• Home
  • Rajasthan News
  • Makrana News
  • चुनावी मौसम में चूहे बिल में से निकल रहे हैं : माहेश्वरी चूहा समझा तो नाक-कान काट देंगे : करणी सेना
--Advertisement--

चुनावी मौसम में चूहे बिल में से निकल रहे हैं : माहेश्वरी चूहा समझा तो नाक-कान काट देंगे : करणी सेना

उच्च शिक्षामंत्री किरण माहेश्वरी के एक बयान को लेकर करणी सेना और राजूपत नेताओं में आक्रोश फैल गया है। माहेश्वरी...

Danik Bhaskar | Jun 13, 2018, 05:05 AM IST
उच्च शिक्षामंत्री किरण माहेश्वरी के एक बयान को लेकर करणी सेना और राजूपत नेताओं में आक्रोश फैल गया है। माहेश्वरी ने मीडिया की ओर से पूछे गए एक सवाल पर मंगलवार सुबह कहा था कि अभी चुनावी मौसम है, कई मौसमी चूहे बिलों में से निकल कर आ रहे हैं। असल में यह बयान उन्होंने सरकार के खिलाफ... कमल का फूल हमारी भूल...अभियान को लेकर पूछे गए सवाल पर दिया था। यह अभियान आनंदपाल एनकाउंटर के बाद राजपूत संगठनों की ओर से चलाया जा रहा है और इसकी अगुवाई करणी सेना कर रही है। जैसे ही किरण माहेश्वरी का बयान सोशल मीडिया पर आया, करणी सेना के अध्यक्ष महिपालसिंह मकराना ने उनके खिलाफ उसी तर्ज पर बयान दे दिया जैसे उन्होंने फिल्म पदमावत के विरोध के समय दीपिका पादुकोण के लिए दिया था। उन्होेंने कहा कि ऐसा बयान देेने वाली मंत्री का करणी सेना नाक-कान काटेगी। मकराना के बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस बीच मंत्री माहेश्वरी का कहना है कि मीडिया ने करणी सेना और राजपूत समाज का नाम नहीं लिया था। मैंने मौसमी चूहों वाला बयान कांग्रेस के लिए दिया था। मुझे यह भी पता नहीं है कि कोई समाज या संगठन ऐसा कोई अभियान चला रहा है। मैंने मीडिया के सवालों को कांग्रेस से संबंधित समझकर अपना बयान दिया था।

जब तक माफी नहीं मांगेगी विरोध करेंगे : मकराना


मेरी छवि खराब करने का प्रयास : माहेश्वरी