लक्ष्मणगढ़

--Advertisement--

आने वाली पीढ़ियों के लिए पानी का संरक्षण करें : विधायक डोटासरा

लक्ष्मणगढ़ | प्रदेश में चल रहे मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन सप्ताह के अंतर्गत शुक्रवार को नगरपालिका क्षेत्र में चार...

Dainik Bhaskar

Jun 09, 2018, 05:10 AM IST
आने वाली पीढ़ियों के लिए पानी का संरक्षण करें : विधायक डोटासरा
लक्ष्मणगढ़ | प्रदेश में चल रहे मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन सप्ताह के अंतर्गत शुक्रवार को नगरपालिका क्षेत्र में चार कार्यों का शिलान्यास हुआ।

नगरपालिका की ओर से पानी की टंकी के पास पालिकाध्यक्ष चांदनी शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में विधायक गोविंद सिंह डोटासरा, पालिका उपाध्यक्ष शाकीर सोलंकी, नेता प्रतिपक्ष सम्पत चेजारा, पूर्व प्रधान डालूराम चाहर, पार्षद डॉ. निरूपमा उपाध्याय, कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश कस्वां, शहर अध्यक्ष प्रहलाद सोनी, पीसीसी सदस्य बनवारी पांडेय आदि ने पट्टिका अनावरण कर अभियान के अंतर्गत स्वीकृत चार कार्यों का एक ही स्थान पर प्रतीकात्मक शिलान्यास किया। विधायक डोटासरा ने कहा कि प्राकृतिक जल संरक्षण के लिए यह अच्छा अभियान है। हर व्यक्ति की जिम्मेदारी है कि वह आने वाली पीढ़ियों के लिए जल का संरक्षण करें। पट्टिका में नाम होने के बावजूद प्रभारी मंत्री एवं सांसद के अनुपस्थित रहने पर डोटासरा ने कहा कि ऐसे पवित्र कार्यों एवं जनहित के विकास कार्योँ में दलगत राजनीति से ऊपर उठना चाहिए। इससे पूर्व पालिका ईओ अनिल कुमार झिंगोनिया ने अभियान के अंतर्गत होने वाले कार्यों की जानकारी देते हुए अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम में पालिका के पार्षद, जनप्रतिनिधि एवं प्रबुद्धजन उपस्थित रहे।

चार करोड़ की 12 सड़कें, 60 लाख के दो शौचालयों का निर्माण होगा

अभियान के अंतर्गत दूसरे फेज में पालिका क्षैत्र में चार कार्य होंगे। पालिका के जेईएन वाजिद अहमद ने बताया कि अभियान के अंतर्गत चार करोड़ की लागत से 12 सड़कें बनेंगी, जिनके वर्क ऑर्डर जारी किए जा चुके हैं। इसके अलावा 25 लाख रुपए से श्मशान व कब्रिस्तान में ट्यूबवैल, सड़क, सुविधा घर तथा बैंच आदि बनवाई जाएगी। 60 लाख की लागत से दो सार्वजनिक सुलभ शौचालय बनेेंगे।

सांसद व प्रभारी मंत्री रहे अनुपस्थित

शिलान्यास के लिए बनवाई गई पट्टिकाओं पर सांसद सुमेधानंद सरस्वती व जिले के प्रभारी मंत्री राजकुमार रिणवा के भी नाम थे, लेकिन दोनों ही कार्यक्रम में अनुपस्थित रहे। इन दोनों के अलावा भी सत्ताधारी दल भाजपा के पार्षदों को छोड़कर कोई पदाधिकारी कार्यक्रम में शामिल नहीं हुआ, जबकि कांग्रेस के अधिकांश पार्षद एवं पार्टी पदाधिकारी उपस्थित रहे। इसकी कार्यक्रम स्थल पर काफी चर्चा रही। विधायक डोटासरा ने कहा कि यह सरकारी कार्यक्रम है। इसमें सांसद, विधायक एवं प्रभारी मंत्री को आना था। वे क्यों नहीं आए, पता नहीं लेकिन सरकारी कार्यक्रमों में ऐसा नहीं होना चाहिए।

X
आने वाली पीढ़ियों के लिए पानी का संरक्षण करें : विधायक डोटासरा
Click to listen..