लक्ष्मणगढ़

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Laxmangarh News
  • नाबालिग बेटी के अपहरण का मामला वापस लेने के लिए धमकाया, डेढ़ साल की बेटी को फेंका
--Advertisement--

नाबालिग बेटी के अपहरण का मामला वापस लेने के लिए धमकाया, डेढ़ साल की बेटी को फेंका

तीन महीने पहले कस्बे के हाईवे से एक बालिका के अपहरण का मामला वापस लेने के लिए कुछ बदमाशों द्वारा नाबालिग के...

Dainik Bhaskar

May 10, 2018, 05:25 AM IST
नाबालिग बेटी के अपहरण का मामला वापस लेने के लिए धमकाया, डेढ़ साल की बेटी को फेंका
तीन महीने पहले कस्बे के हाईवे से एक बालिका के अपहरण का मामला वापस लेने के लिए कुछ बदमाशों द्वारा नाबालिग के माता-पिता को धमकाने व डेढ़ साल की मासूम को गंभीर रूप से घायल करने का मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार नेशनल हाईवे पर डेरा बनाकर रहने वाले दंपती की नाबालिग बेटी का तीन महीने पहले अपहरण हो गया था। अपहरण के आरोपी के कुछ रिश्तेदारों ने बदमाशों के साथ मिलकर पीड़ित परिवार को मुकदमा वापस लेने के लिए धमकाया। आरोपी के मामा ने लापता नाबालिग के माता-पिता को जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद जब परिजन नहीं माने तो बदमाशों ने नाबालिग की मां की गोद से डेढ़ वर्षीय मासूम को छीनकर कांच के ढेर पर फेंक दिया। इससे मासूम घायल हो गई। लहूलुहान बच्ची को लेकर उसकी मां ने भागकर उसकी जान बचाई। सूत्रों ने बताया कि बदमाशों ने नाबालिग के पिता को पीट कर चले गए। घटना के बाद से पीड़ित परिवार डरा सहमा हुआ है। मामले की जानकारी मिलने पर बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की ब्रांड एम्बेसडर एडवोकेट रचना ढाका ने एसएचओ से लेकर डीजीपी, बाल अधिकार संरक्षण आयोग को जानकारी दी, लेकिन पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

ये है मामला : नेशनल हाईवे के पास डेरा बना कर रहने वाले एक व्यक्ति की नाबालिग बेटी का तीन फरवरी 2018 को अपहरण कर लिया गया था। पिता ने सीकर कच्ची बस्ती निवासी कमल बावरी के खिलाफ नाबालिग बेटी को अगवा कर ले जाने का मुकदमा दर्ज करवाया था। तीन महीने गुजरने के बाद भी पुलिस आज तक नाबालिग को बरामद नहीं कर सकी। वहीं आरोपी के रिश्तेदार पीड़ित परिवार को लगातार धमकियां दे रहे हैं।

X
नाबालिग बेटी के अपहरण का मामला वापस लेने के लिए धमकाया, डेढ़ साल की बेटी को फेंका
Click to listen..