• Home
  • Rajasthan News
  • Laxmangarh News
  • विधायक कोटे से बने कक्ष का लोकार्पण जनप्रतिनिधियों का किया अभिनंदन
--Advertisement--

विधायक कोटे से बने कक्ष का लोकार्पण जनप्रतिनिधियों का किया अभिनंदन

लक्ष्मणगढ़. जसरासर में कक्षा कक्ष का लोकार्पण करते विधायक व अन्य जनप्रतिनिधि। भास्कर न्यूज | लक्ष्मणगढ़ ...

Danik Bhaskar | Aug 01, 2018, 05:40 AM IST
लक्ष्मणगढ़. जसरासर में कक्षा कक्ष का लोकार्पण करते विधायक व अन्य जनप्रतिनिधि।

भास्कर न्यूज | लक्ष्मणगढ़

जसरासर ग्राम पंचायत मुख्यालय के शहीद गोरधन ढाका सैकंडरी स्कूल में विधायक कोष से निर्मित कक्ष एवं बरामदे का लोकार्पण मंगलवार को हुआ। ग्राम पंचायत के सरपंच भागीरथ भास्कर की अध्यक्षता में हुए कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि विधायक डोटासरा ने कहा कि हमारा काम विकास कार्यों में बाधा पहुंचाना नहीं, बल्कि विकास कार्य कराना है। कुछ लोग सड़कों की स्वीकृति को लेकर जनता को गुमराह कर रहे हैं, जबकि वास्तव में मेरे द्वारा अनुशंषा की गई विभिन्न गांवों की उपयोगी सड़कों के टेंडर रोकने का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन उन्हें सफल नहीं होने दूंगा। आपके अधिकार एवं हक के लिए संघर्ष जारी रखूंगा। चाहे मुझे किसी के पास ही जाना पड़े। इससे पूर्व आयोजित लोकार्पण समारोह में पूर्व विधायक दिलसुख चौधरी, उपप्रधान मुकेश वर्मा, पालिकाध्यक्ष प्रतिनिधि पवन बूंटोलिया, पालिका उपाध्यक्ष शाकिर सोलंकी, सरपंच संघ के अध्यक्ष बनवारी ढाका, सरपंच कुलदीप बाटड़, सुरेश बगड़ी, महावीर मातवा, कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश कस्वां, महामंत्री गोपीराम जांगिड़, सरपंच रतनसिंह शेखावत, पूर्व पंचायत समिति सदस्य नरेन्द्र बाटड़, पीसीसी सदस्य बनवारी पांडे, पन्नालाल बिजारणिया, सरपंच रामस्वरूप चलका, राकेश सिहाग, विक्रम महला, शिवलाल भास्कर आदि ने नवनिर्मित कक्ष एवं बरामदे का लोकार्पण किया। इस अवसर पर सरपंच भागीरथ भास्कर, शिवलाल भास्कर, मुकेश वर्मा, राजेन्द्र गढवाल, प्यारेलाल बाटड़, जीतू भोजासर, रामकुमार मेघवाल, श्रवण शेखावत, जितेन्द्र शर्मा आदि ने ग्रामीणों की ओर से जनप्रतिनिधियों का स्वागत किया। विधायक डोटासरा ने ग्रामीणों की मांग पर करीब 20 लाख रुपए के विकास कार्यों की घोषणा की। इनमें 10 लाख रुपए की इंटरलॉक सड़क, जसरासर के चौक में टीनशैड के लिए डेढ़ लाख, ग्रेवल सड़क के लिए 2.5 लाख, स्कूल की छत मरम्मत के लिए 3 लाख तथा मेघवाल मोहल्ले में ट्यूबवैल मय टंकी बनवाने की घोषणा की। गांव एवं विद्यालय में सहयोग करने वाले भामाशाहों को भी सम्मानित किया गया। संचालन गोपाल सिंह ढाका ने किया।