर्य चक्र विजेता सूबेदार मेजर जगवीर सिंह, सौर्य चक्र विजेता हिरना के कांस्टेबल विष्णु सिंह की प|ी विनोद कंवर, सौर्य चक्र विजेता किरडोली के कांस्टेबल बलवीर सिंह की प|ी सुशीला कंवर आदि को सम्मानित किया गया। इस मौके पर संगठन के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने वाले प्रतिनिधियों को भी सम्मानित किया गया। महासचिव ब्रिगेडियर सुरेश सरीन, राष्ट्रीय संगठन मंत्री विजय कुमार, एवीएम एचपी सिंह, आगरा से पूर्व मेजर जनरल पी दत्ता, जम्मू से पूर्व लेफ्टिनेंट कर्नल कृष्ण जुनेजा, केरल से पूर्व लेफ्टिनेंट कर्नल रामदास, पुणे से पूर्व ग्रुप कैप्टन सुभाष फाटक, ऊना से सार्जेंट यशपाल ठाकुर, कानपुर से पूर्व जेडब्ल्यूओ” प्रहलाद सिंह, बड़ौदा से पूर्व कर्नल विनोद फलनीकर, पूर्व कैप्टन रामेश्वर प्रसाद ब्यावर, महाकौशल से रमेश पांडे मौजूद थे।

अधिक सदस्यता वाले प्रांतों को सम्मानित कर दिया चेक

इस दौरान एक हजार से अधिक सदस्यता वाले प्रांतों के प्रतिनिधियों को सम्मानित कर चेक दिया गया। जिनमें से महाकौशल प्रांत के रीवा इकाई को छह महीने में 1400 से अधिक सदस्य बनाने व नागौर इकाई को एक साल में 3000 से अधिक सदस्य बनाने के लिए 10-10 हजार का चैक देकर सम्मानित किया गया। इस दौरान मातृ शक्ति संगठन की बैठक भी हुई जिसमें सदस्यता अधियान, महिलाओं की समस्या आदि को लेकर चर्चा की गई।

प्रतिनिधियों ने रखे मुद्दे

देशभर से आए प्रतिनिधियों ने पूर्व सैनिकों की परेशानियों को लेकर अपनी बात रखी। बड़ौदा के प्रेसिडेंट पूर्व लेफ्टिनेंट कर्नल मकवाना अमृतलाल ने कहा कि संगठन के बाहर के लोगों को जोड़ना बड़ी बात है। महाकौशल प्रांत के विपिन त्रिवेदी ने प्रांत स्तर पर हर साल समीक्षा बैठक आयोजित करने के लिए कहा। गुजरात के प्रेसीडेंट कर्नल फलनीकर ने कहा कि पूर्व सैनिक पेंशन, ईसीएचएस आदि को लेकर आवाज उठाते हैं, लेकिन संगठन से जुड़ने में रुचि नहीं लेते।

X
देश में परिवर्तन लाने का नारा लेकर यहां से जाना होगा : इंद्रेश कुमार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..