• Hindi News
  • Rajasthan
  • Laxmangarh
  • वक्ताओं ने कहा- मारवाड़ी का मंच व प्लेटफाॅर्म एक होना चाहिए
--Advertisement--

वक्ताओं ने कहा- मारवाड़ी का मंच व प्लेटफाॅर्म एक होना चाहिए

दक्षिण भारत में बसे प्रवासी मारवाड़ियों का दो दिवसीय विशाल सम्मेलन सोमवार को कर्नाटक की राजधानी बैंगलूरू में...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 05:10 AM IST
वक्ताओं ने कहा- मारवाड़ी का मंच व प्लेटफाॅर्म एक होना चाहिए
दक्षिण भारत में बसे प्रवासी मारवाड़ियों का दो दिवसीय विशाल सम्मेलन सोमवार को कर्नाटक की राजधानी बैंगलूरू में आयोजित हुआ।

दक्षिण भारत प्रवासी संघ के श्रीकांत पाराशर एवं शेखावाटी नागरिक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष व कार्यक्रम संयोजक श्रीकुमार लखोटिया ने बताया कि बैंगलुरू के प्रिंसेस श्राईन सभागार में राजस्थान के विभिन्न जिलों के हजारों प्रवासियों की उपस्थिति में आयोजित वक्ताओं ने कहा जब हम सभी मारवाड़ी एक हैं तो हमारा मंच एवं प्लेटफार्म भी एक ही होना चाहिए। इससे हमारी ताकत बढ़ेगी। वक्ताओं ने कहा मारवाड़ी समाज देश के औद्योगिक एवं व्यावसायिक विकास की मुख्य धूरी हैं। देश के आर्थिक विकास में मारवाड़ियों का योगदान जग जाहिर है। हमें अपनी कर्मभूमि में भी व्यापारिक, व्यावसायिक आधिपत्य के साथ साथ राजनीतिक ताकत को बढ़ाना होगा। इसी के उद्देश्य से दक्षिण भारत में बसे प्रवासी मारवाडिय़ों को एक मंच पर लाने एवं जागरूकता के लिए अपना वोट, अपनी ताकत अभियान शुरू किया गया हैं। इसके अंतर्गत मारवाड़ी समाज अपनी राजनीतिक ताकत बढ़ाएगा। कार्यक्रम को श्रीकुमार लखोटिया के अलावा श्रीकांत पाराशर, कमलेश डीडवानिया, कमल तातेड़, रेवंतमल झंवर, कर्नाटक विधान परिषद के सदस्य लहर सिंह सिरोया, राजेश मंगल, कृष्णदेव राय, बहादुर सेठिया, गौरीशंकर सारड़ा, सज्जनराज मेहता, बिंदू रायसोनी, जवरीलाल लुणावत, अरविंद कोठारी, आचार्य बालकिशन शास्त्री, रामगोपाल शर्मा, ताराचंद गोयल आदि ने भारत माता के चित्र के आगे दीप जलाकर समारोह का शुभारंभ किया। कार्यक्रम की शुरूआत प्रसिद्ध गायक हितेश मेहता के देशभक्ति गीतों से हुआ। समारोह में अग्रवाल समाज, माहेश्वरी समाज, जैन समाज, अंतरराष्ट्रीय वैश्य फाउंडेशन, विप्र फाउंडेशन, सीरवी समाज, स्वास्तिक सेवा संघ, जैन श्रावक संघ, अंजणा पटेल समाज, राजपूत, कुमावत, राजस्थानवासी संघ, तेरापंथ, श्याम सहारा परिवार, जैन युवा संगठन, विश्रोई समाज, माली समाज सहित तीन दर्जन से अधिक प्रवासी मारवाड़ी संगठनों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। कमलेश डीडवानिया ने आभार व्यक्त किया।

बैंगलूर में दो दिवसीय प्रवासी मारवाड़ियों के सम्मेलन में जुटे हजारों लोग

लक्ष्मणगढ. प्रवासी सम्मेलन में मौजूद मारवाड़ी समाज के प्रवासी बंधु।

X
वक्ताओं ने कहा- मारवाड़ी का मंच व प्लेटफाॅर्म एक होना चाहिए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..