Hindi News »Rajasthan News »Makrana News» अंगोर जमीन पर डाले जा रहे हैं पशुओं के शव, एसडीएम को ज्ञापन दे लोग बोले- कोर्ट के आदेशों की हो रही अवहेलना

अंगोर जमीन पर डाले जा रहे हैं पशुओं के शव, एसडीएम को ज्ञापन दे लोग बोले- कोर्ट के आदेशों की हो रही अवहेलना

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:00 PM IST

नगर परिषद से अधिकृत ठेकेदार की मनमानी के चलते आबादी क्षेत्र के पास अंगोर की जमीन पर मृत पशुओं के अवशेष डाले जा रहे...
नगर परिषद से अधिकृत ठेकेदार की मनमानी के चलते आबादी क्षेत्र के पास अंगोर की जमीन पर मृत पशुओं के अवशेष डाले जा रहे हैं। एसडीएम को ज्ञापन देकर पांच कॉलोनियों के लोगों ने बताया कि सड़ांध से लोगों को बड़ी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। वसुंधरा नगर, झाझड़ों की ढाणी, लीववा की ढाणी, गुर्जरों की ढाणी, दूरसंचार कॉलोनी के लोगों को काफी परेशान हो रही है।

जिस स्थान पर ठेकेदार मृत पशुओं को डाल रहा है वह अंगोर भूमि है। इसलिए परबतसर एसडीएम राजेन्द्र सिंह चांदावत ने नगर परिषद को इस जगह पर मृत पशु नहीं डालने के लिए पाबंद भी किया हुआ है। लेकिन इसके बावजूद ठेकेदार अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहा है। जिसके चलते पीड़ित कॉलोनीवासियों ने परबतसर उप प्रधान शेरसिंह एवं मंगलाना सरपंच कुलदीप सिंह के नेतृत्व में मकराना उपखंड अधिकारी मुकेश कुमार चौधरी को उक्त स्थान पर मृत पशु नहीं डाले जाने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा।

परबतसर कोर्ट ने कचरा फेंकने पर लगाई थी रोक

मकराना. पशुओं के शव की दुर्गंध से परेशान लोग एसडीएम को ज्ञापन देते हुए।

ज्ञापन में बताया कि मंगलाना ग्राम पंचायत क्षेत्र की खसरा नंबर 9/1, 9/2, 9/3 रकबा 55 बीघा 7 बिस्वा गैर मुमकिन नदी की जमीन राज्य सरकार ने वर्ष 1993 में नगर परिषद मकराना को औद्योगिक इकाइयों का मलबा डालने के लिए आवंटित की थी। उच्च न्यायालय के निर्णय अनुसार यह भूमि (अंगोर) प्रतिबंधित श्रेणी में आने से राज्य सरकार ने 28 अप्रैल 2006 को अंगोर भूमि का आरक्षण निरस्त हो गया। अंगोर भूमि होने के बावजूद संबन्धित स्थान पर नगर परिषद कचरा, गंदगी व मृत पशु डाल रही है। उप प्रधान शेर सिंह ने बताया कि इस बारे में पर्यावरण प्रदूषण निवारण समिति मंगलाना ने परबतसर न्यायालय में वाद दायर किया था। जिस पर एसडीएम परबतसर ने नगर परिषद मकराना को गैर मुमकिन नदी क्षेत्र में मृत पशु व गंदगी नहीं डालने के लिए पाबंद कर रखा है। लेकिन इसके बावजूद नगर परिषद मृत पशुओं को उक्त स्थान पर डालकर न्यायालय के आदेशों की अवहेलना कर रही है। ज्ञापन देने वालों में नंगाराम, कानाराम, मूलाराम, सुशील, पोकर, मनोज वर्मा, गिरधारी लाल, श्रवण कुमार, नंदाराम, ओमप्रकाश, बालूराम सहित अनेक लोग मौजूद थे।

इनका कहना है

मंगलाना की यह खसरे की जमीन अब मकराना तहसील के रेवेन्यू रिकॉर्ड में हस्तांतरित हो गई है। इस बारे में अब मकराना उपखण्ड अधिकारी ही बता पाएंगे। -राजेंद्र सिंह चांदावत, एसडीएम परबतसर

परिषद तलाश रही विकल्प

मकराना में पहले मृत पशु पलाड़ा रोड पर डाले जा रहे थे। अब ठेकेदार ने डम्पिंग यार्ड में डालना शुरू किया है। यहां पर भी आबादी बस चुकी है। ऐसे में विकल्प तलाश करने के लिए नगर परिषद को निर्देश दिए हैं। - मुकेश चौधरी, एसडीएम मकराना

तहसीलदार बोले- मामले की जांच करवा रहे हैं

हां, शिकायत मिली है। इसके आधार पर पटवारी को भेजकर जांच करवा रहे हैं। नियम विरुद्ध पाए जाने पर कार्यपालक मजिस्ट्रेट के आदेशों की पालना करवाएंगे। - दयाल सिंह, तहसीलदार मकराना

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Makrana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: अंगोर जमीन पर डाले जा रहे हैं पशुओं के शव, एसडीएम को ज्ञापन दे लोग बोले- कोर्ट के आदेशों की हो रही अवहेलना
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Makrana

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×