Hindi News »Rajasthan »Mandal» अफगानिस्तान ने सौंपे सबूत, काबुल के हमलावरों को पाक में मिल रहा प्रशिक्षण

अफगानिस्तान ने सौंपे सबूत, काबुल के हमलावरों को पाक में मिल रहा प्रशिक्षण

काबुल | अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में पिछले 10 दिनों में हुए तीन बड़े हमलों को अंजाम देने वाले आतंकवादियों को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 05:50 AM IST

काबुल | अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में पिछले 10 दिनों में हुए तीन बड़े हमलों को अंजाम देने वाले आतंकवादियों को पाकिस्तान में प्रशिक्षण मिलने की बात सामने आ रही है। इस संबंध में अफगानिस्तान के एक प्रतिनिधिमंडल ने इस्लामाबाद में बुधवार को पाकिस्तान के अधिकारियों को दस्तावेज सौंपे हैं।

अफगानिस्तान के गृहमंत्री वैस अहमद बरमाक ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी। पाकिस्तान में तालिबान नेताओं को खुली छूट मिलने की बात कहते हुए बरमाक ने कहा कि हमने इस्लामाबाद को एक दिन पहले सबूत सौंपे हैं। इसके लिए अफगान खुफिया विभाग के प्रमुख मासूम स्तानेकजई, गृह मंत्री के साथ एक प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार को पाकिस्तान के सैन्य और खुफिया अधिकारियों से इस्लामाबाद में मुलाकात की और सबूत सौंपे। प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद स्तानेकजई ने कहा कि अफगानिस्तान ने सबूत दिए हैं और आगे हमले रोकने के लिए पाकिस्तान से कार्रवाई करने को कहा है। इस संबंध में पाकिस्तान का एक प्रतिनिधिमंडल शनिवार को काबुल आएगा। काबुल में हुए हालिया हमलाें में करीब 200 लोग मारे गए हैं। वहीं पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मुहम्मद फैसल ने बताया कि अफगान प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रपति अशरफ गनी का संदेश लेकर इस्लामाबाद पहुंचा और आपसी सहयोग को लेकर चर्चा की।







पाकिस्तान ने अफगान शरणार्थियों की स्वदेश वापसी की अवधि बढ़ाई

पाकिस्तान ने हिंसाग्रस्त अफगानिस्तान के शरणार्थियों को राहत देते हुए उनकी स्वदेश वापसी की समय सीमा दो माह और बढ़ा दी है। पाकिस्तान की संघीय कैबिनेट ने बुधवार को इसकी अवधि खत्म होने से पहले इसे मंजूरी दी। अफगानिस्तान के करीब 30 लाख शरणार्थी दशकों से पाकिस्तान में रह रहे हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mandal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×