Hindi News »Rajasthan »Makrana» मकराना में अधिवक्ताओं का अनशन 68वें दिन भी रहा जारी

मकराना में अधिवक्ताओं का अनशन 68वें दिन भी रहा जारी

मकराना में स्थायी एडीजे कोर्ट की मांग को पूरा करने में सरकार की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल रही है। वहीं एडीजे...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 29, 2018, 05:15 AM IST

मकराना में स्थायी एडीजे कोर्ट की मांग को पूरा करने में सरकार की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल रही है। वहीं एडीजे कोर्ट खुलवाने पर आमादा अधिवक्ताओं ने आंदोलन के तहत 68वें दिन भी क्रमिक अनशन जारी रखा। सोमवार को अभिभाषक संघ के पूर्व अध्यक्ष व संरक्षक एडवोकेट गणपत लाल टांक, श्रीनिवास वैष्णव, भंवराराम डूडी, देवीसिंह बीका एवं मो. उमर गैसावत अनशन पर बैठे रहे।

इस दौरान पूर्व अध्यक्ष एडवोकेट दिलीप सिंह राठौड़ ने कहा कि अधिवक्ताओं के अनशन को 2 माह 8 दिन बीत चुके हैं। बार संघ के सदस्य किसी प्रकार का न्यायिक कामकाज नहीं कर रहे हैं। ऐसे में आम जनता को न्यायालय संबंधी कामकाज के लिए भी परेशानी हो रही है। संघ संरक्षक एडवोकेट दिलीप सिंह राठौड़ ने कहा कि अनशन की तिथि अब 2 जून तक बढ़ा दी गई है। फिलहाल वकीलों की हड़ताल के कारण सभी न्यायालयों में कामकाज ठप पड़ा है। उन्होंने बताया कि शहर के हित की जायज मांग में मकराना शहर का पूरा सहयोग व समर्थन उन्हें मिल रहा है। उन्होंने कहा कि मकराना में स्थायी एडीजे कोर्ट की मांग को लेकर क्षेत्रवासी भी साथ है।

इस मौके पर बार संघ अध्यक्ष एडवोकेट राजेश पारख, सचिव विजय सिंह राजपुरोहित, कोषाध्यक्ष तलत हुसैन हनीफी, सगीर अहमद बेहलीम, मो. इस्हाक रांदड़, अशोक सिंगोदिया, अब्दुल मजीद गैसावत, मुजफ्फर हुसैन, बजरंग लाल व्यास, राममनोहर डूडी, दिनेश सोनी, खलील अहमद, मो. शरीफ, अमराराम चौधरी, रामनिवास चौधरी, धर्माराम चौधरी, राजूराम चौधरी, सुरेश, जितेंद्र सिंह चौहान सहित अन्य अधिवक्ता मौजूद थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Makrana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: मकराना में अधिवक्ताओं का अनशन 68वें दिन भी रहा जारी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Makrana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×