--Advertisement--

स्वीकृत सड़कों पर विधायक की आपत्ति से भड़के भाजपाई

राज्य सरकार द्वारा 19 जुलाई को स्वीकृत क्षेत्र की मिसिंग लिंक व अन्य सड़कों को लेकर सिसायत गर्मा गई है। विधायक...

Dainik Bhaskar

Jul 27, 2018, 05:25 AM IST
राज्य सरकार द्वारा 19 जुलाई को स्वीकृत क्षेत्र की मिसिंग लिंक व अन्य सड़कों को लेकर सिसायत गर्मा गई है। विधायक गोविंद सिंह डोटासरा द्वारा सार्वजनिक निर्माण विभाग के उपशासन सचिव को चार सड़कों की स्वीकृति को लेकर लिखे गए आपत्ति पत्र के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद राजनीति उफान पर है। भाजपा आईटी सेल के संयोजक अरुण चौधरी एवं युवा नेता आलोक पाराशर ने बताया कि 19 जुलाई को राज्य सरकार ने एक दर्जन गौरव पथ एवं मिसिंग लिंक सड़कों के लिए स्वीकृति जारी की थी। उसे लेकर विधायक एवं उनके समर्थकों ने इनका श्रेय लेने की कोई कसर नहीं छोड़ी। विधायक समर्थकों ने इस स्वीकृति को विधायक डोटासरा की मेहनत का परिणाम बताते हुए खूब प्रचार किया था, लेकिन महज एक सप्ताह के अंदर ही विधायक ने आपत्ति दर्ज कराते हुए अधिकारियों को स्वीकृति निरस्त करने की अभिशंषा की है।

इन सड़कों की स्वीकृति पर मचा बवाल | सरकार द्वारा गत सप्ताह क्षेत्र की मिसिंग लिंक सड़कों की स्वीकृति जारी की थी। इनमें बलारां जोहड़े से सांखू हनुमानगढ़, पाटोदा से ढाणी तक, रेलवे फाटक से सिंगोदड़ा तक तथा बिड़ोदी से पूनियों का बास तक की सड़कों को लेकर विधायक ने आपत्ति दर्ज करवाई है। सार्वजनिक निर्माण विभाग के उपशासन सचिव को लिखे गए पत्र में डोटासरा ने रास्ता कटान में नहीं होने, पहले से ही पीडब्ल्यूडी द्वारा निर्मित होने तथा दो सड़कों के लिए व्यक्तिगत लाभ के लिए बनवाने का दावा करते हुए आपत्ति दर्ज करवाई है। इन सभी सड़कों की स्वीकृति पर समर्थकों एवं ग्रामीणों ने डोटासरा का आभार व्यक्त करते हुए इनका स्वागत भी किया था, लेकिन अब इन्हीं सड़कों पर विधायक द्वारा आपत्ति पत्र लिखे जाने को लेकर क्षेत्र के सियासी हलकों में हलचल मची हुई है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..