मालपुरा

  • Home
  • Rajasthan News
  • Malpura News
  • वाहनों का टोल शुल्क बढ़ाने के विरोध में टैक्सी चालकों का हंगामा, रोड जाम
--Advertisement--

वाहनों का टोल शुल्क बढ़ाने के विरोध में टैक्सी चालकों का हंगामा, रोड जाम

मालपुरा। एक अप्रैल से स्टेट हाइवे पर निजि वाहनों को टोल मुक्त करने की सरकारी घोषणा के तहत मालपुरा टोल प्लाजा पर...

Danik Bhaskar

Apr 02, 2018, 05:30 AM IST
मालपुरा। एक अप्रैल से स्टेट हाइवे पर निजि वाहनों को टोल मुक्त करने की सरकारी घोषणा के तहत मालपुरा टोल प्लाजा पर सरकारी आदेशों की क्रियांविति के साथ ही हंगामा खड़ा हो गया। जाम व हंगामे के कारण टोल प्लाजा प्रभारी को पुलिस बुलानी पड़ी। थानाधिकारी की समझाइस के बावजूद विरोध-प्रदर्शन कर रहे टैक्सी चालक टैक्सी परमिट वाहनों का टोल शुल्क बढ़ाने का विरोध करते रहे।

टोल प्लाजा पर शांती व कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए एसआई सियाराम बिशनोई के नेतृत्व में पुलिस दल दिनभर तैनात रहा। मामले के अनुसार एक अप्रैल निजी वाहनों को टोल मुक्त कर दिया गया लेकिन टैक्सी परिमिट वाहन चालक जब अपने मासिक पास नवीनीकरण कराने टोल कार्यालय पहंुचे तो उन्हें 2 हजार पैंतीस रुपए जमा कराने को कहा गया। टैक्सी चालकों का कहना था की पूर्व में हुए समझोते अनुसार शुल्क जमा कर पास किए जाए।

मालपुरा. विरोध-प्रदर्शन जाम व हंगामे के बाद टोल पर तैनात पुलिस।

मालपुरा. वाहन चालकों व मालिकों ने विरोध प्रदर्शन कर जाम लगाया।

समझाबुझा कर मामला शांत किया

इस पर प्रभारी दिनेश चंद शर्मा व सुरेंद्र जैन सहित अमित यादव ने सरकार के निर्देशानुसार नवीन व्यवस्था के तहत शुल्क जमा कराने की सलाह दी। टैक्सी चालकों ने पूर्व में मासिक पास शुल्क 1960 रुपए होने की जानकारी दी तो टोल प्रभारी ने नई टोल दर जमा कराने के अलावा कोई उपाय नहीं होने के संकेत दिए। इस पर टैक्सी चालक टोल प्लाजा पर एकत्र होकर विरोध प्रदर्शन करने लगे रास्ता जाम हो गया। टोल प्रभारी ने मालपुरा थाना पुलिस को इत्तला दी। मौके पर पहंुचे थानाधिकारी हरीराम कुमावन ने समझाबुझा कर मामला शांत किया लेकिन टैक्सी चालक पूर्व अनुसार मासिक पास शुल्क जमा कराने पर अडे रहे जिससे थानाधिकारी ने पुलिस दल दिनभर टोल प्लाजा पर तैनार रखा। टोल प्रभारी दिनेश कुमार शर्मा का कहना है कि सरकार के नए आदेशानुसार टैक्सी परमिट वाहनो के मासिक पास के शुल्क में वृद्धी की गई है। जबकी टैक्सी चालक पुर्व निर्धारित शुल्क से मासिक पास लेना चाहते है जो संभव नहीं है। उधर टैक्सी चालक गोरीशंकर शर्मा, इस्लाम व जमील, मीठालाल का कहना है कि टैक्सी परमिट वाहन का टोल शुल्क बढाने से भारी आर्थिक नुकसान होगा। निजी वाहनों को टोल मुक्त कर टैक्सी परमिट वाहनों का टोल बढ़ाना टैक्सी चालको के साथ अन्याय है।

Click to listen..